फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर

17 अगस्त 2020   |  दिनेश डॉक्टर   (431 बार पढ़ा जा चुका है)

फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर

फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -7

14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019

फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन



जहाँ रुका हूँ , वो घर एक पहाड़ी पर है नीचे पूर्व में नीले समुद्र का विशाल फैलाव है सीढियां उतर कर पन्द्रह बीस मिनट में समुद्र का किनारा है दांयी तरफ बहुत विशाल और खूवसूरत मरजान पार्क है शनिवार और इतवार के दिन पार्क की कारों और अन्य वाहनों के लिए वर्जित सड़क पर साइकिल चलाते छोटे बच्चे , लड़के लड़कियां, कुत्तों की रस्सियां थामे बुजुर्ग दिख जाते है पर बाकी दिनों में पार्क का छह- सात किलोमीटर लम्बा रास्ता शांत ही रहता है एक तरफ नीले समुद्र और एक तरफ चीड़ के घने वन के बीच से गुजरते सोलह सत्रह बरस के लड़के लड़कियों के खिलखिलाते झुंड को देखकर पता नही क्यों अपनी उम्र का अहसास हो आया सोचने लगा कि पचास बरस बाद ये बच्चे जब मेरी उम्र में पहुचेंगे तो कितना कुछ इनके जीवन में घट चुका होगा आज इनके दिल और दिमाग हौसलों और रुमानियत से लबालब है जिस्म चुस्त, हल्के और फुर्तीले है जीवन के संघर्ष, मान अपमान और फरेब से ये निर्लिप्त और अन्जान है


घर के नज़दीक एक सुपरमार्केट में सामान खरीदते वक़्त क्रोएशयन भाषा में लिखे लेबल को पढ़ने की कोशिश में जब निरीह सा महसूस करता हूँ तो किसी अन्य ग्राहक से सहायता मांग लेता हूँ उम्रदराज़ लोगों को छोड़कर ज्यादातर लोगों को अंग्रेजी अच्छी आती है जिस शालीनता विनम्रता और बिना हड़बड़ाहट के लोग मदद करते है, वैसा किसी दूसरे देश में जल्दी से देखने को नही मिलता

पैदल चलते हुए किसी शहर को देखने से जितनी जानकारियां मिलती है वो बस, टेक्सी या किसी अन्य सवारी से यात्रा करने पर नही मिलती कल एक और बात गौर में आयी इस देश में लोगों के पास चालीस पैंतालीस बरस या उससे भी पुरानी कारें होना आम बात है हालांकि नई नई कारों के मॉडल भी बहुत है पर पुरानी कारें भी लोग चला रहे है उन पुरानी कारों को देख कर मेरे मन में यह विचार ज़रूर आया कि हमारे शहर दिल्ली में दस साल पुरानी डीजल कार और पन्द्रह बरस पुरानी पेट्रोल कार को जबरदस्ती रिटायर करने का फैसला कितना तर्कसंगत है मेरे जैसे जो लोग कार की बहुत अच्छी तरह देखभाल करते है और साल में बामुश्किल पांच से छह हज़ार किलोमीटर चलाते है और उन लोगों की कारों को जो बिना सही देखभाल के साल में बीस पचीस हज़ार किलोमीटर चलती है, एक ही श्रेणी में क्यों रख दिया गया हमारे देश में हर तरह के बेहूदे सरकारी आदेश पर सवाल करने की परम्परा बन गयी है कोई सवाल करता है और ही कोई जवाबदेही ही है

एक दिन पार्क में सैर करते हुए बीस इक्कीस की उम्र के दो हिंदुस्तानी लड़के मिले पता लगा कि दोनों स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत तीन महीने के लिए क्रोएशिया आये हुए है दोनो मुम्बई के बिजनेस मैनेजमेंट कालेज के छात्र थे एक जयपुर का रहनेवाला था तो दूसरा चेन्नई का हालांकि दोनों बड़े खुश थे कि इतने अच्छे देश में आये हुए हैं पर दोनों के भविष्य के इरादों में अमेरिका जाकर सैटल होने की बात थी मेरे मन में विचार उठा कि एक समय ऐसा भी था कि भारत हर किसी के लिए जबरदस्त आकर्षण का केंद्र था दूर दराज के देशों से हज़ारों छात्र तक्षशिला, नालंदा जैसे विश्वविद्यालयों में ज्ञान प्राप्त करने आते थे कहाँ कहाँ से व्यापारी व्यापार करने आते थे अध्यात्म, योग, ज्योतिष और आयुर्वेद जैसे उन्नत शास्त्रीय ज्ञान के पिपासु तो अभी तक दुनियां के बहुत देशों से निरन्तर रहे हैं और आज क्या हो गया है ? जिस के पास भी थोड़ा से अवसर और सामर्थ्य है वो इस देश में रहना ही नही चाहता मुझ जैसे लोग भी आज एक समय में विदेश में बसने की अनिच्छा की मूर्खता पर स्वयं को कोसने लगे हैं आज इस देश के कर्मठ और काबिल लोग अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और यहां तक की तुर्की और ग्रीस जैसे देशों में टेक्सी चलाने, वेटर बनने, खाना पकाने, एअरपोर्ट वगैरा पर सफाई करने जैसे काम करते बड़े खुश हैं पर अपने देश में नही बसना चाहते ? कभी हमारा हिस्सा रहे पाकिस्तान और बांग्लादेश के लोगों का भी यही हाल है

एक किंवदंती के अनुसार एक राजा की जान एक तोते में बसती थी आज बहुत लोगों की जान का वो तोता उनका मोबाइल है मेरे तोते का चार्जिंग केबल टूट गया था तो गूगल पर एक स्टोर ढूंढ कर गूगल मेप की सहायता से दुकान पर पहुँचा सुबह साढ़े नौ बजे का वक़्त था टूटा केबल मेरे हाथ में देख दुकानदार बड़ा खुश हुआ मेरी सैलानियों वाली मजबूरी भांप कर चीन का बना हुआ एक घटिया सा केबल उसने बढ़िया से दाम में मुझे टिका दिया फिर उसने एक और केबल दिखाया और कहा कि ये वाला ओरिजिनल है वो चार गुनी कीमत का था मजबूरी में सस्ता ही ले लिया हालांकि मैं उसकी दुकान पर पहला ग्राहक था यानि कि मैंने उसकी 'बोहनी' कराई थी पर उसने हमारे देश के दुकानदारों की तरह पैसों को माथे या आंख से नही छुआ

हालांकि मेरे पास एक पूरी तरह सुसज्जित एक बढ़िया रसोई है जिसमे कुकिंग रेंज से लेकर, इलेक्ट्रिक ओवन, माइक्रोवेव ओवन, काफी मशीन, मिक्सर ग्राइंडर, फ्रिज, छुरी कांटे, खाना पकाने के बर्तन, कप प्लेटों समेत सब कुछ अव्वल दर्जे का है पर फिर भी मकान मालकिन की रिकमंडेशन पर समंदर के किनारे एक बढ़िया रेस्तरां भी ढूंढ निकाला क्योंकि ये जगह एक तरफ हटकर थी तो टूरिस्ट्स को इसका पता नही था दाम भी वाजिब थे और मेनू में लोकल क्रोएशयन डिशेज बहुत थी बियर भी सस्ती ही थी

क्रोएशिया क्योंकि एडियाट्रिक समंदर के उस भाग में हैं जहां इटली के मेडिटेरियन समंदर का भी हिस्सा आकर मिलता है, तो यहां के खान पान में इटली का बड़ा प्रभाव है चावल का बना रिजोतो हो या चार तरह के चीज़ से बना पिज़्ज़ा, खाने में सी फ़ूड और ऑलिव आयल की प्रधानता हो या छोटी छोटी वाइनरीज में तैयार हुई व्हाइट और रेड वाइन, आपको इटेलियन स्वाद और महक की बार बार याद आएगी हाँ एक बड़ा फर्क है - इटेलियन जहां तेजतर्रार और चालू होते है और आपको चूना लगाने में देर नही लगाते, क्रोएशयन लोग सीधे और बिना लाग लपेट वाले होते हैं

एडियाट्रिक के बेहद खूबसूरत डेलमेशियन इलाके से मन था कि भरने का नाम ही नही ले रहा था पर ये मेरा घर तो नही था छोड़ना ही था कार उठा कर दुब्रोवनिक की तरफ चल पड़ा जहां से फ़्लाइट लेकर मुझे क्रोएशिया को अलविदा कहना था रास्ते में बोस्निया में सड़क के किनारे ढाबे में दोपहर के भोजन के लिए रुक गया हालांकि दोनो मुल्क साथ साथ लगे हुए है पर बोस्निया अपेक्षाकृत गरीब है सड़कें, लोगों का लिबास और जीवन स्तर देखकर ही पता लग जाता है कि क्रोएशिया काफी आगे निकल गया है बोस्निया ने कोई महत्वपूर्ण टूरिस्ट स्थान भी उन्नत नही किया है जबकि क्रोएशिया का सारा ध्यान ही उस तरफ है बोस्निया की लोकल बियर मंगवाई मेनू में देखा तो हर चीज़ बहुत सस्ती थी मैंने सोचा कि शायद दोनों मुल्कों की मुद्रा एक सी ही है यहीं पर ग़लतफ़हमी हो गयी एक बोस्नियन मार्क चार क्रोएशयन कूना के बराबर था जो मेनू में बहुत सस्ता दिख रहा था दरअसल वैसा था नही फिर भी खाना ताज़ा और बढ़िया था लोकल बियर थोड़ी अलग पर मजेदार थी चिकन अच्छा भुना और सब्जियां ताज़ी थी इसी बीच एक चाइनीज लड़की अपने लोकल गाइड के साथ मेरे बगल वाली मेज पर बैठ कर, अपने मोबाइल फोन को स्टैंड पर लगाकर खाना खाते हुए पता नही खाने के बारे में तीखी आवाज में क्या क्या कह कर खुद का वीडियो शूट करने लगी खुद की सेल्फी लेने में और वीडियो शूट करने में चीनी लोग हिंदुस्तानियों से उन्नीस नही बल्कि इक्कीस ही है

आखिर पांच घंटे की लम्बी ड्राइव के बाद खुले नीले समंदर के किनारे बसे छोटे से केवेटाट कस्बे में, जहां मेरी रुकने की जगह बुक थी, पहुंच गया जानबूझकर यहाँ रुका क्योंकि यहां से एयरपोर्ट सिर्फ दस मिनट की ड्राइव पर है लंबा तगड़ा बेहद आकर्षक व्यक्तित्व वाला मिखेल मेरे फोन के बाद नीचे खड़ा मुस्कराता हुआ मेरी राह देख रहा था पहाड़ी पर बने बड़े से मकान में, मेरे ठहरने का कमरा थोड़ा ऊपर चढ़कर दूसरी मंजिल पर था मेरे भारी सूटकेस को हल्के से खिलौने की तरह उठा कर फुर्ती से ऊपर चढ़ गया घर बहुत खूवसूरत था बैडरूम की खिड़की से खुले विशाल नीले समंदर का नज़ारा बहुत लुभावना था सामने लाल गहरे पीले क्षितिज पर सूरज डूब रहा था चमचमाती बत्तियों वाले विशालकाय टूरिस्ट क्रूज़ शिप्स लंगर डाले खड़े थे नीचे बगीचे में पीली पकी नारंगियों और लाल लाल अनारों से लदे वृक्ष तेज़ हवा में झूम रहे थे


एक बार विचार आया कि चलो दस बारह दिन यहीं रुक जाता हूँ पर अगले दिन सुबह की फ्लाइट कन्फर्म हो चुकी थी घर सिर्फ एक रात के लिए ही बुक था फ्रिज खोला वेलकम ड्रिंक के लिए दो बीयर के कैन थे खिड़की के नजदीक कुर्सी खींच कर ठंडी झागदार बीयर सिप करता हुआ क्रोएशिया के समंदर और आसमान की गहरी नीलिमा को हमेशा के लिए दिल में उतारने लगा

फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर
फिर एक और शहर में हमेशा के लिए बसने का मन - दिनेश डाक्टर

अगला लेख: दुनिया के सबसे खूबसूरत प्लिटविच और सिबनिक नेशनल पार्क्स में - दिनेश डाक्टर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 4विदा विएना विदा ! फिर लौट आऊँगा !!! अप्रैल 12-18 , 2018
अगले सात दिनों में विएना में इतने म्यूजियम देखे, इतने पुराने किले और तकनीकी रूप से इतनी पुरानी पर उत्कृष्ट इमारते देखी और इतना घूमा देखा कि एक पूरी किताब उस पर आराम से लिखी जा सकती है। ग्लोब म्
05 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
05 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 4विदा विएना विदा ! फिर लौट आऊँगा !!! अप्रैल 12-18 , 2018
अगले सात दिनों में विएना में इतने म्यूजियम देखे, इतने पुराने किले और तकनीकी रूप से इतनी पुरानी पर उत्कृष्ट इमारते देखी और इतना घूमा देखा कि एक पूरी किताब उस पर आराम से लिखी जा सकती है। ग्लोब म्
05 अगस्त 2020
12 अगस्त 2020
श्
।।श्रीमते रामानुजाय नमः।।श्रीरामानुज स्वामी की मेलकोटे की यात्रा-------------------------------------------------श्रीरामानुज स्वामी जी के मार्गदर्शन में सभी वैष्णव श्रीरंगम् में आनन्द मंगल से रह रहे थे। तभी एक दुष्ट राजा , जो शैव सम्प्रदाय से सम्बन्ध रखता था, विचार किया कि शिवजी की श्रेष्ठता को स्थ
12 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
13 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -5 14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019सपनों के शहर स्प्लिट की तरफ़ पूरे रास्ते बांयी तरफ खूवसूरत नीला एड्रियाटिक समुद्र लहराता दिखाई देता है और कम चौड़ी महज दो लेन वाली सड़क पर चौकस रह कर ड्राइविंग करनी पड़ती है । बीच में कुछ जगह व्यू पॉइंट्स पर रुक कर फोटो भी
13 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
12 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -4 14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पोलेस का खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्कपोलेस में, जो बड़ी बोट द्वारा दुब्रोवोनिक से 1 घंटे 45 मिनट की दूरी पर है, शांत और खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्क है । पार्क में घूमने के लिए वहाँ उतरते ही बैटरी वाली साइकिले किराए पर मिल रही
12 अगस्त 2020
19 अगस्त 2020
पैर में शनि का चक्कर यानी टर्की के शहर इस्तांबुल में आदतन घुमक्कड़ !मई - 2014जब मैं छोटा था तो किन्ही पंडित जी ने मेरी जन्म कुंडली देखकर कहा था कि जातक के पैर में शनि का चक्कर है इसलिए ये हमेशा घूमता ही रहेगा । मुझे लगता है कि वैसा ही चक्कर ज़रूर बहुत घुमक्कडों के पैरों में होता होगा । यह बात मैं टर
19 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
11 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -314 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पुराने शहर का तिलिस्म माटो ने बताया था अगर पुराना शहर देखना है तो शाम का वक़्त बढ़िया रहेगा क्योंकि उस वक़्त ज्यादा टूरिस्ट खाने पीने में मस्त रहते हैं और शहर के अंदर रात के वक़्त जो लाइटिंग इफ़ेक्ट्स आते है वो पुराने शहर की ड
11 अगस्त 2020
10 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -214 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019माटों का शराब खाना और उसकी चिन्ताएँ पुराने शहर के मुख्य दरवाज़े पर जबरदस्त भीड़ का रेला था । लंबी डीलक्स बसों में से उतर कर टूरिस्ट ग्रुप्स के झुंड के झुंड जमा थे । मुझे दिल्ली में होने वाली राजनीतिक रैलियों की याद आ गयी ।
10 अगस्त 2020
13 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -5 14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019सपनों के शहर स्प्लिट की तरफ़ पूरे रास्ते बांयी तरफ खूवसूरत नीला एड्रियाटिक समुद्र लहराता दिखाई देता है और कम चौड़ी महज दो लेन वाली सड़क पर चौकस रह कर ड्राइविंग करनी पड़ती है । बीच में कुछ जगह व्यू पॉइंट्स पर रुक कर फोटो भी
13 अगस्त 2020
04 अगस्त 2020
‘विएना’ खूबसूरत और दिलकश प्रेमिका की तरह एक शहर - 3विएना का फ़िल हारमोनिक आर्केस्ट्रा अप्रैल 12-18 , 2018विएना के एक सौ पैंतालीस संगीतकारों वाले फ़िल हारमोनिक आर्केस्ट्रा की प्रस्तुति और वो भी विएना के स्टेट ओपेरा में एक ऐसा अनुभव है जिसे कोई भी देख ले तो जीवन भर न भूले । यह एक ऐसा स्तब्ध कर देने व
04 अगस्त 2020
12 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -4 14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पोलेस का खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्कपोलेस में, जो बड़ी बोट द्वारा दुब्रोवोनिक से 1 घंटे 45 मिनट की दूरी पर है, शांत और खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्क है । पार्क में घूमने के लिए वहाँ उतरते ही बैटरी वाली साइकिले किराए पर मिल रही
12 अगस्त 2020
12 अगस्त 2020
फलों , शहद और झरनों के देश क्रोएशिया में -4 14 सितम्बर 2019 से 5 अक्तूबर 2019पोलेस का खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्कपोलेस में, जो बड़ी बोट द्वारा दुब्रोवोनिक से 1 घंटे 45 मिनट की दूरी पर है, शांत और खूवसूरत मलजेट नेशनल पार्क है । पार्क में घूमने के लिए वहाँ उतरते ही बैटरी वाली साइकिले किराए पर मिल रही
12 अगस्त 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x