अनुशासन का महत्व:क्या और



शिव अवतार

भगवान् शिव के कई अवतार हुए उनके 1 हजार नाम भी है अक्सर लोग उनको देवी पार्वती के पति के रूप में जानते है या गणेश भगवान् के पिताजी के रूप में ! कुछ लोग देवी सती के पति के रूप में उनके अवतार को देवी पार्वती के पति वाला अवतार मान लेते है जबकि देवी



हर पल सिखाती ज़िंदगी

दोस्तों,मैं कोई शायरा,लेखिका या कवित्री नहीं हूँ। मैंने जवानी के दिनों में डायरी के अलावा कभी कुछ नहीं लिखा। हां, बचपन से कुछ लिखने की चाह जरूर थी। लेकिन किस्मत कुछ ऐसी रही कि छोटी उम्र से ही जो पारिवारिक जिमेदारियो में उलझी तो उलझी ही रह गई। उम्र के तीसरे पड़ाव में आ



प्रकृति और इंसान

नदी,सागर ,झील या झरने ये सारे जल के स्त्रोत है. यही हमारे जीवन के आधार भी है. ये सब जानते और मानते भी है कि " जल ही जीवन है." जीवन से हमारा तातपर्य सिर्फ मानव जीवन से नहीं है. जीवन अर्थात " प्रकृति " अगर प्रकृति है तो हम है .लेकिन सोचने वाली बात है कि क्या हम है



व्याकुल पथिक

इन रस्मों को इन क़समों को इन रिश्ते नातों को सुबह दो घंटे अखबार वितरण और फिर पूरे पांच घंटे मोबाइल के स्क्रीन पर नजर टिकाये आज समाचार टाइप करता रहा। वैसे, तो अमूमन चार घंटे में अपना यह न्यूज टाइप वाला काम पूरा कर लेता हूं, परंतु आज घटनाएं अधिक रहीं । ऊपर से प्रधानमंत्री के दौरे पर भी कुछ खास तो ल



महिला सशक्तिकरण

महिला सशक्तिकरण आज के समय में एक ऐसा शब्द है जिसे हम आये दिन अखबारों, टेलीविजन इत्यादि में देखते तथा सुनते रहते है|पर क्या आजादी के 70 साल पूरे होने के बाद भी देश को महिला सशक्तिकरण की आवश्यकता है? क्या महिला सशक्तिकरण आज के समय में बस एक र



कन्नड़ लेखकों ने सरकारी स्कूलों को बचाने के विरोध के बारे में चेतावनी दी

उल्लेखनीय कन्नड़ लेखकों और बुद्धिजीवियों ने शनिवार को गोकक की तरह आंदोलन शुरू करने की धमकी दी, यदि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सरकारी स्कूलों में विलय करने और अंग्रेजी-मध्यम वर्गों को शुरू करने के लिए अपने बजटीय प्रस्तावों को वापस नहीं लेते हैं।ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता चंद्रशेखर कंबारा, लेखक चंद्रश



कन्नड़ लेखकों ने सरकारी स्कूलों को बचाने के विरोध के बारे में चेतावनी दी

उल्लेखनीय कन्नड़ लेखकों और बुद्धिजीवियों ने शनिवार को गोकक की तरह आंदोलन शुरू करने की धमकी दी, यदि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सरकारी स्कूलों में विलय करने और अंग्रेजी-मध्यम वर्गों को शुरू करने के लिए अपने बजटीय प्रस्तावों को वापस नहीं लेते हैं।ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता चंद्रशेखर कंबारा, लेखक चंद्रश



कन्नड़ लेखकों ने सरकारी स्कूलों को बचाने के विरोध के बारे में चेतावनी दी

उल्लेखनीय कन्नड़ लेखकों और बुद्धिजीवियों ने शनिवार को गोकक की तरह आंदोलन शुरू करने की धमकी दी, यदि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सरकारी स्कूलों में विलय करने और अंग्रेजी-मध्यम वर्गों को शुरू करने के लिए अपने बजटीय प्रस्तावों को वापस नहीं लेते हैं।ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता चंद्रशेखर कंबारा, लेखक चंद्रश



कन्नड़ लेखकों ने सरकारी स्कूलों को बचाने के विरोध के बारे में चेतावनी दी

उल्लेखनीय कन्नड़ लेखकों और बुद्धिजीवियों ने शनिवार को गोकक की तरह आंदोलन शुरू करने की धमकी दी, यदि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी सरकारी स्कूलों में विलय करने और अंग्रेजी-मध्यम वर्गों को शुरू करने के लिए अपने बजटीय प्रस्तावों को वापस नहीं लेते हैं।ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता चंद्रशेखर कंबारा, लेखक चंद्रश



टेसू की टीस या पलाश की पीर। .....

सुर्ख अंगारे से चटक सिंदूरी रंग का होते हुए भी मेरे मन में एक टीस हैं.पर्ण विहीन ढूढ़ वृक्षों पर मखमली फूल खिले स्वर्णिम आभा से, मैं इठलाया,पर न मुझ पर भौरे मंडराये और न तितली.आकर्षक होने पर भी न गुलाब से खिलकर उपवन को शोभायमान किया.मुझे न तो गुलदस्ते में सजाया गया और न ही माला में गूँथकर द



जीना इसी का नाम है......

व्यक्ति क्या चाहता है, सिर्फ दो पल की खुशी और दफन होने के लिए दो गज जमीन, बस... इसी के सहारे सारी जिन्दगी कट जाती है। तमन्नाएं तो बहुत होती है, पर इंसान को जीने के लिए कुछ चन्द शुभ चिन्तक की, उनकी दुआओं की जरूरत होती है।आज सभी के पास सब कुछ है मग



समंदर - " मेरी नज़र में "

क्या कभी आपने समंदर किनारे बैठ कर उसकी आती जाती लहरों को ध्यान से देखा हैं .सागर दिन में तो बिलकुल शांत और गंभीर होता है. ऐसा लगता है जैसे अपने अंदर अनको राज छुपाये ,अपना विशाल आँचल फैलाये एक खामोश लड़की हो जिसने सारे जहान के दर्द और सारी दुनिया की गन्दगियो को अपने दामन मे समेट रखा है. ले



बेटियों की सिसकियाँ

माँ …मुझे मौत दे दो ???? मर्म की चीख जागरुकता लेख क्यों आज हर माँ को यह कहने की स्थिति में पहुँचा दिया है कि… 'अगले जन्म मुझे बिटिया न दीजो' और एक बेटी को यह कहने पर मजबूर होना पड़ रहा है कि… 'अगले जन्म मुझे बिटिया ना कीजो' आज देश में जो हालात हैं छोटी-छोटी बेटियाँ सुरक्षित नहीं हैं उनको यूँ क



पुण्यस्मरण बाबा नागार्जुन -- जन्म दिन विशेष --

परिचय--- बाबा नागार्जुन हिंदी और मैथिलि साहित्य के वो विलक्षण व्यक्तित्व हैं जिनकी-- काव्यात्मक प्रतिभा के आगे पूरा साहित्य जगत नत है | इन का जन्म 30 जून 1911 को बिहार के दरभंगा जिले के ''तौरानी''नामक गाँव में मैथिलि ब्राह्मण परिवार में हुआ |संयोग ही रहा क



संत कबीर लेख ---------- कबीर जयंती पर विशेष

हिंदी साहित्य में कबीर भक्ति काल के प्रतिनिधि कवि के रूप में जाने जाते हैं | इसके अलावा वे भारत वर्ष के सांस्कृतिक और अध्यात्मिक जीवन को ऊर्जा देने वाले प्रखर प्रणेता हैं | उनकी ओजमयी फक्कड वाणी आज भी प्रासंगिक है | कौन है ज



सौतेली माँ

आकाश की दूसरी शादी हो चुकी है, पहली शादी उसने 21 साल की उम्र में ही कर ली थी। घरवालों की मर्जी के खिलाफ लव मैरिज की थी। पहली पत्नी का नाम राधा था। 2 साल पहले ही राधा चल बसी। cancer हो गया था उसे, आकाश अपनी लाख नामुमकिन कोशिशों के बाद भी अपन



माँ बसुन्धरा

 माँ बसुन्धरा कोनमन करेंदो फूल श्रधा केअर्पण करेंन होने दें क्षरणमाँ कासब मिलकर यह प्रणकरें।कितना सुन्दर धरतीमाँ का आँचलपल रहा इसमें जगसारा,अपने मद के लिएक्यों तू मानवफिरता मारा-मारासंवार नहीं सकतेइस आँचल को तोविध्वंस भी तो नाकरें,माँ बसुन्धरा कोनमन करें।हिमगिरी शृंखलाओंसे निरंतरबहती निर्मल जलधारा



परिवर्तन या पीढ़ियों में अन्तर

उम्र के तीसरे पड़ाव में हूँ मैं .बचपन और जवानी के सारे खुबसुरत लम्हो को गुजर कर प्रौढ़ता के सीढ़ी पर कदम रख चुकी हूँ .तीन पीढ़ियों को देख लिया है या यूँ कहे की उनके साथ जी लिया है. बदलाव तो प्रक्रति का नियम है इसलिए घर परिवार, संस्कार और समाज में भी निरंतर बदलाव होत



कौन होगा अगला पीएम

इन चार वर्षो के दौरान कई राज्यों में विभिन्न चुनाव हो गये. कही भाजपा ने बहुमत पाई तो कही बिना बहुमत के ही जोड़तोड़ कर सरकार बनाई. लेकिन सबसे अहम् वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव होगा और सभी की निगाहे अबकी बनने वाली सरकार और प्रधानमंत्री पर टिकी है. शायद इसबार भाजपा की सरकार और मो



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x