अवसर

आज का सुवचन



कमज़र्फ़ के एहसान से अल्लाह बचाये

''डिग्री, मेहनत और योग्यता, रखी रही बेकार गयी, उनकी हर तिकड़म रंग लाई, हमें शराफत मार गई." सत्ताधारी दल के सामने विपक्ष की यह बेबसी जग जाहिर है. विपक्ष सत्ताधारी दल को हमेशा देश के कानून की पेचीदगियां बता-बताकर उसे बार-बार चे



तनाव मुक्त रहें!

आज का सुवचन



समय की बचत

आज का सुवचन



शाह सच बोल रहे हैं .....

''सच्चाई छिप नहीं सकती ,बनावट के उसूलों से , कि खुशबू आ नहीं सकती कभी कागज़ के फूलों से .'' दुश्मन फिल्म का ये गाना एकाएक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के इस दावे '' ढाई साल से थी नोटबंदी की तैयारी '' पढ़ते ही ज़ुबान पर आ गया .शाह का यह बयां मोदी के द्वारा नोटबंदी की आड़ मे



कार्य

आज का सुवचन



सावधान! फोन पर किसी से भी न शेयर करें ये डिटेल पढ़ें इस शख्‍स का हाल

बैंक इस पूरे मामले से अपना पलड़ा झाड़ रही है। पुलिस मामले की जांच करने की बात कर रही है।यूपी के कानपुर जिले में एक शख्‍स के साथ धोखाधड़ी कर अकाउंट से हजारों रुपए निकालने का मामला सामने आया है। बैंक के नाम से आया एक फोन और मांगी ये डिटेल- मामला कानपुर के गांधी ग्राम का



'जब भी मैं ये तस्वीर देखता हूं, मर जाने का दिल करता है'

जब इंसानियत क़त्ल होती है तो सच कहूं. समझ नहीं आता किन अल्फाजों का इस्तेमाल करूं, जिनसे जरा सा ही सही दुःख का एहसास करा सकूं. पता नहीं क्या है कि हम ज़ुल्म को ज़ुल्म क्यों नहीं समझते. उन्हें अपने हिसाब के खांचों में डाल कर तर्क पेश करते हैं. और फिर वो ज़ुल्म, ज़ुल्म नहीं लगता. और फिर तस्वीर आती है किसी ब



अरूणाचल प्रदेश : सी एम हाउस का वास्तु सुधारें

अरुणाचल प्रदेश में सी.एम्.हाउस में तीन सी.एम्. की मौत के बाद वहां की सरकार भी भूत-प्रेत में विश्वास करने लगी और बंगले को पूजा पाठ के बाद गेस्ट हाउस में तब्दील करने की योजना पर काम करने में जुट गयी .इसे कहते हैं समस्या के सही निदान की न सोचकर इधर-उधर हाथ पैर मारना, हमें स्वयं विचार करना चाहिए कि



सफल

आज का सुवचन



अनुकरण

आज का सुवचन



🚩महाआश्चर्य!

🚩भारतवासी,1 जनवरी को #देश की आजादी के लिए #शहीद होने वाले अमर वीर गोकुल सिंह को भूल गए..!!!पर #गुलाम बनाने वाले #अंगेजों के #नववर्ष को याद रखे..!🚩1669 की क्रान्ति के जननायक, परतंत्र #भारत में असहयोग आन्दोलन के जन्मदाता, #राष्ट्रधर्म र



लक्ष्य

आज का सुवचन



नववर्ष मंगलमय हो!

नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं



नववर्ष पर संदेश

नववर्ष की आप सबको शुभकामनाएं ....



अवसर

आज का सुवचन



सोनिया-मुलायम :राजनीति के आदर्श

''जो भरा नहीं है भावों से , बहती जिसमे रसधार नहीं . वह ह्रदय नहीं है पत्थर है , जिसमे स्वदेश का प्यार नहीं .'' बचपन से राष्ट्रप्रेम की ये पंक्तियाँ पढ़ते हुए ह्रदय में राष्ट्र भावना सर्वोपरि रही किन्तु आज के दो समाचार इस भावना में थोड़ा सा हेर-फेर कर गए और व



योजना

आज का सुवचन



अब और न मरेंगे मोदी जी

"कुछ लोगों को मनसब गूंगा बहरा कर देते हैं, रोटी मंहगी करने वाले जहर को सस्ता कर देते हैं." गुलजार देहलवी की ये पंक्तियाँ हमें रूबरू करा रही हैं उन परिस्थितियों से जो हमारे मीडिया द्वारा बनाये गये, अच्छे दिनों की सोच लाये गये नई - नई जैकिट, कुर्ते व सूट से सजाये



पूर्ण ध्यान

आज का सुवचन



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x