सेक्युलरों तथा वामीस्लामियों को ये बातें अवश्य बताएं

29 जुलाई 2017   |  रोमिश ओमर   (99 बार पढ़ा जा चुका है)

सेक्युलरों तथा वामीस्लामियों को अवश्य पढ़ाएँ

मैकाले (जी वही अंग्रेज़ी शिक्षा वाला मैकाले) 1834 से 1838 तक भारत में रहा। उसका जब भी ज़िक्र होता है, केवल शिक्षा को लेकर होता है। उसके minutes केवल शिक्षा पर quote किए जाते है। आप में कितनो को ज्ञात है कि IPC भी मैकाले द्वारा लिखा गया था? आप में से कितनो को मालूम है कि उसने भारत में IPC से पहले के क़ानून के बारे में इंग्लैंड में क्या बोला था ( जो आज भी archived है।) संस्कृत के बारे में उसने मुख्यत इतिहास पर कुछ न होने की बात की थी जो सत्य भी है। हम इतिहास लिखते कब है। आज भी नहीं लिखते। हॉ तो बात IPC की हो रही है। उस समय कम्पनी राज मुख्यत बंगाल, बिहार, व UP में था। IPC से पहले भारत में कौन सा क़ानून था? कौन सा? कौन सा? मनुस्मृति? जी नहीं। ----------------------------------------------------- उस समय भारत का सरकारी क़ानून शरिया था। ----------------------------------------------------- जब मैकाले भारत में था हिंदू प्रतिनिधि उससे मिले और रोते हुए बताया कि मुसलमान हमारे घर में घुसक हमारी बेटियों का बलात्कार करते है और जब हम क़ाज़ी के पास जाते है तो क़ाज़ी कह देता है कि मुसलमान के विरुद्ध तुम्हारी गवाही मान्य नहीं है। मैकाले भी रो दिया। और फिर उसने लिखा IPC जिसमें सारे मनुष्यों को समान अधिकार है। ----------------------------------------------------------------- और हिंदुओं को छह सौ साल बाद शरिया से मुक्ति दिलायी।

इसीलिए कभी भी मैकाले का नाम IPC के साथ नहीं लिया जाता क्यूँकि ऊपर बलात्कार के बारे में लिखी बात उसकी द्वारा बनाई गयी रिपोर्ट में है, और अगर IPC व मैकाले वाली बात की गयी तो कोई सिरफिरा उसकी वो रिपोर्ट भी quote कर देगा, और वामपंथियों द्वारा गढ़ी गयी कहानी कि अंग्रेजो के आने से पहले हिंदू मुस्लिम भाई भाई थे, ढह जाएगी। तो आपने देखा कि कैसे एक झूठ की सेवा में तथ्य गायब किए जा सकते है: शिक्षा को लेकर जिस मैकाले को पानी पी पी कर वामी गाली देते है, उसके और IPC के कनेक्शन के बारे में बात ही नहीं करते। (शिक्षा में भी इंग्लिश ने फ़ारसी को रिप्लेस किया था, संस्कृत को नहीं, गुरुकुल नहीं थे उस समय भारत में, मदरसे थे, हम से पहले वाली पीढ़ी तक के हिंदू भी स्कूल को मदरसा ही कहते थे। और हाँ, प्रशासन की भाषा भी अंग्रेज़ी फ़ारसी को हटाकर बनी थी, संस्कृत को नहीं। Land records देखिए, सारी terms आज भी फ़ारसी की है। अंग्रेज़ ख़ुद कोई देवता नहीं थे, लेकिन जिन्हें उन्होंने हिंदुओं की छाती से उतारा, वे अवश्य बहुत बड़े राक्षस थे। और अब तथाकथित हिंदू नेता ही उन्हें फिर से सिर पर बिठाए घूमते है।)

अगला लेख: मिल गया इन्साफ ! झूठे केस में बरी होने से संत आशाराम बापू जी के करोड़ो भक्त हुए प्रसन्न | Punjab Live News



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
17 जुलाई 2017
इस दुनिया में ज्योतिष और भविष्यवाणी पर यकीन रखने वालो कि संख्या काफी कम है। लेकिन आज हम आज आपको ऐसे ज्योतिषाचार्य की भविष्यवाणी के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी पिछली भविष्यवाणियां बिल्कुल सही साबित हुई हैं।हम बात कर रहें हैं अयोध्या के जाने माने ज्योतिषाचार्य हरिदयाल मिश्र की, जिन्होंने संजय गां
17 जुलाई 2017
16 जुलाई 2017
अमन बग्गाजोधपुर: विश्व भर में हिन्दू धर्म का परचम लहराने वाले व धर्मान्तरण के कुकर्म के खिलाफ आवाज बुलंद करने व लाखो लाखो लोगो की घर वापिसी करवाने वाले संत श्री आशाराम बापू जी और उनके भक्तों के लिए खुशखबरी है। क्योंकि नाबालिक छात्रा से छेड़छाड़ के आरोप में सजा काट रहे बाप
16 जुलाई 2017
30 जुलाई 2017
आप भले ही साई पूजक हों या निंदक, यह आलेख अवश्य पढ़ें।शंकराचार्य जी साँईं बाबा को भगवान नहीं मानते हैं ...और इसलिए नहीं मानते, क्योंकि हमारे वेदों, पुराणों,उपनिषदों या अन्य किसी भी धर्म ग्रंथों में एक "फकीर" की पूजा का निषेध है....मने , उन्हें भगवान नहीं बनाया जा सकता है..
30 जुलाई 2017
07 अगस्त 2017
हि
*हिन्दुओं के भगवान* मुसलमान और ईसाई कभी अपनी धार्मिक पुस्तकों के विरुद्ध कार्य नही करते , उन्होंने मोहम्मद व ईसा के अलावा किसी को अपना भगवान नही माना । और अपने कट्टर हिन्दू भाइयो को देखो - 1: रेवन में कुतिया का मंदिर बना दिया , कुतिया को भगवान बना दिया 2: राजस्थान म
07 अगस्त 2017
16 जुलाई 2017
Bharat ko gulam रखने ke लिए मैकॉले में करवाई थी कॉन्वेंट (लावारिस child)school की शुरुआतPlease don't forget to link, Share , comment & most important SUBSCRIBE https://www.youtube.com/channel/UCx0G...Source : Dainik Bharat Music address:By
16 जुलाई 2017
01 अगस्त 2017
।।राम राम सा।।।।खड़े होकर खाना क्यों नहीं खाना चाहिए।। भोजन से ही हमारे शरीर को कार्य करने की ऊर्जा मिलती है। हमारे देश में हर छोटे से छोटे या बड़े से बड़े कार्य से जुड़ी कुछ परंपराए बनाई गई हैं।वैसे ही भोजन करने से जुड़ी हुई भी कुछ मान्यताएं हैं। भोजन हमारे जीवन की
01 अगस्त 2017
14 जुलाई 2017
ISIS वाले सच्चे #मुसलमान नही हैं.बोको हराम वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.हमास वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.अल कायदा वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.तालिबान वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.हिजबुल्लाह वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.लश्कर ए तोइबा वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.सिमी वाले सच्चे मुसलमान नही हैं.जैश ए मोहम्मद वा
14 जुलाई 2017
27 जुलाई 2017
दोस्तों, दुनिया में शायद ही ऐसा कोई इंसान हो जो फ़िल्में देखता हो और James Bond को न जानता हो। हम सभी अपनी ज़िंदगी के किसी न किसी दौर में James Bond से ज़रूर प्रेरित थे और उसी की तरह बनना भी चाहते थे। दुनिया की सबसे fast cars, latest models of gadgets, महंगे सूट और beautiful girls उस किरदार की चमक म
27 जुलाई 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x