"जेमिमा रोड्रिग्ज़" ने मिताली राज को भी छोड़ा पीछे , सचिन भी हुए फैन

23 नवम्बर 2018   |  अंकिशा मिश्रा   (9 बार पढ़ा जा चुका है)

"जेमिमा रोड्रिग्ज़" ने मिताली राज को भी छोड़ा पीछे , सचिन भी हुए फैन  - शब्द (shabd.in)

भारतीय महिलायें जिस तरह से हर क्षेत्र में अपने आप को साबित कर रही हैं वो वाकई में सराहनीय है।ऐसी ही एक महिला क्रिकेटर हैं Jemimah Rodrigues. आपको बता दें कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम इन दिनों वेस्टइंडीज़ में चल रहे टी-20 वर्ल्ड कप में ज़बरदस्त प्रदर्शन कर रही है। भारतीय टीम सेमी फ़ाइनल में एंट्री कर चुकी है। जिस वजह से महिला भारतीय टीम लगातार सुर्ख़ियों में बानी हुई है। लेकिन इन सुर्ख़ियों की एक और वजह बनी हुई है एक प्लेयर। महिला भारतीय क्रिकेट टीम में एक ऐसी प्लेयर है जिसके काय़ल आजकल सब हो रहे हैं। इस खिलाड़ी ने छोटी सी उम्र में ही इतने बड़े-बड़े कारनामे किए हैं जिसे देख हर कोई इसकी वाहवाही कर रहा है।


भारतीय टीम की इस प्लेयर की उम्र महज़ 17 साल है। 17 साल की उम्र में ही ये कई बड़े-बड़े प्लेयर्स को मात दे रही है।इन दिनों मिताली राज और हरमनप्रीत से भी ज़्यादा चर्चाएं इस यंग प्लेयर की हो रही है। इस प्लेयर का नाम है जेमिमा रोड्रिग्ज़।

जेमिमा रोड्रिग्ज़ शानदार बल्लेबाज़ होने के साथ-साथ एक बेहतरीन फ़ील्डर भी हैं। उनकी फ़ील्डिंग के फ़ैन सचिन तेंदुलकर भी हैं।आपको बता दें जेमिमा की फ़ैन लिस्ट में अब एक नाम और पुडुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर किरण बेदी का जुड़ गया है। किरण बेदी ने जेमिमा का दक्षिण अफ़्रीका के दौरे के समय का एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो के साथ किरण ने लिखा है, “देखिए, कैसे हमारी भारतीय महिला क्रिकेटर ने जंप किया और उड़कर छक्के को रोक दिया।”


भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे युवा खिलाड़ी जेमिमा रोड्रिग्ज़ अबतक कई कारनामे आपने नाम कर चुकी हैं। सितंबर के महीने में जेमिमा ने श्रीलंका के खिलाफ़ लगातार तीन छक्के जड़कर एक नया रिकॉर्ड कायम किया था। इन तीन छक्कों को जड़ने के साथ ही वो पहली ऐसी भारतीय महिला क्रिकेटर बन गई थीं, जिसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ओवर में तीन छक्के लगाए। इसके अलावा महज़ 16 साल की उम्र में मुंबई की जेमिमा ने अंडर-19 वनडे महिला क्रिकेट टूर्नामेंट में 163 गेंदों में 202 रन बनाकर कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए थे। इससे पहले जेमिमा ने वेस्ट जोन अंडर 19 टूर्नामेंट में गुजरात के खिलाफ़ 178 रनों की शानदार पारी खेली थी।



अगला लेख: भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा- कुमार विश्वास



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
20 नवम्बर 2018
किसी ने सच ही कहा है काबिल बनो कामयाबी तो झक मार के पीछे आएगी। आज हम आपको एक ऐसी ही कहानी से रूबरू करने जा रहे हैं जिसने अपनी प्रतिभा से वो मुकाम हासिल किया जिसका ख़्वाब न जाने कितनी ही आँखों ने देखा होगा और ये साबित किया कि प्रतिभा ना उम्र देखती है ना जाति और ना ही अमीरी-गरीबी का फर्क जानती है। ये
20 नवम्बर 2018
22 नवम्बर 2018
Aaj ka itihas वर्ष/साल प्रमुख घटनाएं1165 पोप एलेक्जेंडर तृतीय निर्वासन के बाद रोम वापस लौटे।1744 ब्रिटिश प्रधानमंत्री जान कार्टरे ने इस्तीफा दिया।1848 अमेरिका के वोस्टन में महिला मेडिकल शैक्षणिक सोसाइटी का गठन।1857 कोलिन कैंपबेल ने लखनऊ में सिपाही विद्
22 नवम्बर 2018
22 नवम्बर 2018
डॉ.कुमार विश्वास “कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है”कुमार विश्वास का जन्म 10 फ़रवरी 1970 को पिलखुआ (ग़ाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश) में हुआ था। चार भाईयों और एक बहन में सबसे छोटे कुमार विश्वास ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा लाला गंगा सहाय स्कूल, पिलखुआ में प्राप्त की। उनके पिता डॉ. चन्द्रपाल शर्मा आर एस
22 नवम्बर 2018
21 नवम्बर 2018
इतिहास की बात की जाये तो पूरे देश के इतिहास को यदि तराजू के एक तरफ रख दें और केवल मेवाड़ के ही इतिहास को दूसरी ओर रख दें, तो भी मेवाड़ का पलड़ा हमेशा भारी ही रहेगा | कभी गुलामी स्वीकार न करने वाले शूरवीर महाराणा प्रताप ने इतने संघर्षों के बाद अकबर को मेवाड़ से खदेड़ने पर मजबूर कर दिया था |न जाने मेव
21 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x