ए टू ज़ेड राजनीति

सी ए ए ,एन सी आर , एन पी ए , डिटेन्शन सेंटर की ए बी सी डी ने देश में कोहराम मचा रखा है । साथ ही शायद मच रहे उत्पात के पीछे मुद्दों की ए बी सी डी न समझना भी है । उपरोक्त मुद्दों पर जिसकी जो राय हो उसका सम्मान करते हुए मैं सिर्फ दृष्टिगत



आतंकवाद के साये में कमजोर होता दक्षेस

शबांग्लादेश के तात्कालिक राष्ट्रपति जियाउर रहमान द्वारा 1970 के दशक में एक व्यापार गुट सृजन हेतु किए गए प्रयासों के परिणामस्वरूप दिसम्बर 1985 में दक्षिण एशियाई देशों के उद्धार के लिए दक्षेस जैसे संगठन को विश्व पटल पर लाया गया। यह संगठन सार्क या दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) नाम से जान



आतंकवाद के साये में कमजोर होता दक्षेस

आतंकवाद के साये में कमजोर होता दक्षेस________________________________बांग्लादेश के तात्कालिक राष्ट्रपति जियाउर रहमान द्वारा 1970 के दशक में एक व्यापार गुट सृजन हेतु किए गए प्रयासों के परिणामस्वरूप दिसम्बर 1985 में दक्षिण एशियाई देशों के उद्धार के लिए दक्षेस जैसे संगठन को विश्व पटल पर लाया गया। यह सं



मुंबई में घूमने वाली ये हैं 10 शानदार जगह | Tourist Places in Mumbai in Hindi

भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई जो महाराष्ट्र की शान माना जाता है। यहीं पर भारत के बड़े-बड़े उद्योगपति, फिल्म स्टार्स, खिलाड़ी और दूसरी फील्ड के लोग रहते हैं। यहां पर स्थित बॉलीवुड में सबसे ज्यादा और बड़ा कारोबार होता है इसलिए इसे भारत की



Amazon के मालिक Jeff Bezos इस तरह बने दुनिया के सबसे अमीर आदमी

इंसान अपने जीवन में जो कुछ भी चाहता है वो कर सकता है बस उसके अंदर कुछ कर दिखाने की प्रेरणा कहीं से आनी चाहिए। हर इंसान बड़ा आदमी बनना चाहता है लेकिन ऊंचाईयों तक वो ही जाता है जो जिसके इरादे कुछ हटके हों और Jeff Bezos उन्हीं में से एक हैं। हर किसी की तरह जैफ बेजोस ने भी अपने करियर की शुरुआत एक नौकरी



राजनेता उतने ही सच्चे है जितनी खुद को वर्जिन बताने वाली वेश्याएँ - दिनेश डॉक्टर

डॉ दिनेश शर्मा बहुत से सम सामयिक मुद्दों पर अपनी बेबाक राय के लिए जानेजाते हैं | मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य पर एक बार फिर से उनकी बेबाक राय... एक बारज़रूर पढ़ें और पसंद आए तो शेयर करें..राजनेता उतने ही सच्चे है जितनी खुद को वर्जिन बताने वाली वेश्याएँ - दिनेशडॉक्टरएक आध प्रतिशतअपवाद को छोड़ दें तो दुनिया



2002 गुजरात दंगों में फैले थे ये भ्रम, जो अब टूट चुके हैं | 2002 Gujarat riots in Hindi

साल 2002 के समय गुजरात में एक बड़ा हादसा हुआ था जिसका जिम्मेदार तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को माना गया। गुजरात दंगों के बाद विपक्ष पार्टियों ने नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल करने की कोशिश खूब की और विरोधियों ने ऐसा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। साल 2002 से लेकर कई सालों तक एक भी दिन ऐसा नहीं था



विश्व के महान शासक नेपोलियन बोनापार्ट का जीवन-परिचय

अभी तक आपने भारत के कई महान योद्धाओं के बारे में जाना और पढ़ा होगा लेकिन दुनिया के जो महान शासक थे उनके बारे में शायद ही आपने सुना हो। इनका नाम नेपोलियन बोनापार्ट था जो फ्रांस के एक महान शासक थे। नेपोलियन ने कभी हारना सीखा ही नहीं था, उन्होंने अपने मजबूत इरादे और अटूट दृढ़संकल्पों के साथ दुनिया के ब



दक्खिन का दर्द

संजय चाणक्य " तेरा मिजाज तो अनपढ़ के हाथों का खत है! नजर तो आता है मतलब कहां निकलता है!!’’ मेरी नानी बचपन में कहती थी कि दक्खिन की ओर मुह करके खाना मत खाओं,दक्खिन की ओर पांव करके मत सोओं। गांव में बड़े-बुजुर्ग कहते थे कि गांव के दक्खिन टोला में मत जाना। हमेशा सोचता था



मथुरा घूमने की कर रहे हैं तैयारी तो इन अद्भुत जगहों पर जाना ना भूलें

भारत में घूमने के लिए बहुत सारी जगहें हैं लेकिन जो बातें धार्मिक प्लेज की है वो कहीं की नहीं है। उन धार्मिक जगहों में एक उत्तर प्रदेश में बसा मथुरा है जिसे भगवान श्रीकृष्ण की नगरी माना जाता है। यहां का शुद्ध वातावरण आपको वहां से वापस आने नहीं देता है क्योंकि यहां का वातावरण बहुत ही पवित्र महसूस होता



काश दिमागों की हार्ड डिस्क फॉर्मेट हो सकती - दिनेश डॉक्टर

मौजूदा हालातों में - जहाँ हर ओर राजनीतिक अफरा तफरी का माहौल बना हुआ है, राजनीतिक पार्टियाँ आम जनता को उकसाकर दंगे भड़काने का कामबड़े सुनियोजित ढंग से करने में लगी हुई हैं, डॉ दिनेश शर्माके इस लेख को पढ़कर यदि हम और आप यानी जन साधारण कुछ सकारात्मक सोच सकें तो अच्छाहो और भविष्य में और अधिक नुकसान होने से



12वीं के बाद कौन सा कोर्स होता है सही? | Best Courses after 12th

अक्सर बचपन से हमें बताया जाता है कि 12वीं कर लो फिर आराम ही आराम है लेकिन क्या सच में ऐसा होता है? इसके बाद ही तो जिंदगी की असली लड़ाई शुरु होती है और किसी को पता नहीं होता कि Best Courses after 12th आखिर है क्या और किस क्षेत्र में हमें अपना करियर बनाना चाहिए। ज्यादात



अगर आप भी IIMC में दाखिला लेना चाहते हैं तो आपको करना होगा ये

दुनिया में अलग-अलग तरह के प्रोफेशन होते हैं जिसमें लोग अपनी-अपनी पसंद के प्रोफेशन में करियर बनाते हैं जिसमे डॉक्टर्स, इंजिनियर्स, टीचर या फिर पत्रकार जैसे प्लेटफॉर्म्स हैं। अगर आप पत्रकार बनना चाहते हैं तो आपको IIMC से बेहतर कोई विकल्प नहीं, क्योंकि यहां से पढेे हुए ब



हमारे पड़ोसी नीरू भाई लंठानी के लौंडे

डॉ. दिनेश शर्मा ने जिस तरह मज़ाक़ मज़ाक़ में क़र्ज़से लेकर साईबर क्राइम तक का हिसाब समझाया है, पढ़कर वास्तव में समझ आ गया... आप भी पढ़ें...हमारेपड़ोसी नीरू भाई लंठानी के लौंडे - दिनेश डॉक्टर मेरे और मेरे जैसे बहुत सारे घोंचूओ के अम्बानी, अडानी, अदनानी न बन कर छोटे से फ्लेट के दड़बे मेंजिंदगी गुज़ार देने के पीछ



क्या बेवजह है नागरिक संशोधन कानून का विरोध? जानिए क्या है NRC?

11 दिसंबर, 2019 को भारतीय संसद में CAA (नागरिक संशोधन कानून, 2019) पास किया गया, इसमें 125 मत पक्ष में रहे और 105 मत वुरुद्ध भी रहे। ये बिल पास तो हो गया और फिर इस विधेयर को 12 दिसंबर को राष्ट्रपति की मंजूरी भी मिल गई लेकिन इसके बाद देशभर में अलग-अलग जगह विरोध प्रदर्शन होने लगा। CAB, CAA और NRC लगभग



क्या है यूनिफॉर्म सिविल कोड?| What is Uniform Civil Code in Hindi

सितंबर के महीने में सुप्रीम कोर्ट द्वारा ये बात सामने आई कि देश में नागरिक संहिता लागू करने के लिए अब तक कोई प्रयास नहीं किया गया। जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस अनिरुद्ध बोस की पीठ ने एक मामले के फैसले में ये टिप्पणी की। अदालत ने इस बारे में कहा कि गोवा इसका शानदार उदा



OMG: अमेरिका में बिक रहा है गाय के गोबर का 'केक'!

आज का समय ऐसा आ गया है जब हर चीज ऑनलाइन हो गया है और हर छोटी बड़ी चीजें ऑनलाइन मिलने लगी हैं। फिर वो कैसी भी चीजें हों और उन्हें आप कई दूसरी शॉपिंग एप पर पा सकते हैं लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि गांव-घर में मिलने वाला गोबर का गोएठा जिसे आम भाषा में लोग कंडा कहते हैं उसे अब सिर्फ भारत के गांवों में



जामिया में हुई हिंसा के बाद अरेस्ट हुए 10 लोग, पुलिस ने इन्हे लेकर किया बड़ा खुलासा

रविवार को नागरिक संशोधन बिल पास होने पर देशभर में छात्रों का गुस्सा फूट रहा है। रविवार रात में जामिया यूनिवर्सिटी के कैंपस में पुलिस द्वारा लाइब्रेरी में लाठीचार्ज करने के बाद बात और भी बिगड़ गई है। पूरे कॉलेज को 5 जनवरी के लिए बंद कर दिया गया है और बच्चे हॉस्टल छोड़क



जीवन

<!-- wp:paragraph -->नमस्ते, कैसे हे आप सब लोग मुझे आज बहुत ख़ुशी हो रही हे की आज में अपनी पहली पोस्ट लिखने जा रही हु में आशा करती हु की आप सब लोगो को मेरे विचार अच्छे लगेंगे और आप मुझे सपोर्ट करेंगे और मुझे प्रोत्साहित करेंगे द



कैसे बढ़ गई अचानक इतनी ठंड? जानिए वजह

दिसंबर का महीना है तो ठंड होना लाज़मी है और उत्तर भारत में जितनी ठंड पड़ती है उतनी कहीं नहीं पड़ती। मगर पिछले दो दिनों से ठंड इतनी तेज और हवा इतनी बर्फीली हो गई है कि लोग समझ नहीं पा रहे ऐसा क्यों हो रहा है। लोगों का कहना है कि इतनी ठंड अभी से है तो जनवरी में क्या हाल होगा तो आपको बता दें कि फिलहाल



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x