लाइफ

लाइफ

लाइफ एक है यात्रा



फेलियर को अगली क्लास में क्यों नहीं

कहने वाले गलत कहते है कि जिंदगी में हार-जीत के कोई मायने नहीं है. हार, हार होती है और जीत, जीत. हर किसी को जीत का ही आशीर्वाद दिया जाता है. अगर हार-जीत का कोई मतलब नहीं है, तो फिर हार की दुआएं क्यों नहीं दी जाती. विनिंग मेडल हारने वालों के गले में क्यों नहीं डाला जाता. फेल होने वालों को अगली क्लास म



सोनिये हीरिये - लाइफ इस ब्यूटीफुल

सोनिया हेरिए लाइफ इज़ ब्यूटीफुल के गीत (2014): यह मनोज अमरनी, अनोखी दलवी, नैन्सी ब्रुनेटा, पार्थ नाइक और राज जुत्शी अभिनीत लाइफ इज सुंदर से एक प्यारा गीत है। यह रिचा तिरुपति और फरहाद द्वारा गाया जाता है और जॉन हंट द्वारा रचित किया जाता है।लाइफ इस ब्यूटीफुल (Life is Beautiful )सोनिये हीरिये की लिर



क्या सुनाऊं - लाइफ इस ब्यूटीफुल (२०१४) मूवी सांग

फिल्म लाइफ इज ब्यूटीफुल - 2014 से कया सुनून गीत के साथ पढ़ें और गाएं जो सोनू निगम और श्रेया घोषाल द्वारा गाया जाता है। आप लाइफ इज ब्यूटीफुल से अन्य गाने और गीत भी प्राप्त कर सकते हैं। काय सुनून विमल कश्यप द्वारा लिखी गई है और संगीत जॉन हंट द्वारा रचित है।लाइफ इस ब्यूटीफुल (Life is Beautiful )क्या सु



मंज़िलें - लाइफ इस ब्यूटीफुल

Manzilein गीत फिल्म लाइफ इज़ सुंदर सुंदर मनोज अमरानी, ​​अनोखी दलवी और नैन्सी ब्रुनेटा अभिनीत है। मनोज अमरानी ने भी इस फिल्म का निर्माण और निर्देशन किया है। जॉन हंट द्वारा रचित इस साउंडट्रैक। संजय संकला ने इसे संपादित किया है और क्रेडिट लिखते समय मनोज अमरानी और संजय संकला जाते हैं। फिल्म 22 अगस्त, 20



सजना वे - लाइफ इस ब्यूटीफुल - विमल कश्यप

सजना वी लाइफ्स ऑफ लाइफ इज ब्यूटीफुल (2014): यह मनोज अमरनी, अनोखी दलवी, नैन्सी ब्रुनेटा, पार्थ नाइक और राज जुत्शी अभिनीत लाइफ इज सुंदर से एक सुंदर गीत है। यह Rahat Fateh अली खान द्वारा गाया जाता है और जॉन हंट द्वारा रचित है।लाइफ इस ब्यूटीफुल (Life is Beautiful )सजना वे विमल कश्यपकी लिरिक्स (Lyric



लाइफ इस ब्यूटीफुल (Life is Beautiful )

'लाइफ इज़ ब्यूटी' एक 2014 हिंदी फिल्म है जिसमें मनोज अमरानी, ​​अनोखी दलवी, नैन्सी ब्रुनेटा, पार्थ नाइक और राज जुत्शी प्रमुख भूमिका निभाते हैं। हमारे पास 4 गाने के गीत और जीवन के 3 वीडियो गाने हैं। जॉन हंट ने अपना संगीत बना लिया है। राहत फतेह अली खान, रिचा तिरुपति, फरहाद, उदित नारायण, अल्का याज्ञिक,



बातें कुछ अनकही सी - लाइफ इन अ मेट्रो

बातेन कुच अंकी सी लाइफ इन ए मेट्रो (2007) अमिताभ वर्मा, संदीप श्रीवास्तव और सईद क्वाद्री द्वारा लिखी गई है, यह प्रीतम चक्रवर्ती द्वारा रचित है और अदनान सामी द्वारा गाया गया है।लाइफ इन अ मेट्रो (Life in A Metro )बातें कुछ अनकही सी की लिरिक्स (Lyrics Of Baatein Kuch Ankahee Si )बातें कुछ अनकहे सीकु



ओ मेरी जान - लाइफ इन अ मेट्रो

मूवी लाइफ इन ए मेट्रो से ओ मेरी जान गीत Kay Kay द्वारा गाया जाता है। इसका संगीत प्रीतम चक्रवर्ती द्वारा रचित है और गीत संदीप श्रीवास्तव द्वारा लिखे गए हैं।लाइफ इन अ मेट्रो (Life in A Metro )ओ मेरी जान की लिरिक्स (Lyrics Of O Meri Jaan )दिल खुदगर्ज़ है फिसला है यह फिर हाथ सेकल उसका रहाअब है तेरा इ



इन दिनों दिल मेरा - लाइफ इन अ मेट्रो

फिल्म लाइफ इन ए मेट्रो से दीनो दिल मेरा गीत में सोहम चक्रवर्ती द्वारा गाया जाता है। इसका संगीत प्रीतम चक्रवर्ती द्वारा रचित है और गीत सईद क्वाद्री द्वारा लिखे गए हैं।लाइफ इन अ मेट्रो (Life in A Metro )इन दिनों दिल मेरा की लिरिक्स (Lyrics Of In Dino Dil Mera )हाँ.. इन दिनों दिल मेरामुझसे है कह रहा



अलविदा - लाइफ इन अ मेट्रो

फिल्म लाइफ इन ए मेट्रो से अल्विडा गीत Kay Kay द्वारा गाया जाता है। इसका संगीत प्रीतम चक्रवर्ती द्वारा रचित है और गीत अमिताभ वर्मा द्वारा लिखे गए हैं।लाइफ इन अ मेट्रो (Life in A Metro )अलविदा की लिरिक्स (Lyrics Of Alvida )चुपके से कहींजिनके दरमियान गुज़री थी अभीकल तक यह मेरी ज़िन्दगीलो उन बाहों कोअ



लाइफ इन अ मेट्रो (Life in A Metro )

'लाइफ इन ए मेट्रो' एक 2007 हिंदी फिल्म है जिसमें शनी अहुजा, शिल्पा शेट्टी, के के मेनन, शर्मन जोशी, गौतम कपूर, कोंकोना सेन शर्मा, कंगना राणावत, इरफान खान, धर्मेंद्र, नफीसा अली, मनोज पहवा, विकी अहुजा, प्रीतम चक्रवर्ती, जेम्स और अश्विन मुशरान प्रमुख भूमिकाओं में हैं। हमारे पास ए मेट्रो में लाइफ ऑफ लाइफ



ये 5 काम अमावस के दिन कभी भी न करें! नहीं तो होगा भरी नुकसान

भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक महीने में दो पक्ष होता है, कृष्णा पक्ष जिसमे चन्द्रमा का अकार घटता जाता है और शुक्ल पक्ष जिसमे चन्द्रमा के आकर में वृद्धि होती है। कृष्ण पक्ष के आखिरी तिथि को चन्द्रमा पूरी तरह गायब हो जाता है और इसी दिन को अमावस्या कहते है।अमावस्या के दिन को अशुभ मन जाता है क्यों



फायर चीफ : सभी के लिए लाइफ जैकेट

इस गर्मी की डूबने वाली रोकथाम और जल सुरक्षा अभियान के संयोजन के साथ यह हमारी जल सुरक्षा श्रृंखला की तीसरी किस्त है। यह अभियान हमारे सामुदायिक जोखिम न्यूनीकरण कार्यक्रम का हिस्सा है। लाइफ जैकेट (पर्सनल फ्लोटेश



मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

आज की भागदौड़ और तनाव भरी ज़िंदगी मे ज़्यादातर लोग मोटापे की समस्या से जूझ रहे है| जब एक व्यक्ति के शरीर मे बहुत अधिक वसा या फैट जमा हो जाता है तो इस स्थिति को मोटापा कहते है जिसका उस व्यक्ति के स्वास्थ्या पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकत



देखें अपने हाथों की रेखाएं, जाने कैसा रहेगा जीवन चक्र

हमारी रेखाओं में हमारा भविष्य अंकित होता है। विशेष रुप से तीन रेखाएं जिसमें जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा और ह्र्दय रेखा प्रमुख है। आपके हाथ के अंगूठे के ठीक नीचे के भाग को शुक्र पर्वत कहा जाता है। इस पर्वत के पास से एक रेखा निकलती है जो जीवन रेखा कहलाती है। जीवन रेखा अनामिका अंगूली के नीचे के भाग को गुर



पति-पत्नी में कलह का कारण हो सकती हैं ये बड़ी गलतियां

वैवाहिक जीवन मेंसुख-शांति बनाएरखने के लिएआवश्यक है किघर का वास्तुसम्मत हो। घरमें शांति कावास बना रहताहै। परिवार मेंसुख-समृद्धि औरसहयोग की स्थितिबनी रहती है।वास्तु दोष नकेवन घर काही होना चाहिए,बल्कि यह घरके प्रत्येक कमरेका होना चाहिए।घर के कुछहिस्से में वास्तुदोष का होना,जीवन के किसीन किसी भागमें कष्



दोस्त इतने जरुरी क्यों होते है - शिखा

Dosto ke bina Har ek pal suna lagta hai,Jaane kyu dost itne jaruri kyu hote hai.Kitne hi gham kyu na ho zindagi mai,Har gham khushi mai tabdil ho jaate hai.Dosto ke bina har pal bejaan sa lagta hai,Na jaane kaise vo log wafa kar jaate hai.Bina dost mahefil bhi bejan lagt



आपकी हैंडराइटिंग बताती है आपका व्यक्तित्व, जानिए कैसे? प्यार की तलाश में रहते हैं बड़ी हैंडराइटिंग वाले।

कई बातें आपके व्यक्तित्व की पहचान होती हैं। जैसे आप किस तरह की बातें करते हैं? किस तरह के लोगों के साथ उठते-बैठते हैं? किस तरह के कपड़े पहनना पसंद करते हैं? आदि। आपके हर एक काम में आपकी पर्सनालिटी की एक झलक देखने को मिल ही जाती है। आपने यह सुना भी होगा कि आपके सिग्नेचर (हस



ये 10 कमाल के आविष्कार एक बार तो जरूर इस्तेमाल करना चाहेंगे आप

बहुत काम के हैं ये गैजेट्स। वैसे तो आज भी हम सभी के घर अख़बार आता ही है, लेकिन एक दौर था जब हमारे पेरेंट्स ने ये सोचा भी नहीं होगा कि भविष्य में उन्हें ये अख़बार एक छोटी सी डिवाइस (मोबाइल) में सिमटा हुआ मिलेगा। इतना ही नहीं, बल्कि देश-दुनिया की खबरें जानने के लिए उन्हें टेलीविज़न चालू कर न्यूज़ चैनल लगा



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x