इस गंभीर बीमारी से जूझ रही हैं लता मंगेशकर, लोग मांग रहे दुआ

पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड ने एक से बढ़कर एक रत्न को खोया है। बहुत से सितारों का निधन अचानक हुआ जब किसी को इस बात की उम्मीद भी नहीं थी। अब भारतीय सिनेमा की कोकिला लता मंगेशकर की हालत नाजुक है। मुंबई से ऐसी खबर आ रही है कि लता जी को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में वेंटिलेटर पर लिटाया गया है। लता जी



पति का शौक पूरा करने के लिए पत्नी ने किया ऐसा काम रह जाएंगे आप हैरान !

भारत एक अजीबोगरीब देश हैं, यहां टैलेंट की कमी नहीं है। कोई किसी अच्छे काम में अपना टैलेंट दिखाता है तो कोई फालतू के काम में लेकिन सोशल मीडिया के जरिए वे अपना टैलेंट दिखाते जरूर हैं। ऐसा ही एक वाक्या हरियाणा में हुआ जब एक महिला अपने पति की जरूरतों और दूसरे शौक को पूरा करने के लिए ऐसा काम करने लगी जिस



अयोध्या फैसले से नाराज ये फिल्म निर्देशक ने निकाली भड़ास, कहा- बाबरी मस्जिद राष्ट्रीय स्मारक है और...

9 नवंबर को अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया और ये भी बताया कि उस जमीन पर मालिकाना हक हिंदू कमेटी का है जिसपर 3 महीने के अंदर मंदिर बनना चाहिए। इसके अलावा मुस्लिम कमेटी के साथ कोई नाइंसाफी करते हुए उन्हें अयोध्या में ही 5 एकड़ जमीन देने का आदेश भी दिया। इस फैसले के आने के बाद हिंद



सबको स्वदेशी का पाठ पढ़ाकर क्या अब 'पतंजली' बनेगी विदेशी कंपनी?

देशभर में हर कोई योगा के नाम पर बाबा रामदेव को याद करते हैं वैसे ही पतंजलि के नाम पर आचार्य बालकृष्ण का नाम जरूर याद आता है। पतंजलि कंपनी खुलने के बाद से ही बाबा रामदेव और उनके शिष्य आचार्य बालकृष्ण ने हमेशा स्वदेशी चीजों का इस्तेमाल करने पर जोर दिया है। अपने देश में बनी चीजों का इस्तेमाल करना हमारे



जाने कहां खो गए बॉलीवुड के ये खतरनाक विलेन, आप किससे डरते थे?

फिल्मों से आम लोगों का काफी गहरा कनेक्शन होता है क्योंकि लोग इससे खुद को कनेक्ट करने की कोशिश करते हैं। मगर 90 के दशक की फिल्में जिन दर्शकों ने देखी है उन्हें आज की फिल्में खास पसंद नहीं होती क्योंकि आज की फिल्मों में वो कहानी और अभिनय नहीं है जो तब होती थी। आज के लोगों को आधुनिक जमाने की फिल्में पस



अयोध्या: फैसले के बाद जावेद अख्तर का आया ये बयान, कहा- मस्जिद नहीं बननी चाहिए बल्कि..

9 नवंबर की दोपहर 11 बजे तक भारत का एक ऐसा अहम फैसला आया जिसपर पूरी दुनिया की निगाहें थीं। जैसे ही चीफ जस्टिस रंजन गंगोई और उनकी टीम ने ये फैसला सुप्रीम कोर्ट में सुनाया। एक दिन पहले ही मीडिया द्वारा ये बात सामने आ गई थी कि 9 नवंबर को 10.30 बजे फैसला आएगा और इसके बाद से ही प्रशासन ने यूपी में हाई एलर



ये पाकिस्तानी हसीना इस तरह निकलवाती थी भारतीय सैनिकों से जरूरी जानकारी

भारतीय सैनिकों की वाहवाही हमेशा से देशवासी करते आए हैं क्योंकि ये सरहद पर हम सबकी रक्षा करते हैंं। वे वहां पर जगते हैं तभी हम अपने-अपने घरों में चैन से सो पाते हैं और ये एक सच में बहुत बहदुरी का काम है। मगर सरहद पर रहने वाले जवान भी तो आपकी और हमारी तरह इंसान हैं और उनका मन भी किसी ना किसी के प्रति



छोटे शहर की खुशबू

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></



गंगोई के कार्यकाल के बस 5 दिन बचे, क्या कुछ ही दिनों में आ जाएगा अयोध्या पर फैसला

16 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट की पांचों बेंच ने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुरक्षित कर रखा था। अयोध्या विवाद मामले पर फैसले की घड़ी बस आने ही वाली है और बहुत संभव की बात है कि इसपर फैसला कल या परसो आ सकता है। राम मंदिर और बाबरी मस्जिद मामले में बहुत कुछ ऐसा हुआ है कि हिंदू-मुस्लिम अपने-अपने हक़ में फ



आस्था बनाम श्रद्धा

हम लोग प्रायः आस्था और अंध श्रद्धा में भेद करना भूल जाते हैं, इसी विषय पर प्रस्तुत है डॉ दिनेश शर्मा का एक लेख... बड़ी अच्छी तरह इस लेख में डॉ शर्मा ने इस बात को बताने का प्रयास किया है. ..आस्था बनाम अंध श्रद्धाडॉ दिनेश शर्माआज



लव रिलेशनशिप -: 8 नवम्बर से इन दो राशियों को मिलेगी अपनी अधूरी मोहब्बत

मकर राशिकल ८ नवंबर २०१९ मकर राशि वाले जातको के लिए बड़ा शुभ दिन है | इन राशि वालो को कल अपना सच्चा प्यार मिल सकता है जो आपकी भावनाओं की कद्र करेगा | जो आपके दुःख और सुख में आपका साथ देगा| आपके जीवन के अटके सभी कार्य में सफलता प्राप्त होगी| संतान की सफलता से आपका मन अत्यधिक



स्टारडम मिलते ही बदल गए रानू मंडल के तेवर, फैन से कहा- 'छुआ कैसे? अब मैं...'

पिछले दो महीनों से सोशल मीडिया पर रानू मंडल नाम का एक सितारा जगमगा रहा है। रेलवे स्टेशन से उठकर आज बॉलीवुड में जा बसी हैं लेकिन स्टारडम का अहम् इनके अंदर आ गया है कि लोगों से इस कदर बात करने लगी हैं। कभी रेलवे स्टेशन पर लता मंगेशकर का पॉपुलर गाना 'एक प्यार का नगमा है' गाया और फिर ये गाना इतना वायरल



इस करोड़पति बाप के बेटे की हालत हो गई 'भिखारी' जैसी ! कौन है ये?

हिंदी फिल्मों में आपने कई ऐसी कहानियां देखी होगी जिसमें बच्चा बचपन में मां-पिता से बिछड़ जाता है और फिर बहुत ही गरीबी से जिंदगी गुजारता है। बाद में बड़ा होकर वो अपने परिवार से किसी और ही सूरत में मिलता है। ऐसा असल जिंदगी में भी हुआ जब एक करोड़पति माता-पिता का बेटा बिछड़ गया और जब बड़ा होकर मिला तो म



अंबानी खानदान की बहू मुंबई रेलवे स्टेशन पर कर रही हैं ऐसा काम, क्या हो गई है हालत !

अंबानी खानदान हमेशा सुर्खियों में बना रहता है, फिर चाहे अंबानी खानदान की बेटी हो, बेटा हो या फिर कोई हो। मगर इस बार अंबानी खानदान की बहू श्लोका मेहता हमेशा लाइमलाइट में बनी रहती है। श्लोका की हर एक तस्वीर सुर्खियां बटोरती रहती हैं और इस बीच श्लोका की एक पुरानी तस्वीर



किताबें पढ़ने से होते है ये फ़ायदे

<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val



सुख और दुःख

सुखऔर दुःखजीवन में अनुभूत सुख अथवा दुःख अच्छेया बुरे जीवन का निर्धारण नहीं करते | क्योंकि जीवन सुख-दुख, आशा-निराशा, मान-अपमान, सफलता-असफलता, दिन-रात,जीवन-मृत्यु आदि का एक बड़ा उलझा हुआ सा लेकिन आकर्षक चित्र है | सुखी व्यक्ति वहनहीं है जो सदा “सुखी” रहता है, बल्कि सुखी व्यक्ति वह है जोदुःख में भी सुख



एक कलम हूं मैं

<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKer



अच्छा जीवन

अच्छाजीवनकल कोई मित्र घर पर आए हुए थे | बातोंबातों में वो कहने लगे “हम तो और कुछ नहीं चाहते, बस इतना चाहते हैं किहमारा बेटा अच्छा जीवन जीये... अब देखो जी वो हमारे साले का बेटा है, अभी तीन चार साल ही तो नौकरी को हुए हैं, और देखोउसके पास क्या नहीं है... एक ये हमारे साहबजादे हैं, इनसेकितना भी कहते रहो



बॉलीवुड के क्लॉसिक प्रेम त्रिकोण

चाहे बात हॉलीवुड की हो या बॉलीवुड की प्रेम कहानियांहमेशा से ही दर्शकों की प्रिय रही है। हमेशा ऐसा नहीं होता कि प्रेम कहानी नायकनायिका और खलनायक के इर्द गिर्द ही घुमती हो। कभी कभी इंसान नहीं वक्त ही खलनायकबन जाता है और आ जाता है प्रेम कहानी तीसरा कोण, जी हां आज के इस लेख म



जेकर जाग जाला फगिया उहे छठी घाट आये.

जेकर जाग जाला फगिया उहे छठी घाट आये..**************आठ दशक पूर्व खत्री परिवार ने मीरजापुर में शुरू की थी छठपूजा*******************काँच ही बांस के बहंगिया बहँगी लचकत जायेपहनी ना पवन जी पियरिया गउरा घाटे पहुँचायगउरा में सजल बाटे हर फर फलहरियापियरे पियरे रंग शोभेला डगरिया



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x