दिल्ली के आठ शहर

14 अगस्त 2018   |  अभय शंकर   (15 बार पढ़ा जा चुका है)

दिल्ली के आठ शहर  - शब्द (shabd.in)

तीन चीजें एक शहर का निर्माण करती हैं - दरिया, बादल, बादशाह.
इसे इस प्रकार कह सकते हैं एक नदी, वर्षा-बादल लाने वाली और एक सम्राट (जो अपनी इच्छाएं लागू कर सकता है)।

पुरानी कहावत

"हम दिल्ली शहर में हैं, जो प्राचीन और नए भारत का प्रतीक है। यह पुरानी दिल्ली की तंग गलियों और मकानों तथा नई दिल्ली के खुली जगहों और अपेक्षाकृत आधुनिक भवनों का जिक्र नहीं है, अपितु इस प्राचीन शहर की मनोवृत्ति है। दिल्ली भारतीय इतिहास की गवाह रही है, जिसने वैभव और आपदाएं देखी हैं और जिसमें अनेक संस्कृतियों को समाहित कर सकने की क्षमता है, फिर भी यह शहर अडिग है। यह वह हीरा है जिसके कई फलक है, कुछ चमकीले है और कुछ समय के साथ मैले पड़ चुके हैं, जो प्राचीन समय से भारतीय जीवनशैली और विचारों को प्रदर्शित करते आ रहे हैं।


दिल्ली शहर में हमें भारत में हुआ अच्छा व बुरा दोनों रूप दिखते हैं, जहां अनेक सम्राटों की कब्रें हैं और एक गणराज्य की नर्सरी है। इसका कहानी कितनी आश्चर्यजनक है! यहां हर कदम पर हमारे इतिहास की सैंकड़ों वर्षों पुरानी परंपराएं है, और हमारी आंखों के सामने से गुज़रने वाला असंख्य पीढ़ियों का कारवां है"



प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु
दिल्ली विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के अभिभाषण से
दिसंबर, 1958


यदा-कदा उजड़ने के बावजूद दिल्ली का एक लंबा इतिहास रहा है, जिसमें एक उल्लेखनीय निरंतरता है और किसी अन्य शहर की तुलना में अधिक समय तक भारत की राजधानी बने रहने की अनोखी विशिष्टता है। एक प्राचीन किवदंती है कि "जिसने दिल्ली पर शासन किया, उसने भारत पर शासन किया"। इस शहर ने भूतकाल और भविष्य के उतार-चढ़ाव देखे हैं। यद्पि इसके स्थान बारंबार बदलते रहे हैं, इसका चरित्र और नाम, निरंतर बना रहा है, जिसने अनेक सभ्यताओं का उत्थान और पतन देखा है। महाभारत के इंद्रप्रस्थ से वर्तमान नई दिल्ली शहर तक यह एक विशाल महानगर में तब्दील हो चुका है। राजा दिल्लू की दिल्ली से नई दिल्ली तक के सफर में इस शहर ने हमेशा शक्ति का संचालन किया है।


दिल्ली की स्थापना का प्राचीनतम संदर्भ महाभारत में मिलता है। हस्तिनापुर के राजा धृतराष्ट्र ने पांडवों को दिल्ली के आसपास के क्षेत्र में अपना साम्राज्य स्थापित करने के निर्देश दिए। दिल्ली का यह हिस्सा खांडवप्रस्थ के नाम से जाना गया। पांडव राजकुमार, युधिष्ठिर ने खांडववन नामक जंगल क्षेत्र को साफ करके दिल्ली में इन्द्रप्रस्थ नामक शहर की स्थापना की। वास्तव में यह इतना आकर्षक शहर था कि कौरव पांडवों के शत्रु बन गए। उसी काल से दिल्ली ने अनेक साम्राज्यों एवं सम्राटों का उत्थान एवं पतन देखा। इसकी लोकेशन से प्राचीन काल से ही अनेक राजा इसका ओर आकर्षित हुए क्योंकि इस शहर का सामरिक और वाणिज्यिक महत्व था।


यह बहस करना आसान न होगा कि दिल्ली के शहर कमोबेश सात से अधिक थे। किन्तु स्वीकार्य संख्या सात है (नई दिल्ली को छोड़कर) और इन शहरों के अवशेष आज भी मौजूद हैं। इतिहासकार 1100 ई. और 1947 ई. के बीच "दिल्ली के सात शहरों" का ज़िक्र करते हैं, वास्तव में इनकी संख्या आठ है:

  • कुतुब मीनार के निकट प्राचीनतम शहर
  • सीरी
  • तुगलकाबाद
  • जहांपनाह
  • फिरोज़ाबाद
  • पुराने किले के निकट शहर
  • शाहजहानाबाद
  • नई दिल्ली


इनमें से प्रत्येक शहर संबंधित वंश के महल - किले के इर्द-गिर्द फैलता था और प्रत्येक वंश अपनी प्रतिष्ठा को लेकर अपना नया मुख्यालय स्थापित करना चाहता था। यहां तक कि समान वंश के राजाओं का यही उद्देश्य होते थे और इनकी पूर्ति के लिए उनके पास साधन भी होते थे। प्रत्येक एक के बाद एक आते वंश ने वास्तुकला के विशिष्ट उदाहरण पेश किए और शहर वास्तुकलाओं में कुछ परिवर्तन किए। अक्सर कुछ महत्वपूर्ण भवन खड़े होते, कुछ स्मारक - चाहे एक मस्जिद हो अथवा एक मकबरा, कोई किला अथवा विजय स्तंभ।


भारत की राजधानी के रूप में दिल्ली की कहानी 12वीं शताब्दी के अंत में उत्तर भारत में मुस्लिमों की विजय के साथ आरंभ हुई थी। तभी से, कुछ विरामों के साथ, यह शहर प्रत्येक केंद्रीय राजनैतिक प्राधिकार रखने वालों का आसन रही है।

http://www.delhitourism.gov.in/delhitourism/hindi/aboutus/eight_cities_delhi.jsp

अगला लेख: मुकेश अंबानी आैर नीता अंबानी ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए किया एेसा, जो अभी तक किसी ने नहीं किया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 अगस्त 2018
मौसम विभाग ने दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार सहित 16 राज्यों के कुछ इलाकों में गुरुवार और शुक्रवार को तेज बारिश की चेतावनी जारी की है. विभाग द्वारा 26 अगस्त तक के लिए जारी बारिश संबंधी पूर्वानुमान के मुताबिक उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पश्चिमी मध्य प
23 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बोधगया – बौद्धों का पूजनीय स्थलअंतरराष्ट्रीय पर्यटन की नज़र से देखे तो बोधगया बिहार का सबसे सुप्रसिद्ध स्थान है। बिहार में यह इकलौती ऐसी जगह है जो विश्व धरोहर के दो स्थलों में से एक है। बौद्धों के लिए यह जगह बहुत ही पूजनीय है क्योंकि, इसी स्थान पर बोधि वृक्ष के नीचे बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी।
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
जोधपुर भारत के राज्य राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा नगर या ज़िला है। इसकी जनसंख्या १० लाख के पार हो जाने के बाद इसे राजस्थान का दूसरा "महानगर " घोषित कर दिया गया था। यह यहां के ऐतिहासिक रजवाड़े मारवाड़ की इसी नाम की राजधानी भी हुआ करता था। जोधपुर थार के रेगिस्तान के बीच अपने
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
लद्दाख कब जाएंमई के अंतिम हफ्ते से सितंबर तक लद्दाख जा सकते हैं। यहां सड़क या हवाई मार्ग से ही पहुंचा जा सकता है। सड़क से जाना चाहें, तो एक रास्ता मनाली और दूसरा श्रीनगर होते हुए है। दोनों ही रास्तों पर दुनिया के कुछ सबसे ऊंचे दर्रे यानी पास पड़ते हैं। मई से पहले और सितंब
14 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
मा
22:45 HRS IST दिल्ली, 10 अगस्त (भाषा) गृह मंत्रालय ने बताया कि सात राज्यों में बाढ़ और बारिश से जुड़ी घटनाओं में इस मानसून में अब तक 718 लोगों की मौत हो चुकी है। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया केंद्र (एनईआरसी) के अनुसार उत्तर प्रदेश में 171, पश्चिम बंगाल में 170, केरल में 178 और महाराष्ट्र में अब तक
10 अगस्त 2018
17 अगस्त 2018
13:10 HRS IST दिल्ली, 17 अगस्त (भाषा) हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड को बांग्लादेश सड़क परिवहन निगम (बीआरटीसी) से 300 डबल डेकर बसों का ऑर्डर मिला है। कंपनी ने एक बयान में बताया कि वह आठ महीनों के भीतर इन बसों की आपूर्ति बीआरटीसी को करेगी। कंपनी के प्रबंध निदेशक विनोद के. दसारी ने कहा, ‘‘ब
17 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बोधगया – बौद्धों का पूजनीय स्थलअंतरराष्ट्रीय पर्यटन की नज़र से देखे तो बोधगया बिहार का सबसे सुप्रसिद्ध स्थान है। बिहार में यह इकलौती ऐसी जगह है जो विश्व धरोहर के दो स्थलों में से एक है। बौद्धों के लिए यह जगह बहुत ही पूजनीय है क्योंकि, इसी स्थान पर बोधि वृक्ष के नीचे बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी।
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
राजस्थान भारत का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा राज्य है जो भारत के उत्तर-पश्चिम हिस्से में स्तिथ है| राजस्थान का इतिहास काफी समृद्ध रहा है और यहाँ प्राचीन काल से लेकर अब तक बहुत सारी सभ्यताएं फली-फूली हैं और नष्ट भी हुयी है| यहाँ निम्न पूरा-पाषाण युग, कांस्य युगीन सिधु
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
जोधपुर भारत के राज्य राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा नगर या ज़िला है। इसकी जनसंख्या १० लाख के पार हो जाने के बाद इसे राजस्थान का दूसरा "महानगर " घोषित कर दिया गया था। यह यहां के ऐतिहासिक रजवाड़े मारवाड़ की इसी नाम की राजधानी भी हुआ करता था। जोधपुर थार के रेगिस्तान के बीच अपने
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
राजस्थान भारत का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा राज्य है जो भारत के उत्तर-पश्चिम हिस्से में स्तिथ है| राजस्थान का इतिहास काफी समृद्ध रहा है और यहाँ प्राचीन काल से लेकर अब तक बहुत सारी सभ्यताएं फली-फूली हैं और नष्ट भी हुयी है| यहाँ निम्न पूरा-पाषाण युग, कांस्य युगीन सिधु
14 अगस्त 2018
21 अगस्त 2018
भोजपुर जिले के बिहिया शहर के बदनाम एरिया में सोमवार को एक युवक की रहस्यमय मौत के बाद भीड़ हिंसक बन गई। गुस्साए लोगों ने बदनाम एरिया पर हमला बोल दिया। तीन घरों में आग लगा दी। तीन गुमटियों और एक बाइक को फूंक डाला। एक घर को भी ध्वस्त करने का प्रयास किया। बदनाम एरिया की एक मह
21 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
यूपी का वाराणसी भी देश की आजादी के लिए छिड़े स्वतंत्रता संग्राम का गवाह रह चुका है। वाराणसी के चौक थाने के बगल में दालमंडी के नाम से प्रसिद्ध गली आज बिजनस का बड़ा हब बन गई है, लेकिन कभी इसी गली में कोठे हुआ करते थे जहां से आने वाली तवायफों के घुंघरूओं की झनकार ने अंग्रेजी
14 अगस्त 2018
27 अगस्त 2018
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रक्षा बंधन पर आज उनकी मुंहबोली बहन कमर मोहसिन शेख ने राखी बांधी और उनके स्वास्थ्य तथा लंबी आयु की कामना की। सुश्री शेख सुबह प्रधानमंत्री आवास सात लोक कल्याण मार्ग पहुंची और प्रधानमंत्री को पूरे विधि विधान से राखी बांधी। बाद में उन्होंने संवादद
27 अगस्त 2018
21 अगस्त 2018
न्
23:16 HRS IST दिल्ली, 21 अगस्त (भाषा) उच्चतम न्यायालय में आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे सांसदों की अयोग्यता के मुद्दे पर अटॉर्नी जनरल और उनके पुत्र आमने-सामने आ गए। पिता का कहना था कि यह मामला विधायिका के अधिकार क्षेत्र में आता है जबकि बेटे का कहना था कि न्यायालय को इस संबंध में निर्वाचन आयोग को न
21 अगस्त 2018
21 अगस्त 2018
आपने अटल बिहारी वाजपेयी, श्रीदेवी, जयललिता, करुणानिधि और शहीद हुए हमारे वीर जवानों के शव तिरंगे में जरूर लिपटे देखे होंगे लेकिन क्या आपको मालूम है जिस तिरंगे में देश के सपूतों को लपेटा जाता है उस तिरंगे का क्या किया जाता है।फ्लैग कोड ऑफ इंडिया 2002 के अनुसार पदम् भूषण, पद
21 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बात सुनो भाई भगत सिंहगुंडे चोर इंडिया के…बात सुनो भाई भगत सिंहगुंडे चोर इंडिया के…भारत माँ को लुटते है जनता के सपने टूटते हैं,गरीब भूके मरते है अमीरों के घर भरते है….लड़किया सड़े तेजाब मैजवानी रुले शराब में…आज देश आजाद है आज देश आजाद हैआपकी क़ुरबानी पर नाज है.पर क्या करे ऐसी आजादी काहर दिन दिखती बर्बाद
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
गोरखपुरउत्तर प्रदेश राज्य के पूर्वी भाग में नेपाल के साथ सीमा के पास स्थित भारत का एक प्रसिद्ध शहर है। यह गोरखपुर जिले का प्रशासनिक मुख्यालय भी है। यह एक धार्मिक केन्द्र के रूप में मशहूर है जो बौद्ध, हिन्दू, मुस्लिम, जैन और सिख सन्तों की साधनास्थली रहा। किन्तु मध्ययुगीन सर्वमान्य सन्त गोरखनाथ के बाद
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हम आपको बता रहे हैं, देश में मौजूद एक ऐसे रेलवे स्टेशन के बारे में जिसके अंदर जाने के लिए पासपोर्ट और वीजा की जरूरत होती है।सुनने में बड़ा अजीब लगता है न, कि विदेश जाने के लिए पासपोर्ट और वीजा चाहिए और यहां रेलवे स्टेशन में जाने के लिए, पर
14 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x