असली इंडिया! 26 सालों से मुज़फ़्फरनगर के इस मंदिर की देखभाल कर रहे हैं मुसलमान

मुज़फ़्फरनगर...इस शहर के नाम के साथ ही कई अप्रिय घटनाओं की स्मृतियां जुड़ गई हैं. ये नाम कहीं भी पढ़ते हैं, तो दिमाग़ में पहले ही सवाल कौंध जाता है,'फिर कुछ हुआ क्या?'मुज़फ़्फरनगर शहर में ही एक कस्बा है, लढ्ढेवाला. तंग गलियों और कॉन्क्रीट के घरों का ये कस्बा. कस्बे के एक



राधाष्टमी:----- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सनातन धर्म में भाद्रपद मास बहुत ही विशेष स्थान व महत्व रखता है | अनेक व्रत , पर्व व देवों के अवतरण दिवस होने के कारण ही यह मास विश्ष महत्त्वपूर्ण हो जाता है | बलराम जी का जन्मोत्सव हलछठ हो या कन्हैया जी की जन्माष्टमी या फिर गणेश भगवान का अवतरण दिवस गणेश चतुर्थी सब भाद्रपद मास में ही मनाये जाते है |



विज्ञान भी हुआ फेल, AC बंद करते ही पसीने से भीग जाती हैं देवी मां.....

आजकल ए.सी का ज़माना है। अब घरों और ऑफिसों में गर्मी से निपटने के लिए लोग एसी का प्रयोग करते हैं। अब गर्मी ही इतनी भयंकर पड़ती है कि एसी के बिना काम नहीं चल पाता। ठंडा पानी, कूलर, पंखा ये सब गर्मी के आगे फेल हो जाते हैं और ऐसे में जान बचाता है तो बस एसी।आपको जानकर हैरानी ह



भुलकर भी ना दान करें ये 7 चीज़े, वरना जीवन में आ जाएंगी हर तरह की परेशानियां

आप तो ये सभी जानते ही होंगे की दान पुराणों और शास्त्रों में सबसे सर्वश्रेष्ठ माना गया है फिर किसी चीज का दान हो. दान करने से मनुष्य को अनचाही समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है चाहे वो कन्या का दान क्यों न हो लेकिन अगर आपसे कही अनजाने में किसी गलत चीज का दान हो गया तो उसका अ



ऋषि पंचमी :----- आचार्य अर्जुन तिवारी

*इस धराधाम पर मनुष्य सर्वश्रेष्ठ प्राणी है | परंतु मनुष्य को गलतियों का पुतला भी कहा गया है ` किसी भी समय किसी भी विषय में भूल हो जाना स्वाभाविक है या यूं कहिये कि यह मानव स्वभाव है | जीवन में नैतिक या अनैतिक किसी भी प्रकार की भूलों का प्रायश्चित करने के लिए हमारे महर्षियों ने व्रत विधान बतलाये हैं



इस गणेश चतुर्थी, गणेश जी के इन नारों से गूंज रहा संसार - Ganesh Ji naare / slogan Hindi mein.....

आज से पुरे देश में गणेश चतुर्थी मनाया जा रहा है, ऐसे में हम आपके लिए लेकर आये है गणपति बप्पा के कुछ ऐसे नारे जो आप में श्रधा और उमंग भर देगा |हिंदी में : गणपति बप्पा मोरया, मंगलमूर्ति मोरया, अगले बरस तू जल्दी आ.मराठी में : गणपति बप्पा मोरया, मंगळमूर्ती मोरया, पुढ़च्यावर्षी लवकरया.मालवा में : गणपति ब



122 वर्ष बाद गणेश चतुर्थी पर बन रहा नक्षत्रों और ग्रहों का विशेष संयोग, इन उपायों को करने से होगी हर मनोकामना पूरी !!

गणेश चतुर्थी का उत्सव 12 सितंबर से शुरू हो रहा है। घर-घर गणपति बप्पा मेहमान बनकर अगले 10 दिनों तक विराजमान होंगे। उत्सव को लेकर जगह-जगह तैयारियां शुरू हो गई हैं। घरों, मंदिरों समेत सार्वजनिक स्थलों पर गणेश भगवान की मूर्तियों को विधि-विधान क



तीज का व्रत करने से मिलता है मनचाहा जीवनसाथी, माता गौरी ने भगवान शिव के लिए की थी पूजा

हरियाली तीज पर शिव-पार्वती जी की पूजा और व्रत किया जाता है। शिव पुराण के अनुसार इसी दिन भगवान शिव और देवी पार्वती का पुनर्मिलन हुआ था। इसे छोटी तीज या श्रावण तीज के नाम से भी जाना जाता है। उत्तर भारतीय राज्यों में तीज का त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। यह व्रत और पू



कलियुग :---- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सनातन धर्म में चार युगों का वर्णन मिलता है :- सतयुग , त्रेतायुग , द्वापरयुग एवं कलियुग | आज हम जिस युग में निवास कर रहे हैं उसे कलियुग कहा गया है | हमारे देश भारत में कलियुग के पहले अनेक ऐसे दिव्यदृष्टा ऋषि - महर्षि हुए हैं जिन्होंने कलियुग में घटने वाली घटनाओं का वर्णन पहले ही कर दिया है | वेदव्या



भागवत रसामृत

*बिनु सत्संग विवेक न होई* *प्यारे भगवत्प्रेमी सज्जनों-* *प्रभु की कृपा से संत मिलते हैं आर जब संत मिलते हैं तो सत्संग होता है और सत्संग से ही विवेक विवेक जागृत होता* *सत्य और विवेक एक दूसरे के पूरक हैं ज्ञान होगा तो सत्संग में जाओगे और सत्संग में जाओगे तो ज्ञान मिलेगा जहां पर स



छिन्नमस्तिका मंदिर: भूख की तड़प में देवी मां ने काट लिया था अपना ही सिर, अब होती है पूजा!

रांची। झारखंड की राजधानी रांची से करीब 80 किलोमीटर दूर रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिके मंदिर शक्तिपीठ के रूप में काफी विख्यात है। यहां भक्त बिना सिर वाली देवी मां की पूजा करते हैं और मानते हैं कि मां उन भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूरी करती हैं। मान्यता है कि असम स्थित मां कामाख



श्री कृष्ण के आदर्श :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सम्पूर्ण सृष्टि नारी एवं पुरुष के संयोग से उत्पन्न हुई है | पुरुष में भी जिसका आचरण अतुलनीय हो जाता है उसे "पुरुषोत्तम" की संज्ञा दी जाती है | सनातन साहित्यों में वैसे तो पुरुषोत्तम शब्द का प्रयोग कई स्थानों पर भिन्न भिन्न चरित्रों के लिए किया गया है , परंतु चर्चा मात्र दो की ही प्राय: होती है | जि



भगवान श्री कृष्ण की छठी :--- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सम्पूर्ण विश्व में हर्षोल्लास एवं धूमधाम से मनाया जाने वाला छ: दिवसीय श्रीकृष्ण जन्मोत्सव "जन्माष्टमी" आज भगवान की छठी मनाने के साथ पूर्णता को प्राप्त करेगा | मनुष्य जीवन जन्म लेने की छठवें दिन मनाया जाने वाला यह पर्व विशेष महत्व रखता है | भादों की अंधियारी रात में अष्टमी तिथि को कारागार में जन्म ल



भगवान की छठी :----- आचार्य अर्जुन तिवारी

*सम्पूर्ण विश्व में हर्षोल्लास एवं धूमधाम से मनाया जाने वाला छ: दिवसीय श्रीकृष्ण जन्मोत्सव "जन्माष्टमी" आज भगवान की छठी मनाने के साथ पूर्णता को प्राप्त करेगा | मनुष्य जीवन जन्म लेने की छठवें दिन मनाया जाने वाला यह पर्व विशेष महत्व रखता है | भादों की अंधियारी रात में अष्टमी तिथि को कारागार में जन्म ल



भगवान श्रीकृष्ण के बताए इन 5 सक्‍सेस मंत्र से आप बन सकते हैं करोड़पति

भगवान श्रीकृष्ण के उपदेश आज भी उतने ही महत्वपूर्ण हैं, जितने महाभारत के युद्ध से पूर्व अर्जुन के लिए थे। भगवान श्री कृष्ण का व्यवहारिक ज्ञान का सार आज भी उन तमाम युवाओं के प्रेरणासोत्र हैं जो इस प्रतियोगी युग में सफलता पाने की कामना रखते है।श्रीकृष्ण द्वारा दी गयी शिक्षा



12 सितंबर को हरतालिका तीज, जानिए पूजा की तिथि और शुभ मुहूर्त

अखंड सौभाग्य के लिए किया जाने वाला व्रत हरितालिका तीज 12 सितंबर को है। भाद्र शुक्ल तृतीया बुधा के चित्रा नक्षत्र को तीज व्रत रखा जाता है, जिसमें महिलाएं पतियों के सुख- सौभाग्य, निरोग्यता के लिए माता गौरी की पूजा करती हैं। आचार्य राजनाथ झा बताते हैं कि इस बार सुबह से ही यह



6 सितंबर को शनि बदलेंगे चाल तो कैसा रहेगा आपका हाल

Third party image referenceशनि ही एकमात्र ऐसा ग्रह है जो हम सब के जीवन में अधिक समय तक प्रभावित करता है। इसकी 19 साल की दशा, साढ़े सात साल की साढ़े साती और ढाई ढाई सालों के 2 ढैयये अर्थात 31 वर्षों से भी अधिक समय तक शनि हमारे जीवन में रहता है। जब भी यह राशि बदलता है या वक



हनुमान मूर्ति तोड़ने पहुंची थी दर्जनों मशीनें, धरती पर पहुंचे गुस्साए बजरंग बली ने मचा दिया कोहराम

इस साल जनवरी में शाहजहांपुर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया था। यहां बजरंग बली की करीब 130 साल पुराने मंदिर को तोड़ने को लेकर जमकर हंगामा हुआ। भगवान हनुमान की मूर्ति को हटाने के लिए लगाई गई 3 भारी-भरकम क्रेन और कई मशीनों की हालत खराब हो गई। बताया गया कि करीब तीन दिनों



भगवान की पूर्णता :---- आचार्य अर्जुन तिवारी

!! भगवत्कृपा हि के वलम् !! *भगवान श्री कृष्ण का चरित्र इतना अलौकिक है कि इसको जितना ही जानने का प्रयास किया जाय उतने ही रहस्य गहराते जाते हैं , इन रहस्यों को जानने के लिए अब तक कई महापुरुषों ने प्रयास तक किया परंतु थोड़ा सा समझ लेने के बाद वे भी आगे समझ पाने की स्थिति में ही नहीं रह गये क्



क्या है भगवान की कला ?? आचार्य अर्जुन तिवारी

*भगवान श्री कृष्ण का अवतार पूर्णावतार कहा जाता है क्योंकि वे १६ कलाओं से युक्त थे | "अवतार किसे कहते हैं यह जानना परम आवश्यक है | चराचर के प्रत्येक जड़ - चेतन में कुछ न कुछ कला अवश्य होती है | पत्थरों में एक कला होती है दो कला जल में पाई जाती है | अग्नि में तीन कलायें पाई जाती हैं तो वायु में चार क



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x