होली मुबारक़

मेरे सभी देशवासिओं को होली की हार्दिक शुभकामनाएं. सुख से रहे, आनंद से रहें एवंग स्वस्थ रहें. नमस्कार, जयहिंद !! #ज़हरारंजन https://ghazalsofghalib.com https://sahityasangeet.com Dear Music Lovers,You are most welcome to this encyclopaedia of Indian Classical Music. Here you will



होली की हार्दिक शुभकामनाएँ

फागुनका है रंग चढ़ा लो देखो कैसा खिला खिला सा |मस्तबहारों के आँगन में टेसू का रंग घुला घुला सा ||राधासंग बरजोरी करते कान्हा, मन उल्लास भरासा कौनकिसे समझाए, सब पर ही हैकोई नशा चढ़ा सा ||सभी केजीवन में सुख, सम्पत्ति, ऐश्वर्य, स्वास्थ्य, प्रेम,उल्लास और हर्ष के इन्द्रधनुषी रंग बिखरते रहें, इसी भावना के स



होली में रंगों का रखें खास ख्याल, इस तरह छुड़ाएं गाढ़ा रंग | Holi Health Tips

21 मार्च के दिन पूरा देश होली के रंग में डूबा होगा और ज्यादातर लोग अपनी मस्ती में डूबकर बेफिक्री के साथ होली खेलेंगे. होली खेलने के दौरान लोग उसमें इतना रम जाते हैं कि उन्हें होश ही नहीं होता कि उनके ऊपर पड़ने वाला रंग कच्चा है या फिर पक्का, बस जो आता है उसके साथ रंगो



अथ होली ढूंढ़ा कथा

होली पर्व से सम्बन्धित अनेक कहानियों में से हिरण्यकशिपु के पुत्र प्रहलाद की कहानी बहुत प्रसिद्ध है। इसके अलावा ढूंढा नामक राक्षसी की कहानी का वर्णन भी मिलता है, जो बड़ी रोचक है। कहते हैं कि सतयुग में रघु नामक राजा का सम्पूर्ण पृथ्वी पर अधिकार था। वह विद्वान, मधुरभाषी होने के साथ ही प्रजा की स



साजन बेस परदेश

साजन बेस परदेश सूनी - सूनी लगे नाचे गायें घर चौबारे नगरी नगरी द्वारे द्वारे जहर लागे हंसी ठिठोली सून सून लागे होली !चारो और रंग बरसे है मेरा सूखा मन तरसे है खाली अबीर गुलाल झोली सूनी सूनी लागे होली | आँखे सबकी ,खुशियां वांचे पीली पीली सरसो नाचे रंगीले परिधान में टोली सूनी सूनी लागे होली | होड़ म



रंग की एकादशी

रंग की एकादशी – कुछ भूली बिसरी यादेंकल रविवार 17मार्च को फाल्गुन शुक्ल एकादशी है | यों आज रात्रि ग्यारह बजकर चौंतीस मिनट के लगभग वणिजकरण, शोभन योग और पुनर्वसु नक्षत्र में एकादशी तिथि का आगमनहो जाएगा, किन्तु उदया तिथि होने के कारण कल एकादशी का उपवासरखा जाएगा | इस प्रकार जैसी कि मान्यता है कि द्वादशी



रंग

झूठ पलता हो पालनों में जहाँ, सच की उनसे क्या उम्मीद करे, खेलते होली जो नफ़रत घुले पानी से, रंगो की वहां क्या उम्मीद करे. दिखता है रंग अपना ही खूबसूरत, उनसे दूसरे रंगों की क्या तारीफ़ करे. मज़हब में भी जो ढूंढते नफ़रत, उनसे इश्क ओ म



होली पर शानदार कविता

होली के पावन पर्व पर कुछ पंक्तिया शीर्षक है "कि आ सखी होली खेले"1.कि आ सखी होली खेले, कुछ रंग प्यार के, कुछ रंग दुलार के ,कुछ रंग एक दूसरे के साथ के एक दूसरे पे उड़ेले कि आ सखी होली खेले।2.नफरतो के रंग को, दुनिया के प्रपंचो को , अपने अंदर की बुराइयों को चल यही छोड़ चले , की आ सखी होली खेले..........



भारतीय क्रिकेटर्स ने जम कर खेली होली, बॉलीवुड में छाया रहा सन्नाटा

INDIAN CRICKET TEAM HOLI CELEBRATIONहाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम साउथ अफ्रीका दौरे से जीत हासिल कर के भारत लौटी है, इसी बीच कोई सीरीज न होने के कारण हमारे क्रिकेटर्स को अपने परिवार के साथ होली मनाने का मौका मिला। बॉलीवुड में छाया रहा सन्नाटा देखिये पूरी खबर : H



“गीतिका” रंग डालो लली है होली

“गीतिका”रंग डालो लली है होलीगाओ फाग गली है होलीतब देख बहारें होली की भंग रसिया भली है होली॥चाल नागिन केश घुँघरालीनैन कजरा कली है होली॥पाँव लाली महावर लिए होठ दंतन खिली है होली॥आज छैला अधीर हुए हैं भाव भाभी भिगी है होली॥फिर न कहना ये क्या हो गया राग रस मन चली है होली॥देख ग



भारत के वह 7 शहर जहाँ होली मनाने का अपना है अलग ही मज़ा

रंगों का त्यौहार है होली, असत्य पर सत्य की जीत है होली, बुराई पर अच्छाई की जीत है होली। संपूर्ण भारत देश में होली को बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है लेकिन क्या आपको पता है की इस त्यौहार की शुरुआत कब और कैसे हुई और इसे क्यों मनाया जाता है?आइये जानते है : भारत के वह 7 शहर जहाँ होली मनाने क



होली की कथा

हमारी पौराणिक कथाऐं कहती हैं होली की कथा निष्ठुर ,एक थे भक्त प्रह्लाद पिता जिनका हिरण्यकशिपु असुर। थी उनकी बुआ होलिका थी ममतामयी माता कयाधु ,दैत्य कुल में जन्मे चिरंजीवी प्रह्लाद साधु। ईश्वर भक्ति से हो जाय विचलित प्रह्लाद पिता ने किये नाना प्रकार के उपाय, हो जाय ज



“बुरा न मानों होली में”

होली जोगिरा गीत ...... “बुरा न मानों होली में” उडी हवा हैं रंग भंग की छानो मेरे यार भौजी झाँके घर के बाहर पका रही अंचार...... जोगिरा सर र र र र र -1 कैसी कुर्ती कैसी टोपी कैसी री सलवार भीग रही है गोरी दैया बिना रंग बौंछार.......... जोगिरा सर र र र र र-2 सम्हल



होली

लाल पीले हरे नीले गुलाबी जामुनी,हर तरह के रंगों के बीच रंगा हुआ.."हमारा जीवन" कभी कभी लगता है...रंगों ने हमारे जीवन में रंग घोलना छोड़ दिया है...कुछ बातों पर टिप्पणियाँ हम अपने आप से नहीं करते....समीक्षाएं जिन्हे हमने अपने जीवन में कभी जगह दी ही नहीं...चाहकर भी और ना



भाजपा की पत्रिका के संपादक को रोज़ा रखने पर अपने ही दोस्तों ने किया ट्रोल

इमेज कॉपीरइटFACEBOOK @SANJEEV.K.SINHAफ़ेसबुक पर मैंने लिखा, "रमजान का महीना आज से शुरू हो गया है. मैंने भी 30 दिनों के लिए रोजा रखना तय किया है."लिखते ही यह पोस्ट वायरल होने लगा लेकिन इस पर जो टिप्पणियां आईं, उससे मन व्यथित हो गया.कुछ ने इसे अच्छा बताया तो कुछ ने असहमतियां जाहिर कीं, यहां तक तो ठीक



कानपुर में गंगा मेला पर रंग खेलने की खास वजह है.

होली के सुरूर से जब पूरा देश बाहर आ चुका होता है, उसके बाद भी कनपुरियों को जमकर होली खेल ते हुए देखा जा सकता है. ये मौका होता है गंगा मेला का, होली के पांचवें दिन कानपुर में इस दिन जिस तरह से रंग खेला जाता है उस तरह से तो होली पर भी रंग नहीं खेला जाता. कानपुर में ग



बेहद शर्मनाक व् निंदनीय : सिर्फ हिन्दू त्यौहारों के खिलाफ ही मुँह खोलते है गंदे सेक्युलर तत्व - Dainik Bharat

अपनी कथित प्रेमिका अनुष्का शर्मा की तरह विराट कोहली ने भी हिन्दुओ के त्यौहार पर ही निशाना साधा, इन लोगों को सारा समाज सुधार केवल हिन्दुओ के त्यौहारों पर ही सूझता है विराट कोहली ने बड़ी ही घिनोनी और घटिया हरकत होली पर की है विराट कोहली ने होली पर जानवरो के खिलाफ अत्याचार का



सभी मित्रों को होली की शुभकमनाएँ

आप सबके जीवन में खुशियां आये ये मेरी कामना है



त्यौहार है रंगों का

आओ बैर मिटाये ... थोडा गुलाल लगाये ! में रंग दू तुझे लाल तू रंग दे मुझे गुलाल लाल पीला हरा गुलाबी जो चाहो ... बस प्यार से लगाये ! आओ बैर मिटायेअपनो को भिगाये ! नाचे ढोल बजाये बस खुशियां लुटाये ! ! जयति' रंग दो गुलाल गले मिलो लाओ बहार !!! त्यौहार है रंगों का द



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x