उज्जैन स्थित 84 महादेवों की विशेष अर्चना श्रावण माह में

22 जुलाई 2019   |  पं दयानन्द शास्त्री   (21 बार पढ़ा जा चुका है)

उज्जैन स्थित 84 महादेवों की विशेष अर्चना श्रावण माह में

महाकाल की नगरी उज्जैन स्थित 84 महादेवों की अर्चना श्रावण माह में विशेष रूप से की जाती है जब पुरुषोत्तम मास (अधिक मास ) आता है, तब भी दर्शन यात्रा की जाती हैं । स्कन्द पुराण के अनुसार ८४ लाख योनियों का भ्रमण करते हुए, मानव योनि में आते है, तो मानव योनि में आने के बाद में ८४ लाख योनियों के भ्रमण में , हम से जो भी दोष हुआ हो , तो इन ८४ महादेव के दर्शन करने से सारे दोषो का निराकरण होता है। ऐसा कहा जाता है की प्रलय होने पर ८४ महादेव ही अचल रहेंगे।



श्री अगस्तेश्वर महादेव : हरसिध्दि मंदिर के पीछे संतोषी माता के मंदिर मे यात्रा यही से प्रारंभ होती है , तथा अन्त मे पुनः श्री अगस्तेश्वर महादेव के दर्शन -पूजन के उपरांत संपूर्ण होती है ।

श्री गुहेश्वर महादेव : शिप्रा किनारे रामघाट पर बिना शिखर का मंदिर , श्री धर्मराजजी मंदिर के पास नदी किनारे ।

श्री ढूंढेश्वर महादेव : शिप्रा किनारे रामघाट के सामने सीढी पर बाए हाथ पर ।

श्री डमरूकेश्वर महादेव : रामघाट पर राम सीढी पर ।

श्री अनादिकल्पेश्वर महादेव : महाकाल मंदिर क्षेत्र के जूना महाकाल मंदिर के पास ।

श्री स्वर्णज्वालेश्वर महादेव : राम सीढी पर श्री ढूंढेश्वर महादेव के ऊपर ।

श्री त्रिविष्टेश्वर महादेव : महाकाल मंदिर क्षेत्र मे ओंकारेश्वर मंदिर के पीछे महाकाल के सभा मंडप की सीढी के पास ।

श्री कपालेश्वर महादेव : श्री अवन्तिपाश्वनाथ तीर्थ के चौराहा से बड़े पुल जाने पर घाटी पर बाए हाथ पर ।

श्री स्वर्णद्वारपालेश्वर महादेव : महाकाल के चौराहा से हरिफाटक ब्रिज जाने पर बाए हाथ पर पुलिया के नीचे।

श्री कर्कोटेश्वर महादेव : हरसिध्दि मंदिर के परिसर मे ।

श्री सिद्धेश्वर महादेव : सिद्धनाथ मंदिर मे सिद्धनाथ घाट के नये दरवाज़े के पास ।

श्री लोकपालेश्वर महादेव : कार्तिक चौक से रघुवंशी मार्ग से दाए हाथ के तरफ की गली मे सीधे चौक मे।

श्री मनकामेश्वर महादेव : शिप्रा नदी के छोटे पुल से रामघाट जाने के मार्ग , गधर्व घाट पर उदासीन अखाड़े के पास ।

श्री कुटुम्बकेश्वर महादेव : कार्तिक चौक सिंहपुरी मे श्री गोवर्धन नाथजी की हवेली (पुष्टिमार्गीय ) से आगे ।

श्री इंददयुम्नेश्वर महादेव : पटनी बाजार से मोदीजी के गली मे खोखो माता मंदिर से पहले ।

श्री ईशानेश्वर महादेव : श्री इंददयुम्नेश्वर महादेव से पहले ।

श्री अप्सरेश्वर महादेव : पटनी बाजार के पास सुगंधी गली मे ।

श्री कलकलेशश्वर महादेव : श्री ईशानेश्वर महादेव से आगे की पहली गली मे दाए हाथ तरफ ।

श्री नागचंद्रेश्वर महादेव : पटनी बाजार के पास नागनाथ की गली मे ।


श्री प्रतिहारेश्वर महादेव : श्री नागचंद्रेश्वर मंदिर के परिसर मे ।

श्री कुक्कुटेश्वर महादेव : शिप्रा नदी के छोटे पुल से रामघाट जाने के मार्ग पर उदासीन अखाड़े के पास

श्री कर्कटेश्वर महादेव : ढाबा रोड से दानी गेट पर श्री पोरवाल धर्मशाला के पास गली से सीधे अंदर सीधे हाथ पर ।

श्री मेघनादेश्वर महादेव: सतीगेट से गोपाल मंदिर मार्ग पर पहली गली, छोटा सराफा में नरसिंग मंदिर के पीछे ।

श्री महालयेश्वर महादेव : श्री सिद्धेश्वर महादेव के पीछे लेफ्ट साइड की गली में चौक में ।

श्री मुकक्तेश्वर महादेव : श्री सिद्धेश्वर महादेव के पीछे राइट साइड की गली में लेफ्ट साइड की पहली गली में अंदर ।

श्री सोमेश्वर महादेव : श्री अवन्तिपाश्वनाथ तीर्थ के चौराहा से बड़े पुल जाने पर घाटी पर राइट साइड में रोड पर ।

श्री अनकेश्वर महादेव: आगर रोड पर मकोडियाम चौराहे से अंकपात जाने के मार्ग पर बिजली घर से आगे लेफ्ट साइड की पहली गली इनिदरा नगर में पानी की टंकी से पहले की गली में अंदर ।


श्री जटेशश्वर महादेव : अंकपात चौक से मकोडियाम जाने की सड़क पर मंदिर के आँगन में नया मंदिर ।

श्री रामेश्वर महादेव: सती दरवाजे के पास रामेश्वर गली में ।

श्री च्यवनेश्वर महादेव : अंकपात से इंदिरा नगर जाने के मार्ग में ईद गहा के पास ।

श्री खंडेश्वर महादेव: आगर रोड मकोडियाम से आगे आर डी गार डी कॉलेज के रोड पर ही खिलची पर गाँव में टीले पर ।

श्री पत्तेश्वर महादेव :आगर रोड मकोडियाम से आगे आर डी गार डी कॉलेज के रोड पर पुलिया से पहले ।

श्री आनंदेश्वर महादेव : चक्क्रतीर्थ के गेट से आगे राइट साइड में ऊपर ।

श्री कन्थडेश्वर महादेव : सिद्धनाथ मंदिर के सामने की गली में भैरवगढ़ गाँव के अंदर , ऊपर घाटी पर ।

श्री इन्द्रेश्वर महादेव: श्री अवन्तिपाश्वनाथ तीर्थ के चौराहा से बड़े पुल जाने पर घाटी के ठीक ऊपर रोड पर लेफ्ट साइड में रोड पर ।

श्री मार्कण्डेश्वर महादेव: अंकपात मार्ग में राम लक्ष्मण मंदिर के पास विष्णुसागर पर ।

श्री शिवेश्वर महादेव : राम लक्ष्मण मंदिर की सीढ़ी पर ।

श्री कुसुमेश्वर महादेव : राम लक्ष्मण मंदिर परिसर में द्वारकाधीश मंदिर की सीडी के नीचे ।

श्री अक्रूरेश्वर महादेव : राम लक्ष्मण मंदिर के बाहर ठीक सामने ।

श्री कुण्डेश्वर महादेव : अंकपात में अंकपात चुरहे से आगे बैठक जी के परिसर में ।

श्री लुम्पेश्वर महादेव :भैरव गढ़ पुल के पार सीधे हाट की तरफ पुलिस लाइन में अंदर ।

श्री गंगेश्वर महादेव : मंगल नाथ चौक में नदी के किनारे ।


श्री अंगारेश्वर महादेव : मंगल नाथ के पीछे कामड़ गाँव में ।

श्री उत्तरारेश्वर महादेव :मंगलनाथ चौक में श्री गंगेश्वर महादेव के आगे ।

श्री त्रिलोचनेश्वर महादेव : मंगलनाथ रोड से लालबई फुलबई मार्ग में लेफ्ट साइड की गली में राईट साइड की गली में ।

श्री वीरेश्वर महादेव :ढाबा रोड सत्यनारायण मंदिर के पास ।

श्री नुपूरेश्वर महादेव : डाबरीपीठा मे सुतरगली मे ।


श्री अभयेश्वर महादेव : ढाबा रोड से दानी गेट पर श्री पोरवाल धर्मशाला से आगे नदी मार्ग पर लेफ्ट साइड की पहली गली मे अंदर ।

श्री प्रथुकेश्वर महादेव :शिप्रा नदी के छोटे पुल से राम बाग़ जाने के मार्ग पर नदी की रपट के पास श्री कैदारेशश्वर महादेव मे ।

श्री स्थावरेश्वर महादेव : श्री कालिदास मोन्टेसरी स्कूल बाम्बाखाना के सामने , नईपेठ मे शनि मंदिर में अंदर ।

श्री सुलेश्वर महादेव :ढाबा रोड से दानी गेट पर श्री पोरवाल धर्मशाला के पास मे गली से आगे श्री कर्कटेश्वर महादेव से आगे लेफ्ट साइड की गली में अंदर ।

श्री ओंकारेश्वर महादेव :गोपाल मंदिर से कमरी मार्ग जाते समय लेफ्ट साइड की पहली गली से सीधे अंदर ।

श्री विश्वेश्वर महादेव : श्री ओंकारेश्वर महादेव से आगे राइट साइड की गली के कोने पर ।

श्री नीलकण्ठेश्वर महादेव: पीपलीनाका चौराहा से बी पास रोड पर राइट साइड में रोड पर ।

श्री सिंहेश्वर महादेव: गढकालिका मे गणपति मंदिर से आगे ।

श्री रेवन्तेवर महादेव : खाती मंदिर से कार्तिक चौक मार्ग पर मंदिर मे ।

श्री घण्टेश्वर महादेव: कार्तिक चौक के तिराहे पर ।


श्री प्रयागेश्वर महादेव : शिप्रा के बडेपुल से पीपलीनाका जाने के मार्ग मे ऋणमुक्तेश्वर मंदिर से पहले ।

श्री सिद्धेश्वर महादेव : गोपाल मंदिर के पीछे गली मे ।

श्री मातंगेश्वर महादेव : टंकी चौराहा के पास पिजारवाड़ी मे ।

श्री सौभाग्येश्वर महादेव : पटनी बाजार के पास सौभाग्येश्वर की गली मे ।

श्री रुपेशश्वर महादेव : सिंहपुरी मे आताल -पाताल भैरव से श्री गोवर्धन नाथजी के हवेली जाने के मार्ग मे लेफ्ट साइड की गली मे अंदर ।

श्री धनुसहस्त्रेश्वर महादेव : पिपलीनाका से तिलकेश्वर मंदिर के पास की गली मे अंदर , महाजन बस्ती मे ।

श्री पशुपत्तेश्वर महादेव : सब्जी मंडी से चक्रतीर्थ के बीच बाय पास मे पहली , गली मे घाटी ऊपर ।

श्री ब्रह्मेश्वर महादेव : ढाबा रोड़ से दानी गेट मार्ग , पोरवाल धर्मशाला के पास को गली में अंदर बाये हाथ की पहली गली में ।

श्री जल्पेश्वर महादेव : बड़े पुल से गांधी उद्यान से पहले राइट साइड के रास्ते मे नदी के पास ।

श्री केदारेश्वर महादेव : शिप्रा नदी के छोटी पुलिया से राम बाघ मार्ग पर पुलिया के राइट साइड में मंदिर ।

श्री पिशाचमुक्तेश्वर महादेव : रामघाट पर नदी के किनारे ।

श्री संगमेश्वर महादेव :श्री अगस्तेश्वर महादेव मंदिर के बाजू मे गेट से सीधे , नीचे सीढ़ी से नीचे ।

श्री दुर्घटेश्वर महादेव : शिप्रा नदी के गंधर्व घाट पर श्री मनकामनेश्वर महादेव के पास श्री कुक्कुटेश्वर महादेव के पास ।

श्री प्रयागेश्वर महादेव : कार्तिक चौक से रघुवंशी मार्ग से दाए हाथ के तरफ की गली मे सीधे चौक मे। श्री लोकपालेश्वर महादेव के पास ।

श्री चन्द्रादित्येश्वर महादेव : श्री महाकाल मंदिर के सभामंडप ,कुण्ड के पास मंदिर के अंदर , शंकराचार्या के मूर्ति के पास ।

श्री करभरेश्वर महादेव :भैरवगढ में कालभैरव मंदिर के सामने ,पुलिया के पास ।


श्री राजस्थलेश्वर महादेव : भागसीपुरा मे आनन्दभैरव के पास के गली मे , कोने पर ।

श्री बड़ेलेश्वर महादेव : श्री सिद्धनाथ मंदिर (भैरवगढ ) , पर सिद्धवट के सामने ।

श्री अरुणेश्वर महादेव : रामघाट पर राम सीढी के किनारे , श्री धर्मराज महाराज के बाजू मे , राम सीढी से पहले ।

श्री पुष्पदन्तेश्वर महादेव : कार्तिक चौक के तिराहे , से रघुवंशी मार्ग जाने पर लेफ्ट साइड की गली मे घाटी के ऊपर ।

श्री अभिमुक्तेश्वर महादेव: सिंहपुरी मार्ग में मंगल नाथ से आगे ।

श्री हनुमंतेश्वर महादेव : गढकालिका क्षेत्र मे श्री सिंहेश्वर महादेव , से आगे ।

श्री स्वप्नेश्वर महादेव : श्री महाकाल मंदिर परिसर मे ।


श्री पिंगलेश्वर महादेव : फ्रीगंज से मक्सीरोड पर श्री सिंथेटिक फैक्ट्री के पास के रास्ते मे बहुत अंदर , रेलवे के पुलिया के नीचे होते हुए ।

श्री कायावरोहणेश्वर महादेव : त्रिवेणी से तपोभूमि के पास के रास्ते , से बहुत अंदर करोहण गावँ मे ।

श्री बिल्बकेश्वर महादेव : गंभीर डेम मार्ग पर , ग्राम अम्बोदिया में श्री सेवाधाम आश्रम के ठीक सामने ।

श्री दुर्दरेश्वर महादेव : आर. डी गार्डी मेडिकल कॉलेज से आगे , सीधे जैथल गावँ में बहुत अंदर ।

अगला लेख: जानिए कैसा रहेगा आपकी राशि का दैनिक राशिफल 07-08-2019



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
18 जुलाई 2019
शि
इस सावन जानिए शिवपूजा में बेलपत्र का महत्व..!!!सावन का पवन महीना चल रहा है ऐसे में हम आपको बता रहें है शिवलिंग की पूजा में क्या क्या चढ़ाना चाहिए।भगवान शिव की पूजा में बेलपत्र प्रयोग होते हैं। बेलपत्र का बहुत महत्व होता है और इनके बिना शिव की उपासना सम्पूर्ण नहीं होती।👉🏻👉🏻👉🏻👉🏻 आइये जानते है ब
18 जुलाई 2019
19 जुलाई 2019
हमारी परामर्श/सलाह/एडवाइज सेवाएं आज 19,20 एवम 21 जुलाई 2019 (शुक्रवार से रविवार) तक मेरी परामर्श सेवाएं ...स्टाल नम्बर #AH,Astro World 2019 Exhibition,कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया,कनॉट प्लेस, नई दिल्ली में उपलब्ध रहेंगी।संपर्क करें--आचार्य अमित तिवारी - 09893016120...ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास
19 जुलाई 2019
31 जुलाई 2019
जानिए कैसा रहेगा आपकी राशि का दैनिक राशिफल 03-08-2019 को##मेष :-आज निर्णय लेने में असंमजस बना रहेगा।मन में कामकाज के प्रति नया उत्साह देखने को मिलेगा।जीवन साथी का सुख सहयोग मिलेगा।अपने स्वास्थ्य का विषेश ध्यान रखें।##वृषभ :- मित्रों के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। कामकाज में लाभ होगा। शरीर में फूर्ति
31 जुलाई 2019
31 जुलाई 2019
जानिए कैसा रहेगा आपकी राशि का दैनिक राशिफल... 02-08-2019 rashifal 2019##मेष :-आज परिश्रम के बावजूद कम सफलता मिलने से निराशा की भावना आ सकती है।धार्मिक स्थल की यात्रा हो सकती है। पारिवारिक सुख सहयोग मिलेगा।लम्बी यात्रा करने से बचने का प्रयास करें। ##वृषभ :-आज व्यावसायिक कार्यों में सरकारी हस्ताक्षेप
31 जुलाई 2019
19 जुलाई 2019
हमारी परामर्श/सलाह/एडवाइज सेवाएं आज 19,20 एवम 21 जुलाई 2019 (शुक्रवार से रविवार) तक मेरी परामर्श सेवाएं ...स्टाल नम्बर #AH,Astro World 2019 Exhibition,कांस्टीट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया,कनॉट प्लेस, नई दिल्ली में उपलब्ध रहेंगी।संपर्क करें--आचार्य अमित तिवारी - 09893016120...ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास
19 जुलाई 2019
31 जुलाई 2019
जानिए Shiv Aradhana"शिवलिंग" पूजा का महत्व भगवान शिव अत्यंत ही सहजता से अपने भक्तों की मनोकामना की पूर्ति करने के लिए तत्पर रहते है। भक्तों के कष्टों का निवारण करने में वे अद्वितीय हैं। समुद्र मंथन के समय सारे के सारे देवता अमृत के आकां
31 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x