Google Doodle: गूगल ने बनाया इस शख्स का डूडल, जानिए कौन थे Friedlieb Ferdinand Runge

08 फरवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (57 बार पढ़ा जा चुका है)

Google Doodle: गूगल ने बनाया इस शख्स का डूडल, जानिए कौन थे Friedlieb Ferdinand Runge

जर्मन कैमिस्ट फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज (Friedlieb Ferdinand Runge) के 225वें जन्मदिन पर Google ने डूडल (Google Doodle) बनाया है। इनका जन्म 8 फरवरी 1794 को हैम्बर्ग में हुआ था।

जर्मनी के इस विख्यात कैमिस्ट ने कैफीन की खोज की थी जो कॉफी में पाया जाता है।

जानिए क्या होता है कैफीन?

कैफीन जर्मन शब्द काफी (Kaffee) से निकला है। हम जब भी थकान महसूस करते हैं तो ये पदार्थ हमारे शरीर में जाकर हमें नयी उर्जा देता है।

Friedlieb Ferdinand Runge's 225th Birthday


रुंज ने कोलतार डाई की भी खोज की थी। इन्होंने बर्लिन यूनिवर्सिटी (Berlin University) से डॉक्टरेट की पढ़ाई पूरी की और 1831 तक ब्रेसलो यूनिवर्सिटी में पढ़ाया।


इतना ही नहीं दोस्तों इन्होंने किशोरावस्था से ही प्रयोग करना शुरू कर दिए थे। इनके प्रयोगों की लिस्ट काफी लंबी है।


जैसे की फ्रेडलीब फर्डिनेंड रुंज ने पेपर क्रोमैटोग्राफी के एक ऑरिजिनेटर के रूप में भी योगदान दिया. उन्होंने चुकंदर के रस से चीनी निकालने के लिए एक तरीका भी दुनिया को दिया।




साथ ही वह दुनिया के वो पहले वैज्ञानिक हैं जिन्होंने कुनैन जो कि मलेरिया के इलाज के लिए प्रयोग की जाने वाली दवा को अलग किया है। रुंज की मृत्यु 25 मार्च 1867 को जर्मनी के ऑरेनियनबर्ग में हुई।


लेकिन ये सिर्फ इनकी ज़िदगी का एक पहलू है इनकी ज़िदंगी में और भी कई पहलू हैं इन्होंने दुनिया को कई ऐसे सुझाव भी दिए जिन पर कभी भी अमल नहीं किया गया।

रुंज ने एक सुझाव ये दिया है कि बूचड़खाने के अवशेषों को खेती में इस्तेमाल किया जाए। उनका मानना था कि ऐसा करने से खेती की उर्वरकता को बढ़ाया जा सकता है। लेकिन उनके इस सुझाव को माना नहीं गया।


अगला लेख: Basic Shiksha News: भारत में साक्षरता दर का पूर्ण विवरण



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 फरवरी 2019
हिंदू धर्म में किसी की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार किया जाता है, शव को मुखाग्नि दी जाती है औऱ फिर उसकी अस्थियों को गंगा जी में प्रवाहित किया जाता हैं। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से मृतक की आत्मा को शांति मिलती है और मोक्ष की प्राप्ति होती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताएंगे जिनक
05 फरवरी 2019
29 जनवरी 2019
साक्षरता और शिक्षा को सामान्यतः सामाजिक विकास के संकेतकों के तौर पर देखा जाता है। साक्षरता का विस्तार औद्योगिकीकरण, शहरीकरण, बेहतर संचार, वाणिज्य विस्तार और आधुनिकीकरण के साथ भी सम्बद्ध किया जाता है। संशोधित साक्षरता स्तर जागरूकता और सामाजिक कौशल बढ़ाने तथा आर्थिक दशा सुधारने में सहायक होता है। साक्
29 जनवरी 2019
06 फरवरी 2019
भविष्य जानने के लिए कभी कभी इतिहास में झांकना पड़ता है और वर्तमान को समझना पड़ता है। इस प्रश्न का उत्तर तो एक ही लाइन में है लेकिन इसे सभी पक्ष को ध्यान में रखते हुए समझते हैं। मोदी जी के विषय में अंत में बात करेंगे क्योकि पहले बुरा भाग ही देखना हम पसंद करते हैं।महागठबंधन में सभी दलों में कुछ बातें एक
06 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x