इस तरह का विरोध देश के प्रधानमंत्री के लिए कितना सही ?

21 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (491 बार पढ़ा जा चुका है)

इस तरह का विरोध देश के प्रधानमंत्री के लिए कितना सही ?

5 अगस्त को मोदी सरकार ने सबसे बड़ा काम किया और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर जम्मू-कश्मीर को भारत काे आम राज्य की तरह बना ली है। इसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित राज्य बनाया और उनके इस काम की सराहना हर तरह कर रहे हैं। कुछ विरोधी भी हैं जो मोदी के इस कदम को ऐतिहासिक और सबसे अच्छा मान रहे हैं। इन सबके बावजूद जिन्हें मोदी के खिलाफ बोलना है वो बोल ही रहे हैं और उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे जिसके लिए गलत शब्द का प्रयोग कर रहे है वो उनके ही देश के प्रधानमंत्री हैं। हो सकता है कि नरेंद्र मोदी हर बात में गलत हों लेकिन आखिर हैं तो वे देश के प्रधानमंत्री और उनकी तस्वीरों के साथ गलत तस्वीरें बनाकर उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल करना कितना सही है ये आप ही बताएं दोस्तो ?


पीएम मोदी की गलत तस्वीरें


पीएम मोदी

भारत देश दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपने देश के पीएम के साथ इतना गलत बर्ताव करें। नहीं नरेंद्र मोदी की कम से कम उनके पद का तो सम्मान करिए। ऐसा देखकर दुनिया के लोग भी हमारे ऊपर हंसेंगे कि हम अपने देश के पीएम के फैसले का तो सम्मान नहीं कर सकते कम से कम उनकी तस्वीरों को तोड़-मरोड़कर तो नहीं बनाएं। इंटरनेट पर मौजूद नरेंद्र मोदी की 10 ऐसी तस्वीरें जिनमे उनका विरोध करते हुए अपमान किया गया।


पीएम मोदी


इस तस्वीर को गौर से देखिए, इसके साथ क्या किया गया। एक यूजर ने इसकी मांग की है कि ऐसी तस्वीरें बनाने वाले को कड़ी सजा देनी चाहिए। आखिर कुछ भी हो कम से कम उनके पद का मान रखना हमारा ही काम है।


पीएम मोदी

इस तस्वीर को गौर से देखिए, इसमें एक डॉगी की शक्ल की जगह पीएम मोदी का चेहरा लगाया गया है। ऐसा करने वालों के साथ क्या करना चाहिए ये मोदी सपोर्टर्स से पूछ सकते हैं।


पीएम मोदी

गूगल कभी ऐसा नही ंकर सकता है और ये फेक तस्वीर को बनाकर लोग क्या साबित करना चाहते हैं ?


पीएम मोदी


पीएम मोदी की ये तस्वीर पाकिस्तान की नहीं बल्कि भारत की है लेकिन ये किसने किया ये हम आपको नहीं बता सकते बस आप ये याद रखिए कि गलत हरकतों की भी एक हद होती है।


पीएम मोदी


जो इंसान रात-दिन सोच रहा है कि आतंक कैसे खत्म किया जाए उसके लिए ऐसी तस्वीर बनाना शर्मनाक है।


पीएम मोदी


बहुत ही घटिया हरकतों में एक और घटिया हरकत, जब अपने ही देश के पीएम को दुनिया में शर्मसार किया जा रहा है।


पीएम मोदी


ऐसी तस्वीरें बनाने से हंसी तो सिर्फ विरोधियों को आती होगी, लेकिन मेरा एक सवाल है क्या सच में पीएम मोदी देश के लिए कुछ नहीं कर रहे ?


पीएम मोदी


बस हद है और सोशल मीडिया का गलत फायदा उठाया जा रहा है। उन्हें ये भी नहीं पता कि जिस इंटरनेट का यूज करके लोग ऐसी घटिया हरकत करते हैं उसे सस्ता भी पीएम मोदी ने ही करवाया है।



पीएम मोदी

वाहियात तस्वीर आप इसपर कुछ कहना चाहेंगे ?


पीएम मोदी


इंटरनेट की एक और वाहियात तस्वीर


पीएम मोदी


मतलब कौन हैं ये लोग ? और आते कहां से हैं ये एक बड़ा सवाल है और आपका क्या कहना है ?

इस तरह का विरोध देश के प्रधानमंत्री के लिए कितना सही ?

अगला लेख: ट्रेन में गाने वाली गरीब मां से जो बेटी 10 सालों से नहीं मिली, पॉपुलर होते ही भागी चली आई!



आशा “क्षमा”
26 अगस्त 2019

निंदनीय तरीका !

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 अगस्त 2019
दुनिया के इतिहास में ऐसी-ऐसी घटनाएं हुई हैं कि बहुत से लोग प्रभावित हुए हैं और इसके बारे में हमें हमारे पूर्वजों से पता चला है। जिस तरह से भारत अंग्रेजों का गुलाम बन गया था वैसे ही दूसरे देशों के साथ भी बहुत कुछ हुआ है जिसके प्रमाण इतिहास में मिलते हैं। कुछ ऐसा ही 6 अ
08 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
इंसान की किस्मत कब और कैसे बदल जाती है ये बात कोई नहीं जान सकता। आज एक आम दिखने वाला व्यक्ति कल सेलिब्रिटी बन जाए इसका भी कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता क्योंकि किस्मत हर किसी की होती है और वो पलट सकती है। जैसे कोलकाता की रहने वाली रानू मंडल की बदल गई, कभी रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर दो वक्त की रोटी कम
03 सितम्बर 2019
31 अगस्त 2019
कौन थी अमृता प्रीतम ?गूगल ने आज अपने डूडल में प्रसिद्ध पंजाबी लेखिका अमृता प्रीतम को श्रद्धांजलि दी है और उनका ये अंदाज सिर्फ महान लेखिका को समर्पित किया है। आज अमृता प्रीतम का 100वां जन्मदिन है और गूगल का ये डूडल काफी खास अंदाज में बनाया भी गया है। अमृता अपने समय की मशहूर लेखिकाओं में से एक रही हैं
31 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
आज के समय में युवाओं को किसी भी सरकारी विभाग में कोई भी पद पर नौकरी मिल जाए तो ये उनके लिए सौभाग्य की बात हो जाती है। अगर ये नौकरी बैंक की हो जाए तो पांचों उंगलियां घी में और सिर कढ़ाई में वाली कहावत लागू हो जाती है। बैंक की नौकरी का समय सबसे सूटेबल और आरामदायक होता है तभी लोग दिन रात पढ़कर बैंक की
13 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
दुनिया में बहुत सी ऐसी चीजें होती हैं जो आम नहीं है और अक्सर उन चीजों के पीछे कोई ना कोई खास मकसद भी होता ही है। आपने फिल्मों में ऐसी कई कहानियां देखी होंगी जिसमें एक जानवर अपने मालिक या अपने किसी खास के साथ गलत हुए का बदला लेने के लिए उस कातिल का पीछा करता ही है। मगर असल में ऐसा शायद ही आपने कहीं स
03 सितम्बर 2019
14 अगस्त 2019
इस साल भारत अपनी आजादी के 73वें साल में कदम रखेगा और इसके साथ ही पूरे देश में लोगों ने 15 अगस्त की तैयारियां भी अपने स्कूल, दफ्तर और घरों में शुरु कर दी है। इस साल 15 अगस्त को ही रक्षा बंधन का पर्व पड़ने वाला है और ये वजह भी है जब पूरा देश इस दिन को धूमधाम से मनाने वाला है। हर कोई आजादी के जश्न में
14 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
जब से पुलवामा हमला हुआ है तब से पूरा देश और भारत सरकार एकजुट होकर पाकिस्तान का बहिष्कार करने में लगा हुआ है। छुट्टी से ड्यूटी पर लौट रहे भारतीय जवानों की बस में धमाका करवाने वाले आतंकियों का समूह जैश-ए-मोहम्मद का था लेकिन पाकिस्तान ने इस बात से इंकार कर दिया। भारत ने इसका सबूत दिया फिर भी पाक को अपन
14 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्र
12 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत में हर तरह की बातें होती हैं लेकिन महिलाओं को लेकर सुरक्षा का मामला बिल्कुल सीरियसली नहीं लिया जाता। यहां पर मां-बहन की गालियां देकर लोग इसमें अपनी वाहवाही समझते हैं जबकि वो लोग नहीं जानते हैं वे अपने ही घरवालों का समाज में मजाक बनवा रहे हैं। भारत की महिलाएं सुरक
08 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
15 अगस्त यानी भारत के आजाद होने का दिन, जब पूरा देश एक हो जाता है। हर किसी की देशभक्ति दिखती है और हर कोई आजादी के जश्न में डूब जाता है। इस साल आजादी और रक्षाबंधन का जश्न देश एक साथ ही मना रहा है। रक्षाबंधन का त्यौहार देश के लिए अहम है और इसे हर धर्म के लोग मनाने लगे हैं क्योकि धर्म चाहे जो भी हो ले
14 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
दुनिया के इतिहास में ऐसी-ऐसी घटनाएं हुई हैं कि बहुत से लोग प्रभावित हुए हैं और इसके बारे में हमें हमारे पूर्वजों से पता चला है। जिस तरह से भारत अंग्रेजों का गुलाम बन गया था वैसे ही दूसरे देशों के साथ भी बहुत कुछ हुआ है जिसके प्रमाण इतिहास में मिलते हैं। कुछ ऐसा ही 6 अ
08 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
साल 2014 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद देश के लोगों ने इसके नेतृत्व करने वाले नरेंद्र मोदी को मान लिया था। इसके 5 सालों के बाद लोकसभा चुनाव-2019 में भी उससे ज्यादा वोट्स से जीत हासिल करने के बाद लोगों को लग गया कि अब कुछ भी हो जाए लेकिन नरेंद्र मोदी में कुछ बात तो है जिससे जनता इनसे आसानी से कनेक्ट
12 अगस्त 2019
16 अगस्त 2019
अटल बिहारी बाजपेयी..राजनीति का एक ऐसा चेहरा जिसकी जगह शायद ही कोई ले पाए। जिन्होंने सोचा तो पत्रकार बनने का था लेकिन आ राजनीति में गए थे। इस वजह से वे पत्रकारों का बहुत सम्मान करते थे और उनसे कहते थे 'जो मैं करना चाहता था वो आप लोग कर रहे हैं।' अटल बिहारी बाजपेयी 16 अगस्त, 2018 को लंबे समय से बीमारी
16 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति
13 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्र
12 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x