कहानी

आने वाला कल बस एक सपना है (Aane Wala Kal Bas Ek Sapna Hai )- फिर तेरी कहानी याद आई

Aane Wala Kal Bas Ek Sapna Hai Lyrics of Phir Teri Kahani Yaad Aayi : Aane Wala Kal Bas Ek Sapna Hai is a beautiful hindi song from 1993 bollywood film Phir Teri Kahani Yaad Aayi. This song is composed by Anu Malik. Kumar Sanu has sung this song. Its lyrics are written by Kaifi Azmi.



दिल में सनम की सूरत (Dil Mein Sanam Ki Soorat )- फिर तेरी कहानी याद आई

Dil Mein Sanam Ki Soorat Lyrics of Phir Teri Kahani Yaad Aayi (1993): This is a lovely song from Phir Teri Kahani Yaad Aayi starring Arun Bakshi, Rahul Roy, Pooja Bhatt and Pooja Bedi. It is sung by Kumar Sanu and Alka Yagnik and composed by Anu Malik. शब्दनगरी पर हो रही चर्चाएं



उम्मीदों की मशाल

रामू की माँ तो अपने पति के शव पर पछाड़ खाकर गिरी जा रही थी.रामू कभी अपने छोटे भाई बहिन को संभाल रहा था ,तो कभी अपनी माँ को.अचानक पिता के चले जाने से उसके कंधों पर जिम्मेदारियों का बोझ आ पड़ा था.पढ़ाई छोड़,घर में चूल्हा जलाने के वास्ते रामू काम की तलाश में सड़को की छान मारता।अंततःउसने घर-घर जाकर रद्दी बेच



यह कैसी जगह - हमारी अधूरी कहानी

ये कैसी जगह फिल्म हमीरी अधुरी कहनी से गीत दीपाली साठे द्वारा गाया जाता है, इसका संगीत जीत गांगुली द्वारा रचित है और गीत रश्मी विराग द्वारा लिखे गए हैं।हमारी अधूरी कहानी (Hamari Adhuri Kahani )यह कैसी जगह की लिरिक्स (Lyrics Of Yeh Kaisi Jagah )यह कैसी जगह ले आये हो तुमयह कैसी नै दिल गाये है धुनमैं



हमारी अधूरी कहानी (Hamari Adhuri Kahani )

'हमरी अधुरी कहानी' एक 2015 हिंदी फिल्म है जिसमें प्रमुख भूमिकाओं में इमरान हाश्मी, विद्या बालन, राजकुमार राव, अमला और मधुरिमा तुली हैं। हमारे पास एक गीत गीत और हमारी अधुरी कहनी का एक वीडियो गीत है। जीत गांगुली ने अपना संगीत बना लिया है। दीपाली साठे ने इन गीतों को गाया है जबकि रश्मी विराग ने अपने गीत



उमंगों पर जवानी छा गयी - अमर कहानी

Umangon Par Jawani Chha Gayi Lyrics of Amar Kahani (1949) is penned by Rajinder Krishan, it's composed by Husnlal-Bhagatram and sung by Suraiyya.अमर कहानी (Amar Kahani )उमंगों पर जवानी छा गयीअब तो चले आओकहीं डाली से डाली मुंह मिला करगीत गाती हैबहार आयी काली भी फूल बनकर मुस्कुराती हैबाहर आके मुझे तड़प



अमर कहानी (Amar Kahani )

'अमर कहानी' 1 9 4 9 की हिंदी फिल्म है जिसमें प्रमुख भूमिकाओं में जयराज, सुरैया, रंजना और जगदीश मेहता हैं। हमारे पास एक गीत गीत और अमर कहनी का एक वीडियो गीत है। हुसनल-भगत्राम ने अपना संगीत बना लिया है। सुरैया ने इन गीतों को गाया है जबकि राजिंदर कृष्ण ने अपने गीत लिखे हैं।इस फिल्म के गाने उमंगों पर जव



पगलिया

चार बजने वाले थे। मुझे पूजा के लिए मन्दिर जाना था इसलिए मैं पूजा की थाली सजा रही थी। दोनो बच्चे अपना होमवर्क करने में व्यस्त थे।छोटे-छोटे बच्चो के इतने भारी -भारी बस्ते ,इन



आत्ममंथन

आराधना का मन आज बहुत व्यथित हो रहा था। वो फुट फुट कर रो रही थी और खुद को कोसे भी जा रही थी। अपने आप में ही बड़बड़ाये जा रही थी "क्या मिला मुझे सबको इतना प्यार करके,सब पर अपना आप लुटा के ,बचपन के सुख ,जवानी की खुशियाँ तक लुटा दी तुमने ,सबको बाटा ही कभी



दुनिया नहीं कुछ मुझे देने वाली

नमस्कार,स्वागत है आप सभी का यूट्यूब चैनल "मेरे मन की" पर|"मेरे मन की" में हम आपके लिए लाये हैं कवितायेँ , ग़ज़लें, कहानियां और शायरी|आज हम लेकर आये है कवियत्री रेखा जी का सुन्दर गीत "दुनिया नहीं कुछ मुझे देने वाली"|आप अपनी रचनाओं का यहाँ प्रसारण करा सकते हैं और रचनाओं



दोहरे मापदण्ड

शुभा सुबह से ही जल्दी -जल्दी अपने काम को निपटाने में लगी हुई थी। वैसे तो ये रोज के ही काम थे,पर आज उन्हे निपटाने की कुछ ज्यादा ही जल्दी थी।सुबह की चाय से लेकर झाडू-पोछा फिर नाश्ता और उसके बाद खाने की तैयारी बस ये ही तो दिनचर्या थी उसकी । हर लडकी को अपने ससुराल में



टीस

यह उन दिनों की बात है ,जब उम्र कुछ ऐसी थी की ज़िन्दगी के बड़े से बड़े फैसले कैन्टीन मे चाय और समोसो के साथ बनते और बिगड़ जाते थे.यह उन दिनों की बात है जब ज़िन्दगी, इनटरवल के पह



जिंदगी --- एक दिन

रात के दस बजे हैं सब अपने -अपने कमरों में जा चुके हैं। आरुषि ही है जो अपने काम को फिनिशिंग टच दे रही है कि कल सुबह कोई कमी ना रह जाये और फिर स्कूल को देर हो जाये। अपने स्कूल की वही प्रिंसिपल है और टीचर भी, हां चपड़ासी भी तो वही है ! सोच कर मुस्कुरा दी। मुस्



मेरे मन की

#meremankeeMere Man Kare "मेरे मन की" पर आपकी रचनाओं के ऑडियो / विडियो प्रसारण के लिए सादर आमंत्रित हैं I निवेदन है कि प्रसारण हेतु ऑडियो / विडियो भेजें I आपकी कवितायेँ, गज़लें , कहानिया , मुक्तक , शायरी , लेख और संस्मरण का प्रसारण करा सकते हैं ISubscribe करने के लिए link को click करें :https://www.y



मेरे मन की

नमस्कार मित्रो,मेरे युट्युब चैनल पर आपका स्वागत है|"मेरे मन की" पर ढेरो साहित्यीक रचनाओं जैसे कवितायेँ, गज़लें , कहानिया , मुक्तक , शायरी , लेख और संस्मरण आदि का आनंद ले सकते हैं|इसके साथ ही आप हिंदी साहित्य से जुड़ी सभी जानकारीयाँ और खबरो का आनंद उठाते रहेंगे|हिंदी सा



सौतेली माँ

आकाश की दूसरी शादी हो चुकी है, पहली शादी उसने 21 साल की उम्र में ही कर ली थी। घरवालों की मर्जी के खिलाफ लव मैरिज की थी। पहली पत्नी का नाम राधा था। 2 साल पहले ही राधा चल बसी। cancer हो गया था उसे, आकाश अपनी लाख नामुमकिन कोशिशों के बाद भी अपन



मन का भंवर

अकस्मात मीनू के जीवन में कैसी दुविधा आन पड़ी????जीवन में अजीव सा सन्नाटा छा गया.मीनू ने जेठ-जिठानी के कहने पर ही उनकी झोली में खुशिया डालने के लिए कदम उठाया था.लेकिन .....पहले से इस तरह का अंदेशा भी होता तो शायद .......चंद दिनों पूर्व जिन खावों में डूबी हुई थी,वो आज दिवास्वप्न सा लग रहा था.....



कहानी - कुऍं को बुखार

कहानी- कुंए को बुखार ओमप्रकाश क्षत्रिय ‘प्रकाश ’ अंकल ने नहाने के कपड़े बगल में दबाते हुए कहा, ‘‘ रोहन ! थर्मामीटर रख लेना। आज कुंए का बुखार नापना है ? देखते हैं कुंए को कितना बुखार चढ़ा है ?’’ ‘‘ जी अंकल ! थर्मामीटर रख लिया ,’’ रोहन ने कहा



Non Resident Bihari : पढ़िएगा जरूर, क्यूंकि मज़ा बहुत आने वाला है

शायद आपने इस किताब को पढ़ा होगा या शायद नहीं भी पढ़ा होगा | खैर मैं तो कहूँगा कि इसे एक बार तो आपको जरूर पढ़ना ही चाहिए | इस किताब की कवर पेज को देखते ही आपके मन में कौतुहल जाग जायेगा कि आखिर इस किताब में क्या है? आप बेचैन होंगे जानने के लिए और इसे पढ़ने के लिए भी |अगर आप बिहार से है, तो आप खुदको शायद



प्यार या खुदगर्जी

कहानी इसी समाज से उठायी जाती हैं बस नाम और शहर बदले जाते हैं ऐसी ही एक कहानी नहीं मैं कड़वी सच्चाई से रूबरू हुई थी मेरे पति की क्लिनिक और हमारा घर एक ही बिल्डिंग में है| एक महिला यदि उसके साथ दो बच्चे बड़ी लडक



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x