सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर

27 जुलाई 2020   |  दिनेश डॉक्टर   (294 बार पढ़ा जा चुका है)

सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर

सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018

केबल कार सुबह साढ़े सात बजे चलनी शुरू होती थी । नाश्ता सुबह साढ़े छह बजे ही लग जाता था । जल्दी जल्दी नाश्ता कर वापस पच्चीस नम्बर बस के स्टैंड पर पहुंच गया । बस भी जल्दी ही मिल गयी और साढ़े आठ बजे तक केबल कार स्टेशन पर पहुंच गया । मन प्रसन्न हो गया जब देखा कि केबल कार पर्यटकों को ऊपर ले जा रही है । हवा भी आज शान्त थी और आसमान खुला हुआ था । पर्वतों में नीचे से ऊपर जाने का अनुभव वाकई बहुत नूतन और आह्लादकारी होता है । टूरिस्टस, जिनमे बहुत सारे एक दिन पहले वाले ही कोरियन और चाइनीज लोग थे, आज भी लाइन में लगे सेल्फियां खींच रहे थे । केबल कार बड़ी थी और एक बार में पंद्रह से बीस लोग समा सकते थे । जहां एक ओर ज्यादातर जापानी पर्यटक बहुत सौम्य, विनम्र, शांत और अंतर्मुखी होते है वहीं दूसरी तरफ अधिकांश कोरियन, चाइनीज और वियतनामी टूरिस्ट्स ठीक विपरीत होते हैं ।

केबल कार ऊपर उठनी शुरू हुई तो नीचे के दृश्य पेनारोमिक होते चले गए । धीरे धीरे पूरे साल्जबर्ग शहर का फैलाव और सिटी लाइंस नज़र आने लगी । थोड़ी देर बाद ही केबल कार बर्फ से ढकी चोटियों के बीच से गुजरने लगी । चारो तरफ सफेद झक्क बर्फ । कई जगह तो ऐसा भी लगा कि हाथ बढ़ा कर बर्फ समेट लो । बारह मिनट बाद सबसे ऊंची चोटी पर बने स्टेशन पर पहुंच कर केबल कार रुक गयी । परिचालक ने दरवाजा खोला तो खून जमा देने वाली हवा के हल्के से झौंके ने चेहरे को सुन्न कर दिया । बिल्डिंग से बाहर निकले तो चारों तरफ बस बर्फ ही बर्फ । दूर पहाड़ी पर एक दो लोग आइस स्केटिंग करते भी नज़र आये । सोचा कि बर्फ के रास्ते ऊपर चोटी तक पैदल चल कर जाया जाए । जैसे ही कदम बढ़ाए तो फौरन समझ आ गया कि बर्फ पर आइसिंग हो गयी है । बर्फ पर आइसिंग हो जाये तो खतरनाक रूप से फिसलन हो जाती है और उस पर चलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है । एक कम उम्र की चाइनीज़ लड़की कुछ ज्यादा ही उत्साह में आगे बढ़ी तो दस कदम बाद ही धड़ाम से फिसल कर गिर गयी । वापस जल्दी उठने के चक्कर में तीन चार बार वापस फिसल कर गिरी । किस्मत से दांयी तरफ नही फिसली क्योंकि उस तरफ ढलान और गहरी खाई थी और मौत पक्की थी । हालांकि वहां पतली सी रेलिंग तो थी पर रेलिंग के बीच के गैप को देखकर मुझे शक था कि तेज़ फिसलते आदमी को वहां कोई सहारा मिलेगा । मेरा हौसला जवाब दे गया और मैं वापस बिल्डिंग की डेक पर बने केफिटेरिया में, जहां से पूरी घाटी का बड़ा सुंदर अवलोकन हो रहा था, आकर काफी पीने लगा । चीनी लड़की हौसले वाली थी । उसने हार नही मानी और जैसे तैसे गिरती पड़ती पहाड़ की चोटी पर पहुंच कर बड़े गर्वपूर्ण आनंद से सेल्फियां लेने लगी ।

मुझे याद हो आईं ख़्वाजा मीर की वो मशहूर पंक्तियां ;

सैर कर दुनियां की ग़ाफ़िल

जिन्दगानी फिर कहाँ ।

जिन्दगानी गर कुछ रही तो

ये जवानी फिर कहाँ ।।

मैं अपवादों की बात नही कर रहा पर मुझ जैसे सामान्य लोगों की एक उम्र ऐसी भी होती है जब अनाप शनाप खतरे लेने का हौसला पता नही कहाँ से आता है और फिर उम्र के ढलान पर एक वक्त ऐसा भी आता है कि बहुत सारे बेसिर पैर के भय घेरने लगते हैं । आज बर्फ की आइसिंग पर कदम फिसलते ही ऐसे ही भय ने मुझे कैफेटेरिया में हार मान कर काफी पीने बैठा दिया । अपने टूटे हौसले से रुबरु होकर अच्छा तो नही लगा पर ये सोचकर कि मैं अब कोई तीस पैंतीस साल का जवान पट्ठा नही बल्कि चौसठवें बरस में प्रवेश करने वाला अधेड़ व्यक्ति हूँ और अकेले ही यात्रा कर रहा हूँ और अगर खुदा ना खास्ता कुछ हो गया तो खामख्वाह लेने के देने पड़ जायेंगे, यही सोचकर चुपचाप काफी सुड़कने में ही भलाई समझी ।

आस पास की तस्वीरें उतारी और केबल कार पकड़कर नीचे लौट आया । बस छूटने ही वाली थी ।

समय से वापस साल्जबर्ग शहर के केंद्र में पहुंच गया । पास ही टूरिस्ट ऑफिस से पता चला कि पचास कदम पर ही मोज़ार्ट का घर है, जो कि अब एक म्यूजियम में तब्दील हो गया है । उसे भी देख लिया । मोजार्ट के कपड़े, कंघे, कुर्सी, बिस्तर, पियानो और वायलिन देखने में मेरी कोई खास रुचि नही थी, फिर भी अनमने भाव से बिल्डिंग में चक्कर लगा कर रसोई, सोने के कमरे, म्यूजिक रूम वगैरा देख लिए । मोजार्ट का संगीत जहां उसकी शाश्वत जीवन्तता का प्रतीक है तो ये सब प्रतीक उसकी मृत्यु की खबर दे रहे थे । थोड़ी ही देर में बाहर आ गया । हाँ ! कुछ पुराने पारिवारिक चित्र और पेंटिंग्स को ज़रूर थोड़ी उत्सुकता से देखता रहा ।

सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर
सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर
सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर
सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर
सालज़्बर्ग में मोज़ार्ट का घर अप्रैल 12-18 , 2018 - दिनेश डाक्टर

अगला लेख: सरकारी तसल्ली - दिनेश डॉक्टर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 जुलाई 2020
12-15 अप्रैल 2018 ‘सालज़बर्ग का “हेलब्रुन्न पैलेस यानी जादुई क़िला”अच्छी गहरी नींद के बाद अगली सुबह 12 अप्रेल को उठ कर खटाखट तैयार होकर होटल के रेस्तरां में मुफ्त का नाश्ता करने के बाद रिसेप्शन पर तहकीकात की तो अल्टास्टड होफव्रट होटल की खूबसूरत और समझदार रिसेप्शनिस्
23 जुलाई 2020
05 अगस्त 2020
अयोध्या में भव्य राम मन्दिर निर्माण डॉ शोभा भारद्वाज “सत्ता श्री राम की ,डंका श्री राम की अयोध्या के सिंहासन पर विराजी खड़ाऊँ का” लगभग 500 वर्ष के संघर्ष के बाद अयोध्या में भव्य राम मन्दिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन होने जा रहा है | रा
05 अगस्त 2020
30 जुलाई 2020
क्
क्या ये सच है - दिनेश डाक्टतुम्हे ये क्या हो गया हैतुम्हारी साँसों मेंक्यों ज़हर की बू है ?तुम्हारे माथे की शिकनक्यों तुम्हारे दिल में उतर आयी है ?तुम्हारी बात बात में आग के शोलेक्यूं कर भड़कते है ?तुम्हारे दोस्तअब एक ही मजहब/धर्म केक्यों कर हो गए है ?तुम तो हमेशा 'हम' कहा करते थेअब तुम्हारी बातों मे
30 जुलाई 2020
05 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 4विदा विएना विदा ! फिर लौट आऊँगा !!! अप्रैल 12-18 , 2018
अगले सात दिनों में विएना में इतने म्यूजियम देखे, इतने पुराने किले और तकनीकी रूप से इतनी पुरानी पर उत्कृष्ट इमारते देखी और इतना घूमा देखा कि एक पूरी किताब उस पर आराम से लिखी जा सकती है। ग्लोब म्
05 अगस्त 2020
31 जुलाई 2020
विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर विएना का अद्वितीय और विशाल शोन्नब्रुन्न पैलेस अप्रैल 12-18 , 2018अगले रोज़ सुबह जल्दी तैयार होकर खुद का बनाया नाश्ता खाकर तीन सौ बीस बरस पुराना शोन्नब्रुन्न पैलेस देखने निकल पड़ा । रास्ते में एक साइकिल रैली जैसी कुछ निकल रही थी। हज़ारों की संख्या में साइक
31 जुलाई 2020
01 अगस्त 2020
राम !औरों को शाप मुक्त करके भीस्वयम रहे अभिशप्तकभी दूसरों के क्रोध से संतप्ततो कभी अपनो से त्रस्त !!राम !अकारण नही हुआ वनवास तुम्हे और न ही पत्नी हरण !!न होता -तो कैसे बनतेसहनशीलता के उत्कर्षयुग पुरुष !राम !हर युग में कोई तो विष पीता हैआक्रोश और अपमान काशिव होने को ! अकारण भग्न नही हुआ तुम्हारा जन्म
01 अगस्त 2020
29 जुलाई 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह का एक शहरअप्रैल 12-18 , 2018
ट्रेन से उतरा तो खूबसूरत विएना ने मुझे आगे बढ़कर अपनी बाहों में भर लिया । सबसे पहले उतर कर पूछताछ खिड़की पर गया और लोकल ट्रामों, ट्रेनों और अंडर ग्राउंड ट्यूब रेलवे के बारे में जानकारी ली । पता लगा कि विएना शहर के भीतर सब प्रकार के
29 जुलाई 2020
05 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 4विदा विएना विदा ! फिर लौट आऊँगा !!! अप्रैल 12-18 , 2018
अगले सात दिनों में विएना में इतने म्यूजियम देखे, इतने पुराने किले और तकनीकी रूप से इतनी पुरानी पर उत्कृष्ट इमारते देखी और इतना घूमा देखा कि एक पूरी किताब उस पर आराम से लिखी जा सकती है। ग्लोब म्
05 अगस्त 2020
10 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -214 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019माटों का शराब खाना और उसकी चिन्ताएँ पुराने शहर के मुख्य दरवाज़े पर जबरदस्त भीड़ का रेला था । लंबी डीलक्स बसों में से उतर कर टूरिस्ट ग्रुप्स के झुंड के झुंड जमा थे । मुझे दिल्ली में होने वाली राजनीतिक रैलियों की याद आ गयी ।
10 अगस्त 2020
05 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 4विदा विएना विदा ! फिर लौट आऊँगा !!! अप्रैल 12-18 , 2018
अगले सात दिनों में विएना में इतने म्यूजियम देखे, इतने पुराने किले और तकनीकी रूप से इतनी पुरानी पर उत्कृष्ट इमारते देखी और इतना घूमा देखा कि एक पूरी किताब उस पर आराम से लिखी जा सकती है। ग्लोब म्
05 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
10 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -214 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019माटों का शराब खाना और उसकी चिन्ताएँ पुराने शहर के मुख्य दरवाज़े पर जबरदस्त भीड़ का रेला था । लंबी डीलक्स बसों में से उतर कर टूरिस्ट ग्रुप्स के झुंड के झुंड जमा थे । मुझे दिल्ली में होने वाली राजनीतिक रैलियों की याद आ गयी ।
10 अगस्त 2020
04 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 3विएना का फ़िल हारमोनिक आर्केस्ट्रा अप्रैल 12-18 , 2018विएना के एक सौ पैंतालीस संगीतकारों वाले फ़िल हारमोनिक आर्केस्ट्रा की प्रस्तुति और वो भी विएना के स्टेट ओपेरा में एक ऐसा अनुभव है जिसे कोई भी देख ले तो जीवन भर न भूले । यह एक ऐसा स्तब्ध कर देने व
04 अगस्त 2020
23 जुलाई 2020
12-15 अप्रैल 2018 ‘सालज़बर्ग का “हेलब्रुन्न पैलेस यानी जादुई क़िला”अच्छी गहरी नींद के बाद अगली सुबह 12 अप्रेल को उठ कर खटाखट तैयार होकर होटल के रेस्तरां में मुफ्त का नाश्ता करने के बाद रिसेप्शन पर तहकीकात की तो अल्टास्टड होफव्रट होटल की खूबसूरत और समझदार रिसेप्शनिस्
23 जुलाई 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x