जैसी तुम वैसे हम

07 मई 2019   |  जानू नागर   (6 बार पढ़ा जा चुका है)

जीवन साथी हो सुन्दर तो आईना बना जाइए , ताकि वह अपनी सुंदरता उसी में देखे .

हो अगर पैसे वाली तो उसका बटुआ बन जाइए वह पैसा उसी में रखेगी .

गर रखती है भगवान में आस्था तो भगवान् बन जाइए , चन्दन उसी में लगाएगी .

हो अगर कठोर तो मुलायम बन जाइए और ऐश के जिंदगी जिओ .

हो अगर नशीली तो अपने लबों में रखे . हर वक्त रसपान करे

करती हो वट्सएप , मैसेंजर , इंस्टाग्राम , ट्यूटर , फेसबुक तो सदा ऑनलाइन रहो .

हर सूरत में वही नजर आएगी , जवाब दे न दे देख पढ़कर मुस्कराएगी अकेले में .

अगला लेख: वर्दी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x