हाथ में AK-47 लेकर आतंकियों में फैलाई गश्त, कुछ ऐसा रहा फौजी धोनी की ड्यूटी का पहला दिन

02 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (514 बार पढ़ा जा चुका है)

अक्सर सेलिब्रिटीज होते हैं जो देश के प्रति कुछ काम करते हैं तो कुछ दूसरों को दिखाने के लिए करते हैं तो कुछ को दिल से देश के प्रति लगाव होता है। उन्हीं में से एक हैं भारतीय क्रिकेट टीम के दमदार प्लेयर महेंद्र सिंह धोनी जिन्होंने साल 2011 में वर्ल्ड कप अपने कप्तानी के नेतृत्व में दिलवाया था। इस बार भी धोनी ने वर्ल्ड कप में शानदार पारी खेली लेकिन अब एक खबर आई जिसमें भरतीय क्रिकेट के लाजवाब खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी अब 15 दिनों तक कश्मीर की घाटियों में ड्यूटी देंगे। उन्हें भारतीय आर्मी से परमिशन मिली और लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी ने अक आम जवान की तरह ड्यूटी देना 1 अगस्त से शुरु कर दिया। महेंद्र सिंह धोनी ने को सेना की पैराशूट रेजीमेंट में मानद लेफ्टिनेंट पद दिया गया है और वे अपनी ड्यूटी 15 अगस्त तक देंगे। जवान भाईयों के साथ तिरंगा फहराने के बाद ही वे अपनी ड्यूटी खत्म करेंगे।


महेंद्र सिंह धोनी दे रहे हैं घाटी में ड्यूटी


सेना की पैराशूट रेजीमेंट में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी ने एक सैनिक के तौर पर आतंकवाद से गंभीर रूप से प्रभावित दक्षिण कश्मीर के इलाके में घूमने लगे हैं। गार्ड ड्यूटी की और दूसरी जिम्मेदारियां ले ली। धोनी को सेना के साथ ट्रेनिग के लिए कश्मीर में तैनात किया गया और वे अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभा रहे हैं। सेना की ओर से जारी आधिरारिक बयान के मुताबिक धोनी ने 31 जुलाई से 15 अगस्त तक कश्मीर की घाटी पर जवान के तौर पर तैनात रहेंगे। सेना की ओर से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक, धोनी ने 31 जुलई से 106 टीए बटालियन के साथ कश्मीर में ट्रेनिंग शुरु की है। भारतीय सेना के एक अधिकारी के मुताबिक, धोनी ने सेना के साथ ट्रेनिंग के लिए अपील की थी जिसे सेना प्रमुख बिपिन रावत की ओर से पिछले हफ्ते मंजूरी दी गई थी। पूर्व भारतीय कप्तान धोनी को इस दौरान गश्त लगाने, गाडर् और पोस्ट ड्यूटी दी गई है और इस दौरान वे सैनिकों से जुड़े रहेंगे।

भारतीय क्रिकेटर ने हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई से दो महीने की छुट्टी ली है। जिससे वे सेना के साथ ट्रेनिंग ले सकें और वे इस महीने से शुरु हो रहे वेस्टइंडीज दौरे के लिए भी खुद को अलग कर चुके हैं। सेना के अधिकारियों के मुताबिक धोनी अन्य जवानों के साथ ट्रेनिंग करेंगे और किसी आम सैनिक के साथ ही वहां रहेंगे। धोनी की बटालियन का मुख्यालय बेंगलुरू में है और फिलहाल कश्मीर में तैनात किया गया है।



चलते-चलते आपको बता दें कि धोनी के सेना में जाने की खबरों के बाद कपिल देव ने उन्हें शाबाश कहा था और हर तरफ उनके इस काम को वाहवाही मिल रही है। कपिल ने इस विषय में कहा था कि ये धोनी का देश के प्रति शानदार कदम है। देश सेवा से बड़ा कुछ भी नहीं होता है और युवाओं को भी इससे सीखने को मिलेगा कि भारतीय आर्मी में अपनी सेवा देने से हमारा ही देश सुरक्षित रह सकता है। इसके लिए देश के युवाओं को सच में आगे आना चाहिए। इसके अलावा सोशल मीडिया पर यूजर्स भी धोनी के इस कदम की तारीफ कर रहे हैं।

अगला लेख: 44 साल पहले क्रिकेट के मैदान में महिला ने खिलाड़ी को कर लिया था किस, देखिए दिलचस्प Video



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 अगस्त 2019
जब कोई नई सरकार आती है तो जनता को उम्मीद हो जाती है कि ये सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। उनके लिए सबसे भारी महंगाई को कुछ तो कम करेगी लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तब जनता भड़क जाती है और यही सरकार को गिराने का असरदार काम करती है। अब मे
01 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
02 अगस्त 2019
दुनिया में बहुत सी अजीबोंगरीब चीजें होती हैं और इन चीजों में कभी कुछ फनी बातें हो जाती हैं तो कभी हजम ना करने वाली बात हो जाती है। मगर ऐसी ही हटके दिखने और सुनने वाली बातों की ही खबर बन जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ पिछले दिनों झारखंड के धनबाद में जब वहां के एक मेडिकल कॉलेज
02 अगस्त 2019
02 अगस्त 2019
बॉलीवुड में पार्टी, शराब और शबाब का दौर पुराने समय से ही चलता आ रहा है। यहां पर फिल्मों में आप अपने सितारों को जितना अच्छा मानते हैं लेकिन हर सितारा असल जिंदगी में अच्छा हो ये जरूरी नहीं होता। आज की युवा अपने फेवरेट स्टार को देखकर ही सीख रही है और अगर वे अपने फेवरेट स
02 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
बहुत दिनों से जम्मू कश्मीर में हलचल थी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को वहां पर तैनात कर दिया गया था क्योंकि हालात कभी भी बिगड़ सकते थे। कुछ भी हो सकता था और लोगों में एक डर का माहौल था लेकिन अब वो बातें खत्म हो चुकी हैं। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को एक एतिहासिक फैसला लिया है और जिसमें जम्मू एंड कश्मीर स
05 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
Webdunia- देश में बहुत सारे हिंदी वेब पोर्टल न्यूज वेबसाइट हैं लेकिन कुछ ही ऐसी वेबसाइट्स हैं जो हमें सही और बेहतर तरीके की खबरें प्रोवाइड करवाती हैं। वेबदुनिया उन्हीं में से एक वेबसाइट है जो कई भाषाओं में खबरें पब्लिश करती हैं और रीडर्स को सही जानकारी देती है। वेबदुन
01 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
बहुत दिनों से जम्मू कश्मीर में हलचल थी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को वहां पर तैनात कर दिया गया था क्योंकि हालात कभी भी बिगड़ सकते थे। कुछ भी हो सकता था और लोगों में एक डर का माहौल था लेकिन अब वो बातें खत्म हो चुकी हैं। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को एक एतिहासिक फैसला लिया है और जिसमें जम्मू एंड कश्मीर स
05 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
दुनिया के इतिहास में ऐसी-ऐसी घटनाएं हुई हैं कि बहुत से लोग प्रभावित हुए हैं और इसके बारे में हमें हमारे पूर्वजों से पता चला है। जिस तरह से भारत अंग्रेजों का गुलाम बन गया था वैसे ही दूसरे देशों के साथ भी बहुत कुछ हुआ है जिसके प्रमाण इतिहास में मिलते हैं। कुछ ऐसा ही 6 अ
08 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
Webdunia- देश में बहुत सारे हिंदी वेब पोर्टल न्यूज वेबसाइट हैं लेकिन कुछ ही ऐसी वेबसाइट्स हैं जो हमें सही और बेहतर तरीके की खबरें प्रोवाइड करवाती हैं। वेबदुनिया उन्हीं में से एक वेबसाइट है जो कई भाषाओं में खबरें पब्लिश करती हैं और रीडर्स को सही जानकारी देती है। वेबदुन
01 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
Pratlipi एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां खुले विचारों से आप कुछ भी लिख सकते हैं। ये एक ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप किसी भी विषय पर लिखकर खुद पब्लिश कर सकते हैं। इसका मुख्यालय बैंगलुरू में है और इस वेबसाइट पर आ
31 जुलाई 2019
22 जुलाई 2019
एक मध्यवर्गीय परिवार का बिजली का बिल कितना आ सकता है, क्या इसका अंदाजा आपको है ? गर्मियों में एक मध्यवर्गिय परिवार का बिजली का बिल ज्यादा से ज्यादा 4 से 5 हजार ही आता होगा। वो भी तब अगर आप दिनभर AC चला रहे हों। मगर उत्तर प्रदेश के हापुर में एक मध्यवर्गीय परिवार को इतन
22 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
29 जुलाई 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x