क्या सच में 1947 में 1 डॉलर के बराबर था 1 रुपया?

04 सितम्बर 2018   |  कुनाल मंजुल   (80 बार पढ़ा जा चुका है)

क्या सच में 1947 में 1 डॉलर के बराबर था 1 रुपया?

साल 2018 में 1 डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए 70 रुपया तक पहुंच चुका है। सोशल मीडिया पर आपने हर भारतीयों द्वारा सुना होगा कि साल 1947 में आजादी के बाद 1 रुपया, 1 डॉलर के बराबर था। लेकिन क्या ये सच में था?

हालांकि, कई तर्क और कई जवाब हैं, लेकिन कोई भी इस बारे में पूरी तरह से नहीं बताता कि यह क्यों और कैसे हुआ। इसके जवाब और इसके पीछे के सभी कारणों को जानने के लिए, हमें जो जानने की जरूरत है, वो ये है कि 1947 के दौरान कौन सी मुद्रा (करेंसी) में रुपया को मापा गया था।

लोगों के बीच तीन सिद्धांतों पर तर्क दिया जा रहा है। लेकिन कोई भी दस्तावेज स्पष्ट रूप से साबित करने के लिए मौजूद नहीं है कि कौन सा सही है। इसलिए हम तीनों लॉजिक के आधार पर इसका जवाब देने जा रहे हैं।

लॉजिक नंबर 1-
1 डॉलर = 4.16 रुपया

पहला तर्क यह है कि एक ब्रिटिश शासित देश होने के नाते, भारत जब 1947 में आजाद हो गया तो उसे डॉलर में नहीं ब्रिटिश पाउंड में आंका जाना चाहिए।

Wikipedia के मुताबिक, रुपये को (Bretton Woods Agreement) ब्रेटन वुड्स समझौते के आधार पर मापा गया था। एक्चचेंज रेट (विनिमय दर) के हिसाब से 15 अगस्त 1947 और 18 सितंबर 1949 के बीच 1 डॉलर = 3.31 रुपया था। इसी ब्रेटन वुड्स सिस्टम के माध्यम से 18 सितंबर 1949 और 6 जून 1966 तक 1 डॉलर = 4.76 रुपया था।

हकीकत में 1949 से लेकर 1966 तक भारतीय रुपये की वैल्यू डॉलर नहीं, बल्कि ब्रिटिश पाउंड के हिसाब से आंकी जाती थी। ये जो ऊपर डॉलर का रेट देख रहे हैं, ये ब्रेटन वुड्स सिस्टम के आधार पर है।

कुछ ये भी तर्क दिया जाता है कि 1947 के दौरान एक ब्रिटिश पाउंड = 13.37 रुपया था और इसीलिए कई लोग 1 डॉलर = 4.16 रुपये मानते हैं।

लॉजिक नंबर 2-
1 डॉलर = 1 रुपया असंभव

आज तक के मुताबिक, सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की तरफ से रुपये के डिवैल्यूवेशन (मुद्रा की वैल्यू कम करना) पर एक पेपर तैयार किया गया था। इस पेपर के आधार पर ब्रिटिश करेंसी 1949 में डिवैल्यूड हुई थी। इसके बाद 1966 में भारतीय रुपये की वैल्यू USD डॉलर के मुकाबले आंकी जाने लगी। इस दौरान डिवैल्यूवेशन के बाद रुपया 1 डॉलर के मुकाबले 7.50 रुपये तक पहुंच गया था।

साल 1947 में 1 डॉलर = 1 रुपये के दावे पर यकीन करना इसलिए भी संभव नहीं है क्योंकि जब देश आजाद हुआ, तो भारत ने दूसरे देशों से किसी प्रकार का कर्ज नहीं लिया था। व्यापार भी ना के बराबर था। ऐसे में ये मुमकिन नहीं है कि 1 रुपये = 1 डॉलर रहा हो। दूसरी बात ये भी है कि साल 1947 में भारत की विकास दर 0.8 फीसदी थी। इसलिए रुपये को डॉलर के बराबर रख पाना संभव ही नहीं था।

लॉजिक नंबर 3-
1 डॉलर = 1 रुपया

चूंकि भारत स्वतंत्र होने के बाद कोई खास सिस्टम नहीं था। इसलिए इतिहासकारों द्वारा ये तर्क दिया गया कि 1 अमरीकी डॉलर = 1 रुपया है।

यहां ध्यान रखना जरूरी है कि भारतीय रुपया 1947 से आज तक (2018) हर शासनकाल में डॉलर के मुकाबले कमजोर होता गया है। चाहे नेहरू, इंदिरा, नरसिम्हा राव हो या वाजपेयी, मनमोहन और मोदी सरकार हो, रुपया तब से घटता ही गया है। हाल ये है कि मौजूदा मोदी सरकार में रुपया गिरकर 1 डॉलर = 70 रुपये तक पहुंच चुका है।

The Indian Click

अगला लेख: क्या कोलकाता में पुल आरक्षण वाले इंजीनियर के बनाने के कारण गिरा है?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 सितम्बर 2018
नई दिल्ली: सुजुकी की नई बाइक Suzuki V-Strom 650 को अगर आप खरीदना चाहते हैं तो भारत में इसकी बुकिंग शुरू कर दी गयी है। बता दें कि भारत में इस बाइक को आसानी से भारत में बुक करवाया जा सकता है। बता दें कि इस बाइक को बुक करवाने के लिए आपको महज 50 हजार का टोकन मनी खर्च करना पड़े
01 सितम्बर 2018
07 सितम्बर 2018
आप सोच रहे होंगे कि शायद दिल्ली में कोई नई इमारत बन रही है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। हम जिस लैंडमार्क की बात कर रहे हैं उसकी सच्चाई जानकर आपको विश्वास नहीं होगा और आप ये भी नहीं समझ पाएंगे कि इस उपलब्धि पर गर्व करना चाहिए या फिक्र। बहरहाल, यह ऐतिहासिक लैंडमार्क कुतुब मीनार नहीं है। आप अपने दिमाग पर ज़
07 सितम्बर 2018
13 सितम्बर 2018
कमांडो जानते थे. रास्ते में गांव पड़ेंगे. रात के समय उन्हें देखकर गांव के कुत्ते भौकेंगे. कुत्तों का भौंकना सुनकर सरहद पार दुश्मनों को भनक हो सकती है. लोगों को पता लगा, तो ऑपरेशन फेल हो सकता है. वो ये जोखिम नहीं ले सकते थे. इसीलिए प्लान बनाया. कुत्तों को बाघ, तेंदुए जैसे
13 सितम्बर 2018
05 सितम्बर 2018
मुर्गी पहले आयी या अंडा?अच्छे दिन कब आएंगे?क्या मैं मोटी लग रही हूं?इन जैसे ढेरों बेहद ज़रूरी सवालों को पीछे छोड़ कर, एक नए सवाल ने कुछ दिनों से पूरे इंटरनेट पर हड़कंप मचा रखा है. Becky नाम के एक इंसान ने ट्विटर पर ये तस्वीर शेयर करते हुए पुछा, ये Door है या Beach?पहली नज़र म
05 सितम्बर 2018
01 सितम्बर 2018
रियलिटी शो बिग बॉस में हिस्सा लेना के बाद मोनालिसा की पॉपुलैरिटी काफी बढ़ गई है। आज इन्हें हर कोई जानता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मोनालिसा के लिए ये मुकाम हासिल करना इतना असान नहीं था।100 से ज्यादा भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुकीं मोनालिसा कभी 120 रुपए रोज कमाने के ल
01 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x