“गज़ल” “गज़ल” बहाने मत बनाओ जी धुआँ उठता नहीं यूँ ही

13 अगस्त 2018   |  महातम मिश्रा   (104 बार पढ़ा जा चुका है)

काफिया- आ स्वर रदीफ़-नहीं यूँ ही वज्न- १२२२ १२२२ १२२२ १२२२


“गज़ल”


बहाने मत बनाओ जी धुआँ उठता नहीं यूँ ही

लगाकर आग बैठे घर जला करता नहीं यूँ ही

यहाँ तक आ रहीं लपटें धधकता है वहाँ कोना

तनिक जाकर शहर देखों किला जलता नहीं यूँ ही॥


सुना है जल गई कितनी इमारत बंद कमरों की

खिड़कियाँ रोज खुलती थी तवा तपता नहीं यूँ ही॥


खुला था सर्द दरवाजा अनाथों के लिए जिस दर

उसीने दर्द छलकाया गुन्हा खपता नहीं यूँ ही॥


मिली हैं बच्चियाँ कितनी जो जीने के लिए आई

बिचारी पत्तियों का क्या तना जलता नहीं यूँ ही॥


रहम आती नहीं तुमको अभी भी गूँजती चींखे

शरम से सर झुका जाता बता सकता नहीं यूँ ही॥


निशाना और था गौतम गिरि नीयत जुवारी की

हुआ हैवान पालक बन इंसा मरता नहीं यूँ ही॥


महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: "मिलन मुक्तक"



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 अगस्त 2018
“कुंडलिया”पकड़ो साथी हाथ यह हाथ-हाथ का साथ। उम्मीदों की है प्रभा निकले सूरज नाथ।।निकले सूरज नाथ कट गई घोर निराशा। हुई गुफा आबाद जिलाए थी मन आशा॥ कह गौतम कविराय कुदरती महिमा जकड़ो। प्रभु के हाथ हजार मुरारी के पग पकड़ो॥-१बारिश में छाता लिए डगर सुंदरी एक। रिमझिम पवन फुहार नभ पथ
06 अगस्त 2018
30 जुलाई 2018
वज़्न- २२१ १२२२ २२१ १२२२ काफ़िया- अ रदीफ़ आओगे “गज़ल” आकाश उठाकर तुम जब वापस आओगेअनुमान लगा लो रुक फिर से पछताओगेहर जगह नहीं मिलती मदिरालय की महफिल ख़्वाहिश के जनाजे को तकते रह जाओगे॥ पदचाप नहीं सुनता अंबर हर सितारों का जो टूट गए नभ से उन परत खिलाओगे॥इक बात सभी कहते हद में रह
30 जुलाई 2018
10 अगस्त 2018
कहते हैं मेरा वतन बात-बात में वाण। आतंकी के देश से आया कैसे गैर- मिला मंच खैरात का नृत्य कर रहा भाण॥-१ लेकर आओ हौसला हो जाए दो हाथ। क्यों करते गुमराह तुम सबके मालिक नाथ। बच्चे सभी समान हैं तेरे मेरे लाल- उनसे छल तो मत करों खेलें खाएँ साथ॥-२शौर्य तुम्हारा देखता सीधा सकल ज
10 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
वज़्न- १२२२ १२२२ १२२२ १२२२ काफ़िया-आन रदीफ़- का आरा"गज़ल"उड़ा अपना तिरंगा है लगा आसमान का तारातिरंगा शान है जिसकी वो हिंदुस्तान का प्याराकहीं भी हो किसी भी हाल में फहरा दिया झंडाजुड़ी है डोर वीरों से चलन इंसान का न्यारा।।किला है लाल वीरों का जहाँ रौनक सिपाही कीगरजता शेर के मान
16 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x