हमारे सैनिक नहीं है जानवर, बंद करो हमारे सैनिको का दुरूपयोग, ये सैनिको पर अत्याचार है

23 अगस्त 2018   |  रवि मेहता   (56 बार पढ़ा जा चुका है)

हमारे सैनिक नहीं है जानवर, बंद करो हमारे सैनिको का दुरूपयोग, ये सैनिको पर अत्याचार है  - शब्द (shabd.in)

सेकुलरों वामपंथियों को ये तस्वीर बहुत ही अच्छी लग सकती है, और सेक्युलर तत्व इस तस्वीर को फैलाकर बहुत ही ज्यादा खुश हो रहे है, पर ये तस्वीर को देख हमारा खून खौल रहा है


ये तस्वीर अत्याचार को दर्शा रही है, और हमारे सैनिक पर अत्याचार हो रहा है, ये तस्वीर कूल बिलकुल नहीं है ये उगली है, और बेहद घिनोनी है

इस तस्वीर में सेना का एक जवान नीचे पीठ देकर तैनात है, और ऊपर से जिन लोगों को सेना ने ही बचाया है वो उसकी पीठ पर लात रख रख कर उतर रहे है

सेना का जवान नीचे इस स्तिथि में है, पर साथ ही लाल घेरे में आप इस दाढ़ी वाले को देख सकते है जो हाथ पकड़ने का काम कर रहा है, ये मुश्तंडा है, ये हट्टा-कट्टा है, क्या ये पीठ नहीं दे सकता ?



हमारे सामने कोई सैनिक ऐसी स्तिथि में पीठ दे रहा हो तो हमारा दिल निकल जायेगा, और हम खुद उसे हटाकर अपनी पीठ देंगे, ये दाढ़ी वाला जिनके हाथों को पकड़ रहा है ये इसी के सगे सम्बन्धी है, पर ये पीठ नहीं दे रहा, ये हाथ पकड़ रहा है और पीठ दे रहा है हमारा सैनिक

ये सेना का उपयोग नहीं दुरूपयोग है, और ये सैनिक पर अत्याचार है, सेकुलरिज्म के नाम पर हम अपने सैनिक पर अत्याचार कबतक बर्दास्त करेंगे, इसका विरोध किया जाना चाहिए

ये मुश्तंडा अपनी पीठ दे सकता है, पर ये लाड साहब है और हमारे सैनिक जानवर है, ये घिनोनापना है, और इसका विरोध किया जाना चाहिए

Source: Dainik Bharat

हमारे सैनिक नहीं है जानवर, बंद करो हमारे सैनिको का दुरूपयोग, ये सैनिको पर अत्याचार है

https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/08/22/our-soldiers-are-not-animals-stop-misuse-of-our-soldiers-this-is-torture-on-soldiers/

अगला लेख: तीन तलाक देने वाले पति को पीटती महिला 'कलेक्टर' कौन है?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 सितम्बर 2018
(1) एक इलेक्ट्रिशियन : जो ऐसे दो व्यक्तियों के बीचकनेक्शन कर सके, जिनकी आपस में बातचीत बन्द हो ।(2) एक ऑप्टिशियन : जो लोगों की दृष्टि के साथदृष्टिकोण में भी सुधार कर सके ।(3) एक चित्रकार : जो हर व्यक्ति के चेहरे परमुस्कान की रेखा खींच स
01 सितम्बर 2018
14 अगस्त 2018
राब (Raab) एक आसान सस्ता तथा शक्तिशाली टॉनिक (Tonic) समान आहार है राब इंस्टेंट एनर्जी देने वाला खाद्य पदार्थ है गाय के घी से बनने की वजह से राब पचने में हल्की है आयुर्वेद की दृष्टि से बहुत सारे रोगों में लाभ यह उत्तम अन्ना औषधि है राब यह कोई भी उम्र के किसी भी व्यक्ति को
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
बहुत अंधियार अब सूरज निकलना चाहिएजिस तरह से भी हो ये मौसम बदलना चाहिएरोज़ जो चेहरे बदलते है लिबासों की तरहअब जनाज़ा ज़ोर से उनका निकलना चाहिएअब भी कुछ लोगो ने बेची है न अपनी आत्माये पतन का सिलसिला कुछ और चलना चाहिएफूल बन कर जो जिया वो यहाँ मसला गयाजीस्त को फ़ौलाद के साँचे में ढलना चाहिएछिनता हो जब
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
1. लक्ष्मी नाराज हो गयी — और चली गयी स्विट्जरलैंड के बैंक में ।सरस्वती माता नाराज होकर चली गयी जापान , इसिलए वहां के बच्चे ज्यादा बुद्धिमान होते है ।माँ अन्नपूर्णा चली गयी , अमेरिका वहां के लोग अब अच्छी सेहत वाले होते है ।बजरंग बली चले गये , यूरोप इसिलए वहां के लोग WWF के पहलवान हो गये ।कुबेर चले ग
14 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
दि
ना खुल जाए राज, हमको हमसफ़र बनाया है, छिपाने बेवफाई अपनी यूँ हमसे दिल लगाया है. खूबसूरत है जो वो क्योंकर न बेवफा न होंगे, हो दुनियां दीवानी जिनकी वो ही तो बेवफा होंगे.होते हम भी खूबसूरत तो शायद बेवफा होते, बदसूरती ने ही हमको वफ़ा
09 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के राजौरी सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलीबारी और मोर्टार गोलाबारी से शनिवार को एक भारतीय सेना जवान की हत्या कर दी थी।प्रवक्ता ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में पुंछ के सीमावर्ती जिले से 35 वर्षीय लांस नाय
14 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
आज़ादी से पहले भारत का अपना कोई एक स्थिर झंडा नहीं था. उस दौर में क्रांतिकारी अपने मुताबिक़ समय-समय पर अलग-अलग झंडा फ़हराया करते थे. 15 अगस्त 1947 को पहली बार आज़ाद भारत ने अपना तिरंगा फ़हराया था. 22 जुलाई 1947 को हुई Constituent Assembly की मीटिंग में पहली बार तिरंगे को भारत का झंडा बनाने का प्रस्ताव रख
10 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
नवाजुद्दीन स्टारर फिल्म मंटो का बहुप्रतिक्षित ट्रेलर स्वतंत्रता दिवस पर '15 अगस्त को' रिलीज किया जाएगा. इस फिल्म को फिल्म अभिनेत्री और निर्माता नंदिता दास ने बनाया है. यह फिल्म उर्दू के महान कहानीकार सआदत हसन मंटो की जिंदगी पर आधारित है.ये फिल्म मंटो के जीवन के उतार- चढ़ा
14 अगस्त 2018
14 अगस्त 2018
दुकानदार : कैसा सूट दिखाऊँ ?महिला : पड़ोसन तड़प – तड़प कर दम तोड़ दे ऐसा ……कुछ तो पढ़ी लिखी होगी गर्मी …. वरना इतनी डिग्रीयाँ लेकर कौन घूमता है ? खून में तेरे गर्मी , गर्मी में तेरा खून …. ऊपर सूरज निचे धरती बीच में May aur june हे भगवान् सोनू निगम : सुबह -सुबह मेरी नींद आज़ान से खुलती हैपाकिस्तानी : खुश
14 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
14 अगस्त 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x