प्यार



तुम

मैं अब भी तुम्हारे बारे मे लिखती हूँहाँ, मैं अब भी तुम्हारे बारे मे लिखती हूँ। एक अरसे से साथ हैं हम, और इस साथ के बारे मे लिखती हूँ। मैं अब भी तुम्हारे बारे मे लिखती हूँ। जानती हूँ कभी कहोगे नहीं तुम, परये बात बहुत खुशी देती है तुम्हे, किमैं अब भी तुम्हारे बारे मे लिखती हूँ। वो अहसास जो कुछ 18 साल



मैं जब भी

कविताजब भी मैंमैं चुप बैठकर जब भी खुद से बात करता हूँ,मैं हर उस पल उसके साथ टहलता और विचरता हूँ।साथ मेरे दूर तक जाती है वीरान तन्हाईयां,फिर भी मैं उसकी बाहों में गर्म राहत महसूस करता हूँ।होता है सफर मेरा अधूरा दूर छीतिज तक, मैं फिर भी हर सफर में उसके साथ रहता हूँ।होती नहीं वो पास मेरे किसी भी पड़ा



तोहमत ए दिलशिकनी

उनकी नाराज़गी में भी अगर है प्यार, हमारी नाराज़गी में भी नफरत तो नहीं है. वो है दिलशाद हम भी संगदिल तो नहीं है.दिलशिकनी की तोहमत क्यों हम पे लगी है. (आलिम)



लाल गुलाब 'मरजानया ' से जीन जोग्या'' तक के नाम

लाल गुलाब ‘मरजानया’ से जीन जोग्या तक के नाम डॉ शोभा भारद्वाज वेलेंटाइन डे के मौके पर मुझे पाकिस्तानी इंजीनियर अहसान कीकहानी याद आई वह हमारे ईरान में प्रवासके दौरान परिचितभारतीय के साथ घूमने आया था | पाकिस



मर्ज़

मर्ज़ कोई ले गया चुराकर ऐसा मैं बीमार हुआ। शुमार नहीं था किस्मत में जोक्यों उसका दीदार हुआ।। 💔



सुरक्षा कवच

बचपन में खेलते, दौड़ते ठोकर लग कर गिर जाने पर भैया का मुझे हाथ पकड़ कर उठाना,भीड़ भरे रास्तों पर, फूल-सा सहेज कर अँगुली पकड़ स्कूल तक ले जाना,और आधी छुट्टी में माँ का दिया खानामिल-बाँट कर खाना, याद आता है। बहुत-बहुत याद आता है। सर्कस और सिनेमा देखते समय हँसना - खिलखिलाना,बे-बात रूठना-मनाना,फिर देर रात त



लघुकथा ...........स्विच आफ

किसी के प्रति आकर्षण कभी भी सम्मोहन में बदल सकता है ।रुचियां हमेशा हमसफर ढूँढ़ती रहती हैं । प्यार वो समुंदर है जिसमें हर उम्र समा जाती है ।प्यार शक्ति है तो कमजोरी भी यही बनता है ।______________________________________________________लघुकथास्विच आफ " इतने दिन से कहां थीं ? "" होना कहां है ,घर पर ही



हमे तुमसे प्यार है.

ना तुमको फुर्सत मिली आने की, ना हमें ही फुर्सत मिली तुम्हे भूल जाने की. तुम अपने कामों में मशरूफ थे, और हम बस तुम्हारी ही यादों में ग़मगीन थे. खुशियां तो सब तुम्हारे साथ थी, गम ही बेचारे हमारे पास थे, हज़ारों तुमसे मिलने को बेताब थे, हम तुम्हारे ख्वाबो के



इश्क

💕💕 *इश्क* 💕💕इश्क कोई अज़ूबा 'रिश्ता' नहींइश्क कोई गहरी साज़िश नहींइश्क कोई बेहिसाब सज़ा नहींइश्क क़ुदरत का एक फ़रमान हैक़ायानात से उतरा हुआ,आशिकों की आन जान हैइश्क क़ायदा है हुश्न फ़रमाने काइश्क उल्फ़त का आइना हैइश्क "चाहत" हैइश्क नेह की डगर हैइश्क "ज़न्नत" का पैगाम हैइश्क हदों के पार दोस्तना है



टिक - टाॅक के बाजार मे

मुजरा करते दिख रही है लड़कियाँटिक - टाॅक के बाजार मे यू ही बदनाम है हम लड़के इस संसार मेलड़कियाँ नाचती दिख रही है टिक - टाॅक के बाजार मे फर्क क्या है उसमे और तुममे जो कोठे पर नाचती है संसार मेआज बड़े घरो के बेटियाँ नाचती हैटिक - टाॅक के बाजार मे कोई नाचती है पैसा के लिए सरेआम इस संसार मेकोई लाइक और शेयर



है प्यार क्या? कृतिका कामरा ने जुबिन नौटियाल से नए वीडियो में पूछा | आई डब्लयू एम बज

गायक जुबिन नौटियाल मनोरजंन की दुनिया के सबसे ज्यादा चाहे जाने वालो में से एक है, जो अपने लिस्नर्स को अपने गायकी से जो एक फ्री फॉर्म स्ट्रीटेलिंग और धुनों का मिश्रण होती है उससे प्रभावित करते है। भारत में स्वतंत्र संगीत दृश्य जो बढ़ रहा है और केवल बेहतर हो रहा है, जुबिन ने



बेपनाह प्यार: प्रगति ने रघबीर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बानी के बारे में उत्तेजित किया | आई डब्लयू एम बज

कलर्स टीवी का प्रसिद्ध शो बेपनाह प्यार बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा प्रोड्यूस में काफी ड्रामा देखा जा रहा है जहा दर्शकों के सामने आ चुका है कि प्रगति (इशिता दत्ता) की असली पहचान बानी ही है।अब प्रगति रघबीर (पर्ल वी पूरी) का सच सभी के सामने लाने के लिए हर कोशिश कर रही है।हमने



तीन कड़वी सलाह जिस पर हर इंसान को गौर करना चाहिए

‌‌‌दोस्तों जिंदगी के अंदर हम जितने नर्म होते हैं। हम उतने ही असफल होते जाते हैं। नर्मी आवश्यक होती है। लेकिन इतनी नर्मी भी आवश्यक नहीं होती की वो नुकसान पहुंचाए । कोई भी चीज हो अति हमेशा नुकसानदायी होतीहै। यदि आप कम पढ़ते हैं तो नुकसान दायी है। और यदि आप बहुत अधिक बढ़ते हैं तो भी नुकसान ‌‌‌दायी है।



31 जुलाई 2019

स्व-देखभाल के सबसे उपेक्षित और शक्तिशाली अधिनियम।

हम में से बहुत से (सही-सही) अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने, पूरे खाद्य पदार्थों को खाने और सक्रिय रहने की कोशिश करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं … हम ध्यान और वियोग के कुछ पल ले रहे हैं, उपकरणों से दूर।ये आत्म-देखभाल के अद्भुत कार्य हैं, और



देखिए इस प्यार को क्या नाम दूं प्रसिद्ध एक्टर बरून सोबती की उनकी बेटी सिफत के साथ पहली तस्वीर | आई डब्लयू एम बज

बरून सोबती जो स्टार प्लस के शो इस प्यार को क्या नाम दूं में अर्णव ये किरदार से प्रसिद्ध हुए है, ने कपल के पहले बच्चे की आने की खबर मीडिया को मई में दी थीं। आई डब्लू एम बज्ज.कॉम ने सबसे पहले अापको ये खबर दी थी कि बरून सोबती और पश्मीन मनचंदा अपने पहले बच्चे को जन्म देने वाल



प्यार और प्यार मे क्या अंतर है?

प्यार प्यार मे अंतर ?



कुमकुम - एक प्यारा से बंधन के 17 साल पूरे हुए | आई डब्लयू एम बज

कुमकुम – प्यारा सा बंधन, स्टार प्लस का बहुत प्रसिद्ध दोपहर का शो ने हजारों दर्शकों के दिल जीत लिए थे अपने दिलचस्प रियलिस्टिक ड्रामे से।यह सदाबहार प्रेम कहानी जो ’भाभी’ और ’देवर’ के बीच शुरू हुई, एक घरेलू नाम बन गई। शो के मुख्य कलाकार, हुसैन कुवाजेरवाला और जूही परमार ने सु



बेपनाह प्यार SPOILER ALERT: रघुबीर को प्रगति से प्यार हो जायेगा | आई डब्लयू एम बज

बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा निर्मित कलर्स का शो बेपनाह प्यार अपने गहन ट्रैक के साथ सभी साज़िशों को दिखा कर रहा है। जबकि बड़ी माँ की वापसी, जो कि देवराज (आशीष कौल) की पहली पत्नी है, ने हमें आश्चर्यचकित कर दिया है कि क्या यह चरित्र ऐसा दिखता है, या वह वो है जो रघुबीर (पर्ल वी



मैं हेली शाह से असुरक्षित नहीं हूँ: राजवीर सिंह | आई डब्लयू एम बज

राजवीर सिंह अपने स्टार भारत मुस्लिम सामाजिक, सूफ़ियाना प्यार मेरा की कम संख्या के बारे में बहुत चिंतित नहीं हैं।”एक अभिनेता होने के नाते मेरा काम है अपना सर्वश्रेष्ठ देना, जो मैं कर रहा हूं। रेटिंग जैसे अन्य कारक मेरे विशेषाधिकार नहीं है और हम अभिनेता वैसे भी स्वार्थी होन



[Photos] इस प्यार को क्या नाम दूं के अर्णव और खुशी: टीवी की एक सबसे बेहतरीन जोड़ी | आई डब्लयू एम बज

इस प्यार को क्या नाम दूं के खुशी और अर्णव एक आदर्श कपल है। जोड़ी एक आदर्श ऑन-स्क्रीन कपल का प्रतीक है और सिल्वर स्क्रीन पर भी दोनों ने कुछ समय से काफी अच्छी केमिस्ट्री शेयर की है। खुशी अर अर्णव की जोड़ी से लोग उनकी क्यूट, मनमोहक और रोमांटिक



आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x