पुलवामा में CRPF जवानों पर हमले को लेकर गुस्से में देश “निंदा नहीं चाहिए अब एक भी आतंकी ज़िंदा नहीं चाहिए” की मांग

15 फरवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (51 बार पढ़ा जा चुका है)

पुलवामा में CRPF जवानों पर हमले को लेकर गुस्से में देश “निंदा नहीं चाहिए अब एक भी आतंकी ज़िंदा नहीं चाहिए” की मांग  - शब्द (shabd.in)

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को CRPF जवानों पर हुए हमले पर पूरा देश आक्रोश में है। देशभर में बदले की आग धधक रही है। हर हिंदुस्तानी की यही मांग है कि अब वक़्त है जवानों की शाहदर का बदला लेने का, नए भारत का निर्माण करने का जिसमें ये घर में घुसेगा भी और मरेगा भी। ये मांग सोशल मीडिया के के द्वारा सरकार से की जा रही है।


बता दें कि 14 फ़रवरी को CRPF जवानों पर हुए हमले में लगभग 44 जवान शहीद हो गए और 50 से अधिक जवान गंभीर रूप से घायल है। इस घटना के बाद पूरे देश में आक्रोश की लहार फ़ैल गयी और सोशल मीडिया के ज़रिये लोग सरकार से बदला लेने की मांग कर रहे है।


आतंकियों की इस कायराना हरकत के बाद देश भर में पुतले फूंके जा रहे हैं। हर जगह पाकिस्तान मुर्दाबाद, आतंकवाद मुर्दाबाद के नारे गूंज रहे हैं। इसके साथ ही सड़क-चौराहों पर आकर लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किए। कई जगहों पर नम आंखों से शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई।


ट्वीट कर जनता ने की सरकार से बदला लेने की मांग





ट्विटर पर लोग आतंकियों को जल्द से जल्द सबक सिखाने की मांग कर रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, अगर ब्लास्ट की आवाज 10 किमी तक सुनाई दी तो भारत का जवाब पूरे विश्व में सुनाई देना चाहिए।




अपने गुस्से का इजहार करते हुए एक यूजर ने लिखा, अब स्ट्राइक की नहीं बल्कि पूरी सर्जरी की जरूरत है।






यूजर महेश केदार ने लिखा, विकास भले रुक जाए लेकिन सबसे पहले आतंकियों को सबक सिखाना चाहिए।




क्रिकेटर गौतम गंभीर ने लिखा, "चलो अलगाववादियों से बात करते हैं, चलो पाकिस्तान से बात करते हैं... लेकिन इस बार बातचीत टेबल पर नहीं होगी बल्कि युद्ध के मैदान में भी होगी. बस बहुत हो चुका."




सनी शेरॉन नाम के यूजर ने आतंकियों के सफाया करने की बात कही।

\\\\

\\

अगला लेख: एक स्पून टेस्ट से जाने घर पर ही कि आप कितने स्वस्थ हैं........



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 फरवरी 2019
Thought in Hindi one line: हम अपनी जिंदगी में कई बार हार और जीत का मुंह देखते हैं। जब भी हमें जीत का स्वाद देखने को मिलता है तो हम सिर्फ ख़ुशी में मग्न रहते हैें लेकिन अगर हार से दो चार होना पड़ जाए तो कोई विक्लप नहीं सूझता। अक्सर संघर्ष के दिनों में हम इतना ज्यादा दु
11 फरवरी 2019
11 फरवरी 2019
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी एक ऐसी छवि बनाई है जिसका देश में ही नहीं विदेशों में भी हर कोई दीवाना है। हर आम व्यक्ति की ये ख्वाहिश बन गए है कि उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना है, हर कोई चाहता है कि उसकी मुलाकात पीएम मोदी से हो जाए और यही वजह है कि पीएम मोदी जहां जाते हैं, वहां भीड़ उमड़
11 फरवरी 2019
01 फरवरी 2019
कबीर के दोहे - Kabir ke Dohe in Hindiसंत कबीर दास के दोहे गागर में सागर के समान हैं। आइये जानते हैं कबीर के कुछ सुप्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित -
01 फरवरी 2019
07 फरवरी 2019
कभी किसी से बिछड़ने का दुख, कभी कुछ हारने के दुख, कभी किसी की याद का दुख, कुछ ना कुछ दुख हम हमेशा झेल रहे होते हैं। इसीलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे ही सैड शायरी इन हिन्दी (girls sad shayri in hindi|) लेकर आये है, जिससे कि आप अपने दुखों को भी लोगो को समझा सकें।Girls Sad Shayari in hindi #1 उतरे जो ज़िन्द
07 फरवरी 2019
05 फरवरी 2019
हिंदू धर्म में किसी की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार किया जाता है, शव को मुखाग्नि दी जाती है औऱ फिर उसकी अस्थियों को गंगा जी में प्रवाहित किया जाता हैं। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से मृतक की आत्मा को शांति मिलती है और मोक्ष की प्राप्ति होती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताएंगे जिनक
05 फरवरी 2019
12 फरवरी 2019
“अपना टाइम आएगा” ये एक ऐसा डायलॉग है जो हर एक इंसान को अपने बुरे वक्त में आगे बढ़ने की ताकत देता है। उसको ये बताता है कि जो भी है बीत जायेगा और उसके बाद “अपना टाइम आएगा” . बता दें कि इसी टैग लाइन के साथ एक फिल्म आ रही है “गली बॉय” जिसमें रणबीर सिंह और आलिया भट्ट लीड रोल में हैं। इस फिल्म की कहानी मु
12 फरवरी 2019
11 फरवरी 2019
11 फरवरी यानी प्रोमिस डे इस दिन अपने पार्टनर को जिंदगी भर साथ रहने का वादा किया जाता है। ऐसे में अगर ये प्रोमिस लंबे चौड़े भाषण में किया जाए तो बोरिंग हो सकता है। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि कम शब्दों में आप ज्यादा से ज्यादा बात कहेें त
11 फरवरी 2019
07 फरवरी 2019
“कहाँ राजा भोज कहाँ गंगू तेली” ये कहावत तो आपने कई बार सुनी होगी, कभी किसी पर तंज कसते हुए, तो कभी गोविंदा के गाने में. साफ़ शब्दों में कहा जाए तो हज़ारों बार आप ये कहावत आम बोलचाल में सुन चुके होंगे. कई बार इसका इस्तेमाल किसी छोटे व्यक्ति की बड़े व्यक्ति से तुलना के लिए किया जाता है. भले ही ये कहावत म
07 फरवरी 2019
04 फरवरी 2019
पाकिस्तान में लड़कियों के लिए कई कड़े नियम होते हैं। वहां रहने वाले लोगों को इन नियमों को मानना भी होता है, लेकिन कहते हैं ना कि जहां चाह वहां राह। एक ऐसा ही वाक्या पाकिस्तान में घटा है जिसके चलते वहां पर पहली बार कोई हिंदू महिला जज बनी हैं। बता दें सुमन पवन बोदानी नाम की ये महिला पहली महिला सिविल ज
04 फरवरी 2019
01 फरवरी 2019
आज हम आज़ादी का मजा लेते हुए अपने घरों में बड़े-बड़े मुद्दों को बड़ी आसानी से बहस में उड़ा देते है, लेकिन कभी सोचा है कि जिन्होंने अपनी जान की परवाह ना करते हुए देश को आज़ाद कराया, उनमें से जो जिंदा हैं, वो किस हाल में हैं ?ये हैं झाँसी के रहने वाले श्रीपत जी, 93 साल से भी ज्यादा की उम्र पार कर चुके श्रीप
01 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x