ज़िन्दगी के पल

17 अगस्त 2020   |  Arun choudhary(sir)   (449 बार पढ़ा जा चुका है)

ज़िन्दगी का सफर ,बहुत रोमांच भरा है;

इसमें सुख और दुख दोनों का सामना है;

मजा इसी में है यारों कि दुख के बाद सुख का आमना है।

ज़िन्दगी के हर लम्हे को हसीन पलों में कैद कर लो;

दुख के समय इन्हे याद कर , पारी उसकी समेट लो।

ज़िन्दगी जिंदादिली से जियो यारों,

अपने साथ बीते हसीन पलों को क्यों खो दो।

अगला लेख: तन्हाई ये तन्हाई



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 अगस्त 2020
धूल से पटी पड़ी एक किताब को झटक,उसके पुराने पन्नों को धीरे से पलटते रहा;अतीत को वर्तमान के झरोखे से झांकते रहा।मै पिछले कई वर्षों का हिसाब देखता रहा,अंधेरे में गुजारे कई दिनों को याद करता हुआ;सोचता रहा क्या ये उजियारा दिन हमेशा का हुआ।वक़्त ने मुझे अपने आप को तलाशने का मौका ना दिया,गुलाम भारत को स्व
31 अगस्त 2020
08 अगस्त 2020
ख़
ये खामोशियां,ये खामोशियां,बहुत कुछ कह गई ;ये खामोशियां।गुस्से के बाद की खामोशियां ,क्या क्या कहती है;कोई जान ना पाता,क्या कह रही है ये खामोशियां।दो अनजान मिलें तो कुछ कहती है खामोशियां;बहुत कुछ आंखें बयां
08 अगस्त 2020
26 अगस्त 2020
भगवान में रखते है सभी विश्वास,अपनी अपनी आस्था; कुछ साकार तो कुछ निराकार ,लेकिन रखते है अपनी अपनी आस्था।कुछ आस्थाओं पर चोट करते है, दुःख की घड़ी में वही ईश्वर से आस करते है;कुछ सुख आने पर आस्थाओं पर,दुष्टों के साथ मिल कर अट्टहास करते है;आने वाले कष्ट उन सभी दुष्टों को,ईश्वर
26 अगस्त 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x