2019 कांवड़ यात्रा : हरिद्वार से करीब 1.5 करोड़ कांवड़ियों का उठ रहा सैलाब

25 जुलाई 2019   |  सौरभ श्रीवास्तव   (172 बार पढ़ा जा चुका है)

2019 कांवड़ यात्रा : हरिद्वार से करीब 1.5 करोड़ कांवड़ियों का उठ रहा सैलाब

हरिद्वार में कांवड़ियों का बड़ा सैलाब:-

हर साल की तरह इस बार भी श्रावण महिने में भगवान शिव शंकर, महादेव के नाम पर हर-हर महादेव, बोल बम, बम-बम और जय शिव शंकर के जयकारों से पूरे देश में शिव जी की भक्ति का मस्त माहौल बना हुआ है। इस महिने श्रावण में पंचक काल खत्म होने के बाद कांवड़ियों द्वारा जल भरने और शिवालयों की तरफ लौटने का कार्यक्रम तेजी से चालू हो गया है। आने वाले दिनों में भगवान शिव के भक्तों की संख्या लगातार बढ़ती ही जायेगी। भगवान शिव की भक्ति के इस माहौल को ध्यान में रखते हुए पुलिस-प्रशासन को पूरी तरह से चौकन्ना कर दिया गया है। हमारे श्रोतों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को सुबह करीब 10 बजे के आस-पास 1.4 करोड़ कांवड़ियों द्वारा हरिद्वार से गंगाजल उठाया गया। वहीं कांवड़ियों की कड़ी सुरक्षा व व्यवस्था के लिए Haridwar administration ने शुक्रवार से राजधानी दिल्ली से देहरादून हाइवे NH 58 को पूरी तरह से बन्द करने की तैयारी कर दी गयी है और मुजफ्फरनगर क्षेत्र की सीमा में भी भारी संख्या में कांवड़िए पहुंचने लगे हैं।


HARIDWAR

और वहीं सहारनपुर क्षेत्र में कांवड़ियों रास्ते पर पड़ने वाला अंबाला Highway के पास स्थित शाहजहांपुर क्षेत्र के पुलिस चेक पोस्ट से लेकर देहरादून रोड के पास गागलहेड़ी तिराहे पर इन दिनों भगवान शिव की भक्ति का माहौल बना हुआ है। हर जगह कांवड़ियों के लिए शिविर लगाए गये हैं और अपने कांवड़ के साथ गंगाजल लेकर कांवड़िए भगवान शिव के दर्शन की ओर बढ़ रहे हैं।

बहुत ही भीषड़ उमस और गर्मी होने के बावजूद भी कांवड़िए भगवान शिव के दर्शन के लिए तेजी से भारी संख्या में आगे बढ़ रहे हैं, इसका मुख्य कारण यह भी है कि अभी तक तो पंचक काल लगा हुआ था तो दर्शन के लिए जाने वाले कांविड़यों की संख्या कम थी। ऐसा हिंदू धर्म के अनुसार कांवड़ियों का मानना है कि पंचक काल में जल भरना शुभ नहीं होता। दोपहर बुधवार को करीब 4 बजे पंचक काल खत्म हुआ और इसके बाद कांवड़ियों द्वारा गंगाजल भरने का कार्यक्रम तेजी से शुरू हो गया। लेकिन ऐसा ज्यादा दिनों तक नहीं होगा क्योंकि जैसे- जैसे सावन के दिन कम होंगे वैसे-वैसे कांवड़ियों की संख्या कम होने लगेगी। ऐसा अनुमान इसलिए है कि जिन कांवड़ियों ने पंचक काल के बाद जल भरा है, वो मात्र 2 दिनों में जल लेकर लौटेंगे। वैसे अभी तो इन दिनों कांवड़ियों की बढ़ती संख्या के कारण Police Administration को काफी अलर्ट कर दिया गया है।


HARIDWAR

जगह-जगह से हरिद्वार और ऋषिकेश के लिए रवाना हो रहे शिवभक्त:-

जैसा अभी तक देखा जा रहा है कि कांवड़ के मार्ग पर जम्मू-कश्मीर हरियाणा, हिमाचल, पंजाब व राजस्थान जैसे क्षेत्रों की तरफ से कांवड़िए दर्शन के लिए जाते हुए नजर आ रहे थे, लेकिन अब शिवरात्रि की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे शिवभक्त आसपास के जिलों से भी जल लेने के लिए हरिद्वार और ऋषिकेश के लिए रवाना होते दिखाई देने लगे हैं। इसका एक मुख्य कारण यह भी है कि पंचक काल भी खत्म हो चुका है जिससे कांवड़ियों की संख्या बहुत बढ़ गयी है। इस प्रकार से अनेक आस पास के क्षेत्रों सी तरफ से बुधवार को बड़ी संख्या में कांवड़िये जल लेने के लिए जाते हुए कांवड़िए नजर आये।


जगमगाते हुए मार्ग पर कांवड़ियों की जमकर हो रही सेवा:-

कांवड़ मार्ग को तरह-तरह की लाइटों से सजा दिया गया है औऱ लगभग हर जगह पर कांवड़ियों के लिए कांवड़ शिविर लगे हुए हैं। शिविर में भक्तों की सेवा करने वाले दिन-रात शिवभक्तों की सेवा कर रहे हैं। कांवड़ियों के लिए पर्याप्त भोजन, नहाने-धोने व सोने के लिए विशेष व्यवस्था का इंजजाम किया गया है। इसके साथ ही शिविरों में लगे हुए DJ SOUNDS पर भगवान शिव के मंत्रमुग्ध कर देने वाले Bhakti Songs चल रहे हैं और पूरा का पूरा भक्तिमय माहौल बना हुआ है।


अगला लेख: फिट्नेस व खूबसूरती के लिए कीवी फल है प्रभावशाली...



anubhav
26 जुलाई 2019

श्रावण मास में कांवड़ों का मेला लगना आम बात है और इसपर अच्छी जानकारी दी सौरभ जी आपने, धन्यवाद

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 जुलाई 2019
नुसरत जहां एक TMC Leader और एक Bengali Actress- जैसा कि TMC Party से सांसद आज कल काफी न्यूज में चर्चित हैं ऐसा इसलिए भी है कि नुसरत जहां Bengali Actress भी हैं। अपनी शादी के बाद यह और भी सुर्खियों में नज़र आ रही हैं नुसरत जहां ने अ
24 जुलाई 2019
19 जुलाई 2019
HISTORY OF PORUS AND SIKANDER IN HINDI- हमारे भारत देश में अनेकों प्रकार के आक्रमण व युद्ध हुए, जिनके बारे में जानकारी आपको किताबों से मिलती है। अगर हम भारत के इतिहास के संदर्भ में युद्धों के बारे में बात करें तो हम देखते हैं कि सिकंदर और पोरस जैसे ताकतवर राजाओं के युद्ध के बारे में सुनने को मिलता
19 जुलाई 2019
22 जुलाई 2019
भारत में महिलआो को जहां एक ओर दबाकर रखने का चलन है वहीं दूसरी ओर महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपना परचम लहराया
22 जुलाई 2019
25 जुलाई 2019
काव्य रचनाओं में निपुण महान रचनाकार श्री महादेवी वर्मा जी |Mahadevi Verma:-काव्यों रचनाओं में निपुण महान श्री महादेवी वर्मा जी का जन्म सन् 26 मार्च 1907 को उत्तरप्रदेश के फ़र्रुख़ाबाद नामक क्षेत्र में हुआ था। वर्मा जी के जन्म के संबंध में सबसे विशेष बात यह थी कि
25 जुलाई 2019
26 जुलाई 2019
भारत में धर्म व आस्था के प्रति हिन्दुओं की संवेदनशीलता:- हमारे भारत देश के लोगों की भावनाएं भक्ति व धर्म के प्रति काफी संवेदनशील होती हैं। विशेष करके जब कभी धर्म की बात आती है तो भगवान के प्रति आस्था को लेकर काफी संवेदनशीलता देखने को मिलती है। अक्सर आप भक्ति, धर्म और भगवान से संबंधित किसी प्रकार के
26 जुलाई 2019
26 जुलाई 2019
बाबा रामदेव के साथ देश में आंदोलन-: राजीव दीक्षित का जन्म उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ जिले में सन् 1967 में 30 नवंबर को हुआ था। राधेश्याम दीक्षित इनके पिता का नाम था और इनकी मां का नाम मिथिलेश कुमारी था। माता पिता के द्वारा ही इनका नाम राजीव रखा गया। अपने प्रारम्भिक शिक्षा की शुरुआत वैसे ही की जैसे कि
26 जुलाई 2019
23 जुलाई 2019
श्री शंकर दयाल शर्मा जी की जीवनी (Shankar Dayal Sharma Biography):- श्री शंकर दयालशर्मा जी भारतवर्ष के 9वे राष्ट्रपति थे, जिन्होंने 1992 से 1997के बीच कर कार्यबार संभाला। भारत के राष्ट्रपति पद के पहले शंकर दयाल शर्मा जीहमारे देश के 8वे उप राष्ट्रपति थे। सन् 1
23 जुलाई 2019
12 जुलाई 2019
*सनातन धर्म में समय-समय पर विभिन्न व्रत उपवास एवं त्योहारों का पर्व मनाने की परंपरा रही है | प्रत्येक व्रत / पर्व के पीछे एक वैज्ञानिक मान्यता सनातन धर्म में देखने को मिलती है | आषाढ़ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी जिसे पद्मा एकादशी के नाम से जाना जाता है | इसका बहुत ही
12 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
24 जुलाई 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x