क्या सच में 1947 में 1 डॉलर के बराबर था 1 रुपया?

04 सितम्बर 2018   |  कुनाल मंजुल   (90 बार पढ़ा जा चुका है)

क्या सच में 1947 में 1 डॉलर के बराबर था 1 रुपया?

साल 2018 में 1 डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए 70 रुपया तक पहुंच चुका है। सोशल मीडिया पर आपने हर भारतीयों द्वारा सुना होगा कि साल 1947 में आजादी के बाद 1 रुपया, 1 डॉलर के बराबर था। लेकिन क्या ये सच में था?

हालांकि, कई तर्क और कई जवाब हैं, लेकिन कोई भी इस बारे में पूरी तरह से नहीं बताता कि यह क्यों और कैसे हुआ। इसके जवाब और इसके पीछे के सभी कारणों को जानने के लिए, हमें जो जानने की जरूरत है, वो ये है कि 1947 के दौरान कौन सी मुद्रा (करेंसी) में रुपया को मापा गया था।

लोगों के बीच तीन सिद्धांतों पर तर्क दिया जा रहा है। लेकिन कोई भी दस्तावेज स्पष्ट रूप से साबित करने के लिए मौजूद नहीं है कि कौन सा सही है। इसलिए हम तीनों लॉजिक के आधार पर इसका जवाब देने जा रहे हैं।

लॉजिक नंबर 1-
1 डॉलर = 4.16 रुपया

पहला तर्क यह है कि एक ब्रिटिश शासित देश होने के नाते, भारत जब 1947 में आजाद हो गया तो उसे डॉलर में नहीं ब्रिटिश पाउंड में आंका जाना चाहिए।

Wikipedia के मुताबिक, रुपये को (Bretton Woods Agreement) ब्रेटन वुड्स समझौते के आधार पर मापा गया था। एक्चचेंज रेट (विनिमय दर) के हिसाब से 15 अगस्त 1947 और 18 सितंबर 1949 के बीच 1 डॉलर = 3.31 रुपया था। इसी ब्रेटन वुड्स सिस्टम के माध्यम से 18 सितंबर 1949 और 6 जून 1966 तक 1 डॉलर = 4.76 रुपया था।

हकीकत में 1949 से लेकर 1966 तक भारतीय रुपये की वैल्यू डॉलर नहीं, बल्कि ब्रिटिश पाउंड के हिसाब से आंकी जाती थी। ये जो ऊपर डॉलर का रेट देख रहे हैं, ये ब्रेटन वुड्स सिस्टम के आधार पर है।

कुछ ये भी तर्क दिया जाता है कि 1947 के दौरान एक ब्रिटिश पाउंड = 13.37 रुपया था और इसीलिए कई लोग 1 डॉलर = 4.16 रुपये मानते हैं।

लॉजिक नंबर 2-
1 डॉलर = 1 रुपया असंभव

आज तक के मुताबिक, सेंटर फॉर सिविल सोसायटी की तरफ से रुपये के डिवैल्यूवेशन (मुद्रा की वैल्यू कम करना) पर एक पेपर तैयार किया गया था। इस पेपर के आधार पर ब्रिटिश करेंसी 1949 में डिवैल्यूड हुई थी। इसके बाद 1966 में भारतीय रुपये की वैल्यू USD डॉलर के मुकाबले आंकी जाने लगी। इस दौरान डिवैल्यूवेशन के बाद रुपया 1 डॉलर के मुकाबले 7.50 रुपये तक पहुंच गया था।

साल 1947 में 1 डॉलर = 1 रुपये के दावे पर यकीन करना इसलिए भी संभव नहीं है क्योंकि जब देश आजाद हुआ, तो भारत ने दूसरे देशों से किसी प्रकार का कर्ज नहीं लिया था। व्यापार भी ना के बराबर था। ऐसे में ये मुमकिन नहीं है कि 1 रुपये = 1 डॉलर रहा हो। दूसरी बात ये भी है कि साल 1947 में भारत की विकास दर 0.8 फीसदी थी। इसलिए रुपये को डॉलर के बराबर रख पाना संभव ही नहीं था।

लॉजिक नंबर 3-
1 डॉलर = 1 रुपया

चूंकि भारत स्वतंत्र होने के बाद कोई खास सिस्टम नहीं था। इसलिए इतिहासकारों द्वारा ये तर्क दिया गया कि 1 अमरीकी डॉलर = 1 रुपया है।

यहां ध्यान रखना जरूरी है कि भारतीय रुपया 1947 से आज तक (2018) हर शासनकाल में डॉलर के मुकाबले कमजोर होता गया है। चाहे नेहरू, इंदिरा, नरसिम्हा राव हो या वाजपेयी, मनमोहन और मोदी सरकार हो, रुपया तब से घटता ही गया है। हाल ये है कि मौजूदा मोदी सरकार में रुपया गिरकर 1 डॉलर = 70 रुपये तक पहुंच चुका है।

The Indian Click

अगला लेख: क्या कोलकाता में पुल आरक्षण वाले इंजीनियर के बनाने के कारण गिरा है?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 सितम्बर 2018
कोलकाता में माझेरहाट फ्लाईओवर गिरा. एक आदमी की मौत हो गई. 20 से ज़्यादा लोग घायल हो गए, कहीं-कहीं 25 भी लिखा है. सोशल मीडिया को मौक़ा मिल गया, मौक़ा झूठ और नफरत फैलाने का.फेसबुक-ट्विटर पर कई लोग फ्लाईओवर गिरने की वजह आरक्षण को बता रहे हैं. ये फैशन है, सकल ब्रह्माण्ड में तृण
05 सितम्बर 2018
31 अगस्त 2018
कच्चे तेल की बढ़ती कीमत के बीच अमेरिकी मुद्रा की मांग बढ़ने से रुपया 26 पैसे की गिरावट के साथ पहली बार 71 रुपये के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया | इंटरबैंक विदेशी मुद्रा (विदेशी मुद्रा) बाजार में, स्थानीय मुद्रा 70.9 5प्रति डॉलर पर खुला औ
31 अगस्त 2018
01 सितम्बर 2018
Third party image referenceये तस्वीर है महाराष्ट्र के एक सेवाग्राम आश्रम की जहाँ पर गाँधी जी खड़े है और धुप ज्यादा होने के कारण उन्होंने अपने सर के ऊपर तकिया रखा हुंआ है ताकि वह धुप से बच सके.Third party image referenceये तस्वीर मुंबई के बिरला हाउस की है जहाँ पर गाँधी जी
01 सितम्बर 2018
23 अगस्त 2018
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी वलसाड और जूनागढ़ जिलों में राज्य और केंद्र सरकारों की कई परियोजनाओं को लॉन्च करने के लिए गुरुवार को गुजरात की एक दिवसीय यात्रा पर होंगे, और गांधीनगर में गुजरात फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह क
23 अगस्त 2018
05 सितम्बर 2018
कांग्रेस अध्यक्ष और युवराज राहुल गाँधी 46 साल के हो गए है पर अभी तक कुंवारे है | कुछ दिनों पहले एक तस्वीर काफी वायरल हुई थी जिसमे बताया गया था की राहुल गाँधी राहुल गाँधी फोटो में साथ वाली लड़की के साथ शादी करने वाले है | इस फोटो में राहुल गाँधी के साथ अदिति सिंह है | अदिति खुद कांग्रेस नेता हैं और
05 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x