ज़िन्दगी के पल

17 अगस्त 2020   |  Arun choudhary(sir)   (449 बार पढ़ा जा चुका है)

ज़िन्दगी का सफर ,बहुत रोमांच भरा है;

इसमें सुख और दुख दोनों का सामना है;

मजा इसी में है यारों कि दुख के बाद सुख का आमना है।

ज़िन्दगी के हर लम्हे को हसीन पलों में कैद कर लो;

दुख के समय इन्हे याद कर , पारी उसकी समेट लो।

ज़िन्दगी जिंदादिली से जियो यारों,

अपने साथ बीते हसीन पलों को क्यों खो दो।

अगला लेख: तन्हाई ये तन्हाई



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 अगस्त 2020
भगवान में रखते है सभी विश्वास,अपनी अपनी आस्था; कुछ साकार तो कुछ निराकार ,लेकिन रखते है अपनी अपनी आस्था।कुछ आस्थाओं पर चोट करते है, दुःख की घड़ी में वही ईश्वर से आस करते है;कुछ सुख आने पर आस्थाओं पर,दुष्टों के साथ मिल कर अट्टहास करते है;आने वाले कष्ट उन सभी दुष्टों को,ईश्वर
26 अगस्त 2020
21 अगस्त 2020
तिनका तिनका चुन कर लायी , बनाने के लिए एक घरौंदा; जल्दी ही बारिश आने वाली है,समय कम है जल्दी बने घरौंदा।सामग्री एकत्र कर ली है,बस चुन चुन के तिनका बुनने की तैयारी;मै और मेरा साथी दोनों मिल,करते एक सुन्दर आशियाने की तैयारी।बड़ी मुश्किल से जगह
21 अगस्त 2020
30 अगस्त 2020
ये
ये आंखें मस्तानी है,उसे चंचल चितवन की दी गई उपमा है; कभी झुकती पलकों के नीचे से झांकती दिखती ये उपमा है।कभी मदहोशी का आलम बिखेरती,नशीली,नखराली,शोख चंचल;तो कभी निस्तब्ध,गंभीरता को ओढ़े अपने में खोई सी रहती यह न
30 अगस्त 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x