CM के कार्यक्रम में DSP पिता ने SP बेटी को देखकर किया सैल्यूट, कहा-जय हिंद मैडम

04 दिसम्बर 2018   |  रितिका चटर्जी   (60 बार पढ़ा जा चुका है)

CM के कार्यक्रम में DSP पिता ने SP बेटी को देखकर किया सैल्यूट, कहा-जय हिंद मैडम - शब्द (shabd.in)

”मेरे लिए इसके बहुत ज़्यादा मायने नहीं थे। जो सोशल मीडिया पर एक बहुत बड़ा मुद्दा बन गया। ड्यूटी पर मैं जब भी उन्हें (अपनी बेटी) देखता हूं सलाम करता हूं, लेकिन घर पर हम दोनों बाप-बेटी होते हैं।” ये शब्द उस पिता के हैं जिनकी बेटी को सैल्यूट मारने की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल है। दरअसल, कहानी सुनने में बहुत सपाट है, लेकिन पढ़ने पर हर किसी को बाप-बेटी की इस जोड़ी पर फ़ख्र महसूस हो रहा है। एक पिता हैं जो डीसीपी हैं और बेटी एसपी। परिवार तेलंगाना का है।

किसी भी बेटी के लिए उसके पिता ही पहले हीरो होते हैं। वह अपनी हर समस्या के समाधान के लिए, समर्थन के लिए, प्रेरणा के लिए अपने पिता की ओर ही देखती है। और किसी भी पिता के लिए उससे ज्यादा गर्व की बात और क्या हो सकती, जब उसके बच्‍चे जिंदगी में सफलता पाने में उनसे भी आगे निकल जाते हैं। कुछ ऐसा ही नज़ारा तेलंगाना में देखने को मिला, जब डीसीपी पिता ने गर्व से अपनी एसपी बेटी को सलामी ठोका और वह भी हजारों लोगों की भीड़ के सामने। पिता-पुत्री के बीच प्यार और सम्मान को दर्शाता यह पल सच में बेहद प्रेरणादायक है।

गौरतलब है कि हैदराबाद के पास कोंगरा कलां में तेलंगाना की रूलिंग पार्टी टीआरएस की एक जनसभा हो रही थी। यहां वर्दी में तैनात एक डीसीपी पिता ने जब अपनी एसपी बेटी को सैल्यूट किया तो वहां मौजूद हजारों लोगों के चेहरे पर मुस्कान आ गयी। यह शख्स कोई और नहीं राशाकोंडा कमिश्नरी के मलकानगिरी के पुलिस उपायुक्त उमा मेहश्वरा शर्मा थे जो अगले साल रिटायर होने वाले हैं। उन्होंने सब इंस्पेक्टर की नौकरी से शुरुआत कर 30 वर्षों तक सेवा देने के बाद डीसीपी पद तक का सफ़र तय किया।

उनकी बेटी सिंधू शर्मा मौजूदा समय में तेलंगाना के जगतियाल जिला में पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात हैं। उनकी बेटी का आइपीएस में चयन चार साल पहले ही हुआ। 2014 बैच की आईपीएस अधिकारी सिंधू अपने पिता को ही अपना आदर्श मानती हैं और उनके ही नक्शेकदम पर चलते हुए उसने पुलिस सेवा ज्वाइन करने का निश्चय किया। जब दोनों पिता और बेटी तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के कोंगारा कालन इलाके में एक समारोह में आमने-सामने आए तो पिता ने गर्व के साथ बेटी को सैल्यूट किया। मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि यह पहली बार है जब दोनों एक पब्‍ल‍िक समारोह में सबके सामने आए और उन्‍होंने वही किया जो अक्‍सर करते हैं। हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब उन्हें अपनी बेटी के सामने ऐसे पेश होने का मौका मिला है। वह जब भी ड्यूटी के दौरान अपनी बेटी के सामने आते हैं तो सेल्‍युट करते हैं और अपने कर्तव्‍य का पालन करते हैं। वहीं जब घर पर होते हैं तो उनका रिश्‍ता एक सामान्‍य बाप-बेटी वाला होता है।

स पूरे मामले पर पिता उमामहेश्वर सर्मा ने उस पल के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा, “उस प्रोग्राम में डीसीपी होने के कारण मेरी सिक्योरिटी में ड्यूटी लगी थी क्योंकि सीएम आने वाले थे। बेटी वहां पहले से पहुंची हुई थी। उनके सामने आते ही मेरा हाथ सैल्यूट के लिए उठ गया। इस बारे में हमने कभी सोचा नहीं, न कभी बात की। वो पल था जो बस बीत गया।” डीसीपी उमामहेश्वर सर्मा कहते हैं कि ”हम दोनों ही अपनी ड्यूटी कर रहे थे। लेकिन हमें नहीं पता था कि ये पल कोई रिकॉर्ड भी कर रहा है। जब हम सामने आए तो हमने ध्यान भी नहीं दिया कि सामने बेटी है। वो मुझसे वरिष्ठ अधिकारी हैं, वो आईपीएस हैं और मैं डीसीपी तो मुझे उन्हें सैल्यूट करना ही था।” एक पिता के लिए ये पल बहुत ही गर्व करने वाला होता है। हर पिता की ख़्वाहिश होती है कि उन्हें उनके बच्चों के नाम से जाना जाए।

स्थानीय मीडिया को दिए इंटरव्यू में एसपी सिंधु सर्मा कहती हैं, ”हम दोनों के लिए ये बहुत ही असाधारण-सा पल था। एक-दूसरे को देखकर प्रभावित तो हुए थे, लेकिन इस बात की खुशी भी है कि इस वर्दी को पहनने की जो घर की एक परंपरा है उसे कायम रख पाई।” सिंधु बताती हैं कि पिता अगले साल रिटायर हो रहे हैं और साथ काम करने का ये अच्छा मौका था। हालांकि बीबीसी ने जब सिंधु से सम्पर्क किया तो उन्होंने ज़्यादा बात नहीं की। बस इतना कहा, “ये बहुत ही भावनात्मक पल था, लेकिन इसके तुरंत बाद ही हम अपने-अपने काम पर लौट गए।” हालांकि डीसीपी सर्मा बताते हैं कि उस एक पल का कोई वीडियो उनके पास नहीं है। तो फिर इस वायरल ख़बर के बारे में उन्हें कैसे पता चला? इस सवाल के जवाब में डीसीपी सर्मा कहते हैं, “रविवार को सुबह नाश्ते के टेबल पर दोनों बाप-बेटी नाश्ता कर रहे थे उस वक़्त अख़बार में ये ख़बर पढ़ी। लेकिन न तो बेटी ने उस पर कुछ कहा और न ही मैंने कोई सवाल पूछा।

http://www.apnabihar.co.in/%E0%A4%B8%E0%A5%80%E0%A4%8F%E0%A4%AE-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AE/?fbclid=IwAR2wRKTr-XJHiS9VBNSz3gngSBpO6wh88SSfTc-W7micyadMAjfSLMJvu3o

अगला लेख: जयंती विशेष: यहां देश के पहले राष्ट्रपति की मर्सिडीज में बैठकर ही ससुराल आती है दुल्हन



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 दिसम्बर 2018
शादी के बाद दुल्हन पहली बार कार में बैठकर ही ससुराल आती है, मगर बिहार में एक परिवार ऐसा भी है, जिनके घर की हर दुल्हन राष्ट्रपति की मर्सिडीज बेंज कार में बैठ ससुराल में पहला कदम रखती है। ये शाही परिवार है, हथुआ राज घराने का और ये मर्सिडीज बेंज कार है देश के पहले राष्ट्रपति
04 दिसम्बर 2018
27 नवम्बर 2018
आज के समय में कोई भी नौकरी करनी हो बिना इंटरव्यू क्रैक किये ये आपको नही मिलने वाली। हालाँकि कुछ इंटरव्यू आसान होते है तो कुछ बहुत की टफ। जिसे क्लियर करना हर किसी के बस की बात नही है। आखिर सरकारी नौकरी के इंटरव्यू में क्या सवाल पूछे जाते है। क्यूंकि इस परीक्षा की तैयरी करने वाले काफी लोग ऐसे होते है
27 नवम्बर 2018
04 दिसम्बर 2018
स्वस्ति न इन्द्रो वृद्धश्रवाःस्वस्ति नः पूषा विश्ववेदाःस्वस्ति नस्तार्क्ष्यो अरिष्टनेमिःस्वस्ति नो ब्रिहस्पतिर्दधातुये स्वास्तिक मंत्र है. इसके उच्चारण को स्वस्तिवाचन कहा जाता है. लेकिन आज हम इसकी बात क्यूं कर रहे हैं. चलिए हमेशा की तरह शुरू से शुरू करते हैं-अमित शाह को तो जानते ही होंगे आप. बालोतरा
04 दिसम्बर 2018
19 नवम्बर 2018
भारत यानि हमारा अपना प्यारा देश जहां नदियों को पवित्र मानकर देवी के रूप में पूजा जाता है. फिर चाहे वो गंगा नदी हो, जमुना जी हो, सरस्वती या कोई अन्य नदी हो, हर नदी की अपनी महत्ता है और लोग अपनी-अपनी मान्यता के अनुसार उनको पूजते हैं. मगर एक वो ज़माना था जब इन नदियों का पानी
19 नवम्बर 2018
05 दिसम्बर 2018
भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ISRO ने बुधवार को अपने अब तक के सबसे वजनी सैटेलाइट का प्रक्षेपण कर दिया। भारतीय समयानुसार मगंलवार-बुधवार की रात में दक्षिणी अमेरिका के फ्रेंच गुयाना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से ‘सबसे अधिक वजनी’ उपग्रह GSAT-11 को लॉन्च किया गया। सैटेलाइट बु
05 दिसम्बर 2018
30 नवम्बर 2018
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को गुना जिले की चाचौड़ा विधानसभा में डिप्टी कलेक्टर शिवानी रैकवार ने करीब 5 किलोमीटर पीछा करके रोका। उनका चालान बनाया गया। आरोप है कि वो यहां अनाधिकृत तौर पर भ्रमण कर रहे थे एवं लोगों से मिल रहे थे। बता दें कि आचार संहिता के अनुसार मतदान के दौरान बाहरी ल
30 नवम्बर 2018
19 नवम्बर 2018
गुजरात के अहमदाबाद में नर्मदा नदी के किनारे बनी दुनिया की सबसे ऊंची सरदार पटेल की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी अंतरिक्ष से भी साफ दिखाई देती है। अमेरिका के कमर्शियल सैटेलाइट नेटवर्क- प्लैनेट ने शुक्रवार को 182 मीटर (597 फीट) ऊंची प्रतिमा की अंतरिक्ष से ली गई एक फोटो ट्वीट क
19 नवम्बर 2018
01 दिसम्बर 2018
वाशिंगटन: शीत युद्ध के अंत तक अमेरिका को राष्ट्रपति के रूप में संचालित करने वाले और एक राजनीतिक राजवंश का नेतृत्व करने वाले राजनयिक जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश का शुक्रवार को 94 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। वो रक्त में संक्रमण के रोग से ग्रसित
01 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x