"शब्द गोली नहीं है पर घाव करती है,शब्द गुड़ या चीनी नहीं पर इससे भी मीठे होते है।"

22 सितम्बर 2019   |  रामलाल साहनी   (4382 बार पढ़ा जा चुका है)

शब्द

शब्द गोली नहीं फिर भी घाव करती है शब्द गुड़ या चीनी नहीं फिर इनसे मीठे होते है। यह शब्द बोलने वाले के ऊपर निर्भर करता है कि वह इस शब्द को किस रूप में प्रयोग करना चाहता है।यह पत्रकारों का हथियार है,गरीब निसहाय के मुख की फरियाद है,शायरों की शायरी है, कवियों की कविता है,प्रेमियों की दास्तां है।कथा,पुराणों की वेद,उपनिषदों महाभारत,रामायण,भगवतगीता के कृष्ण की जुबान है शब्द एक बुद्धजीवियों की पहचान है शब्द,शब्द आगे और लिखूंगा समय का अभाव है

अगला लेख: कुछ मशविरा ऐसा भी दो



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x