इस गुफा में होते हैं भगवान गणेश के कटे सिर के दर्शन… जो यहां गया उसने कभी गरीबी नहीं देखी

30 नवम्बर 2018   |  कुनाल मंजुल   (36 बार पढ़ा जा चुका है)

इस गुफा में होते हैं भगवान गणेश के कटे सिर के दर्शन… जो यहां गया उसने कभी गरीबी नहीं देखी - शब्द (shabd.in)

भगवान गणेश के भक्तों के लिए उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में स्थित पाताल भुवनेश्वर गुफा आस्था का अद्भुत केंद्र है। यह गुफा पहाड़ी के करीब 90 फीट अंदर है। यह उत्तराखंड के कुमाऊं में अल्मोड़ा से शेराघाट होते हुए 160 किमी। की दूरी तय करके पहाड़ी के बीच बसे गंगोलीहाट कस्बे में है। पाताल भुवनेश्वर गुफा किसी आश्चर्य से कम नहीं है।



हिंदू धर्म में भगवान गणेशजी को प्रथम पूज्य माना गया है। गणेशजी के जन्म के बारे में कई कथाएं प्रचलित हैं। कहा जाता है कि एक बार भगवान शिव ने क्रोधवश गणेशजी का सिर धड़ से अलग कर दिया था, बाद में माता पार्वतीजी के कहने पर भगवान गणेश को हाथी का मस्तक लगाया गया था, लेकिन जो मस्तक शरीर से अलग किया गया, वह शिव ने इस गुफा में रख दिया।


पाताल भुवनेश्वर गुफा में भगवान गणेश की ‍शिलारूपी मूर्ति के ठीक ऊपर 108 पंखुड़ियों वाला शवाष्टक दल ब्रह्मकमल सुशोभित है। इससे ब्रह्मकमल से पानी भगवान गणेश के शिलारूपी मस्तक पर दिव्य बूंद टपकती है। मुख्य बूंद आदिगणेश के मुख में गिरती हुई दिखाई देती है। मान्यता है कि यह ब्रह्मकमल भगवान शिव ने ही यहां स्थापित किया था

इस गुफाओं में चारों युगों के प्रतीक रूप में चार पत्थर स्थापित हैं। इनमें से एक पत्थर जिसे कलियुग का प्रतीक माना जाता है, वह धीरे-धीरे ऊपर उठ रहा है। माना जाता है कि जिस दिन यह कलियुग का प्रतीक पत्थर दीवार से टकरा जाएगा, उस दिन कलियुग का अंत हो जाएगा।


यहीं पर केदारनाथ, बद्रीनाथ और अमरनाथ के भी दर्शन होते हैं। बद्रीनाथ में बद्री पंचायत की शिलारूप मूर्तियां हैं जिनमें यम-कुबेर, वरुण, लक्ष्मी, गणेश तथा गरुड़ शामिल हैं। तक्षक नाग की आकृति भी गुफा में बनी चट्टान में नजर आती है।

https://muznow.in/national/%E0%A4%87%E0%A4%B8-%E0%A4%97%E0%A5%81%E0%A4%AB%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%A4%E0%A5%87-%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82-%E0%A4%AD%E0%A4%97%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%A8/?fbclid=IwAR1OhIDDrf8gYO84Oh98abCOKfsnWGgO5E9-Pj6iWBMCuU8yyfQtgeVm_5s

अगला लेख: खुशखबरी : अगर आपके घर में बुजुर्ग हैं तो भरिए ये फार्म, हर महीने 10 हजार रुपए देगी मोदी सरकार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 नवम्बर 2018
भारत यानि हमारा अपना प्यारा देश जहां नदियों को पवित्र मानकर देवी के रूप में पूजा जाता है. फिर चाहे वो गंगा नदी हो, जमुना जी हो, सरस्वती या कोई अन्य नदी हो, हर नदी की अपनी महत्ता है और लोग अपनी-अपनी मान्यता के अनुसार उनको पूजते हैं. मगर एक वो ज़माना था जब इन नदियों का पानी
19 नवम्बर 2018
20 नवम्बर 2018
हर साल अभिनेता और अभिनेत्रियों का सम्मान करने के लिए गोल्डन ब्यूटी अवॉर्ड्स रखे जाते हैं जिनके अंदर कई अभिनेता और अभिनेत्रियों शामिल होते हैं और कुछ गिने-चुने सितारों को सम्मानित किया जाता है। हाल ही में यह गोल्ड अंगूठी अवॉर्ड्स मुंबई महाराष्ट्र में आयोजित हुए जहां कई बड़े सितारों का आगमन देखने को म
20 नवम्बर 2018
26 नवम्बर 2018
सभी ग्रहों में शनि ग्रह को सबसे पापी ग्रह के रूप में जाना जाता है यदि किसी व्यक्ति की राशि में शनि ग्रह बुरी स्थिति में हो तो व्यक्ति को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है ज्योतिष में भी शनि ग्रह को बुरा ग्रह माना गया है अपनी राशि में शनि के बुरे प्रभाव को दूर करने क
26 नवम्बर 2018
24 नवम्बर 2018
जब इस देश पर औरंगजेब का शासन था तब वह कश्मीरी पंडितों तथा हिंदुओ पर बहुत अत्याचार कर रहा था उनका धर्म संकट में था वह उन्हें जबरन मुसलमान बना रहा था उसके जुलम से तंग आकर यह सभी लोग सिखों के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के पास सहायता के लिए पहुंचे तब उन्होंने इनसे कहा आप सभी लोग घबराए नहीं
24 नवम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x