CM के कार्यक्रम में DSP पिता ने SP बेटी को देखकर किया सैल्यूट, कहा-जय हिंद मैडम

04 दिसम्बर 2018   |  रितिका चटर्जी   (119 बार पढ़ा जा चुका है)

CM के कार्यक्रम में DSP पिता ने SP बेटी को देखकर किया सैल्यूट, कहा-जय हिंद मैडम

”मेरे लिए इसके बहुत ज़्यादा मायने नहीं थे। जो सोशल मीडिया पर एक बहुत बड़ा मुद्दा बन गया। ड्यूटी पर मैं जब भी उन्हें (अपनी बेटी) देखता हूं सलाम करता हूं, लेकिन घर पर हम दोनों बाप-बेटी होते हैं।” ये शब्द उस पिता के हैं जिनकी बेटी को सैल्यूट मारने की कहानी सोशल मीडिया पर वायरल है। दरअसल, कहानी सुनने में बहुत सपाट है, लेकिन पढ़ने पर हर किसी को बाप-बेटी की इस जोड़ी पर फ़ख्र महसूस हो रहा है। एक पिता हैं जो डीसीपी हैं और बेटी एसपी। परिवार तेलंगाना का है।

किसी भी बेटी के लिए उसके पिता ही पहले हीरो होते हैं। वह अपनी हर समस्या के समाधान के लिए, समर्थन के लिए, प्रेरणा के लिए अपने पिता की ओर ही देखती है। और किसी भी पिता के लिए उससे ज्यादा गर्व की बात और क्या हो सकती, जब उसके बच्‍चे जिंदगी में सफलता पाने में उनसे भी आगे निकल जाते हैं। कुछ ऐसा ही नज़ारा तेलंगाना में देखने को मिला, जब डीसीपी पिता ने गर्व से अपनी एसपी बेटी को सलामी ठोका और वह भी हजारों लोगों की भीड़ के सामने। पिता-पुत्री के बीच प्यार और सम्मान को दर्शाता यह पल सच में बेहद प्रेरणादायक है।

गौरतलब है कि हैदराबाद के पास कोंगरा कलां में तेलंगाना की रूलिंग पार्टी टीआरएस की एक जनसभा हो रही थी। यहां वर्दी में तैनात एक डीसीपी पिता ने जब अपनी एसपी बेटी को सैल्यूट किया तो वहां मौजूद हजारों लोगों के चेहरे पर मुस्कान आ गयी। यह शख्स कोई और नहीं राशाकोंडा कमिश्नरी के मलकानगिरी के पुलिस उपायुक्त उमा मेहश्वरा शर्मा थे जो अगले साल रिटायर होने वाले हैं। उन्होंने सब इंस्पेक्टर की नौकरी से शुरुआत कर 30 वर्षों तक सेवा देने के बाद डीसीपी पद तक का सफ़र तय किया।

उनकी बेटी सिंधू शर्मा मौजूदा समय में तेलंगाना के जगतियाल जिला में पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात हैं। उनकी बेटी का आइपीएस में चयन चार साल पहले ही हुआ। 2014 बैच की आईपीएस अधिकारी सिंधू अपने पिता को ही अपना आदर्श मानती हैं और उनके ही नक्शेकदम पर चलते हुए उसने पुलिस सेवा ज्वाइन करने का निश्चय किया। जब दोनों पिता और बेटी तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के कोंगारा कालन इलाके में एक समारोह में आमने-सामने आए तो पिता ने गर्व के साथ बेटी को सैल्यूट किया। मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि यह पहली बार है जब दोनों एक पब्‍ल‍िक समारोह में सबके सामने आए और उन्‍होंने वही किया जो अक्‍सर करते हैं। हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब उन्हें अपनी बेटी के सामने ऐसे पेश होने का मौका मिला है। वह जब भी ड्यूटी के दौरान अपनी बेटी के सामने आते हैं तो सेल्‍युट करते हैं और अपने कर्तव्‍य का पालन करते हैं। वहीं जब घर पर होते हैं तो उनका रिश्‍ता एक सामान्‍य बाप-बेटी वाला होता है।

स पूरे मामले पर पिता उमामहेश्वर सर्मा ने उस पल के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा, “उस प्रोग्राम में डीसीपी होने के कारण मेरी सिक्योरिटी में ड्यूटी लगी थी क्योंकि सीएम आने वाले थे। बेटी वहां पहले से पहुंची हुई थी। उनके सामने आते ही मेरा हाथ सैल्यूट के लिए उठ गया। इस बारे में हमने कभी सोचा नहीं, न कभी बात की। वो पल था जो बस बीत गया।” डीसीपी उमामहेश्वर सर्मा कहते हैं कि ”हम दोनों ही अपनी ड्यूटी कर रहे थे। लेकिन हमें नहीं पता था कि ये पल कोई रिकॉर्ड भी कर रहा है। जब हम सामने आए तो हमने ध्यान भी नहीं दिया कि सामने बेटी है। वो मुझसे वरिष्ठ अधिकारी हैं, वो आईपीएस हैं और मैं डीसीपी तो मुझे उन्हें सैल्यूट करना ही था।” एक पिता के लिए ये पल बहुत ही गर्व करने वाला होता है। हर पिता की ख़्वाहिश होती है कि उन्हें उनके बच्चों के नाम से जाना जाए।

स्थानीय मीडिया को दिए इंटरव्यू में एसपी सिंधु सर्मा कहती हैं, ”हम दोनों के लिए ये बहुत ही असाधारण-सा पल था। एक-दूसरे को देखकर प्रभावित तो हुए थे, लेकिन इस बात की खुशी भी है कि इस वर्दी को पहनने की जो घर की एक परंपरा है उसे कायम रख पाई।” सिंधु बताती हैं कि पिता अगले साल रिटायर हो रहे हैं और साथ काम करने का ये अच्छा मौका था। हालांकि बीबीसी ने जब सिंधु से सम्पर्क किया तो उन्होंने ज़्यादा बात नहीं की। बस इतना कहा, “ये बहुत ही भावनात्मक पल था, लेकिन इसके तुरंत बाद ही हम अपने-अपने काम पर लौट गए।” हालांकि डीसीपी सर्मा बताते हैं कि उस एक पल का कोई वीडियो उनके पास नहीं है। तो फिर इस वायरल ख़बर के बारे में उन्हें कैसे पता चला? इस सवाल के जवाब में डीसीपी सर्मा कहते हैं, “रविवार को सुबह नाश्ते के टेबल पर दोनों बाप-बेटी नाश्ता कर रहे थे उस वक़्त अख़बार में ये ख़बर पढ़ी। लेकिन न तो बेटी ने उस पर कुछ कहा और न ही मैंने कोई सवाल पूछा।

http://www.apnabihar.co.in/%E0%A4%B8%E0%A5%80%E0%A4%8F%E0%A4%AE-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AE/?fbclid=IwAR2wRKTr-XJHiS9VBNSz3gngSBpO6wh88SSfTc-W7micyadMAjfSLMJvu3o

अगला लेख: जयंती विशेष: यहां देश के पहले राष्ट्रपति की मर्सिडीज में बैठकर ही ससुराल आती है दुल्हन



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 नवम्बर 2018
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को गुना जिले की चाचौड़ा विधानसभा में डिप्टी कलेक्टर शिवानी रैकवार ने करीब 5 किलोमीटर पीछा करके रोका। उनका चालान बनाया गया। आरोप है कि वो यहां अनाधिकृत तौर पर भ्रमण कर रहे थे एवं लोगों से मिल रहे थे। बता दें कि आचार संहिता के अनुसार मतदान के दौरान बाहरी ल
30 नवम्बर 2018
04 दिसम्बर 2018
हर कोई सपना देखता है कि वो भविष्य में आईएएस, आईपीएस, आईईएस, आईएफएस अधिकारी बनें। हालांकि कई लोगों को इन अधिकारियों के काम, वेतन आदि के बारे में पता नहीं होता है और इनकी भूमिकाओं को लेकर कंफ्यूज रहते हैं। आज हम आपको आईएएस, आईपीएस अधिकारियों में अंतर बता रहे हैं, जिनके बारे
04 दिसम्बर 2018
04 दिसम्बर 2018
हर कोई सपना देखता है कि वो भविष्य में आईएएस, आईपीएस, आईईएस, आईएफएस अधिकारी बनें। हालांकि कई लोगों को इन अधिकारियों के काम, वेतन आदि के बारे में पता नहीं होता है और इनकी भूमिकाओं को लेकर कंफ्यूज रहते हैं। आज हम आपको आईएएस, आईपीएस अधिकारियों में अंतर बता रहे हैं, जिनके बारे
04 दिसम्बर 2018
06 दिसम्बर 2018
ब्राजील के डॉक्टर ने मृतक दाता से प्राप्त गर्भाशय को एक महिला में प्रत्यारोपित करने के बाद पैदा हुए दुनिया के पहले बच्चे के बारे में जानकारी दी है। इससे पहले ग्यारह जन्मों में प्रत्यारोपित गर्भ का उपयोग किया जाता रहा है, लेकिन एक जीवित दाता
06 दिसम्बर 2018
29 नवम्बर 2018
आपने आजतक कई तरह के मंदिरों और उनके रहस्यों के बारे में सुना होगा लेकिन आज हम जिस मंदिर के बारे में आपको बताने जा रहे हैं उसको लेकर कहा जाता है कि यहां नरक का दरवाजा है जिसके पास जाने से इंसान वापस फिर कभी नहीं लौटता है। हालांकि खोजकर्ताओं ने वहां हो रही मौतों के पीछे की वजह को खोज निकलाने का दावा क
29 नवम्बर 2018
27 नवम्बर 2018
आज के समय में कोई भी नौकरी करनी हो बिना इंटरव्यू क्रैक किये ये आपको नही मिलने वाली। हालाँकि कुछ इंटरव्यू आसान होते है तो कुछ बहुत की टफ। जिसे क्लियर करना हर किसी के बस की बात नही है। आखिर सरकारी नौकरी के इंटरव्यू में क्या सवाल पूछे जाते है। क्यूंकि इस परीक्षा की तैयरी करने वाले काफी लोग ऐसे होते है
27 नवम्बर 2018
18 दिसम्बर 2018
** ज्ञान की ओर - ( मनन - 2 ) **हम ज्ञान की ओर तभी बढ़ेंगे;जब हमें जानने की इच्छा हो;उत्सुकता हो;हमारे स्वयं के निज ज्ञान में क्या है या क्या नहीं है कि स्पष्टता हो;हमारे स्वयं के निज अनुभव में क्या आया है या क्या नहीं आया है कि स्पष्टता हो। एक उदाहरण लेलें, तो बात औ
18 दिसम्बर 2018
15 दिसम्बर 2018
आपका आखिरी मांसाहारी भोजन चिकन होने की संभावना काफी ज्यादा है। आखिर क्यों ना हो? यह सस्ते मांसाहारी श्रेणी में जो आता है। चिकन सबसे अधिक खपत होने वाला मांसाहारी खाना है, यह सिर्फ भारत के लिए नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया बहुत ज्यादा चिकन का
15 दिसम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x