जानिए भारत के मुख्य नगरों में दीपावली 2019 के लिए शुभ पूजन मुहूर्त..

24 अक्तूबर 2019   |  पं दयानन्द शास्त्री   (472 बार पढ़ा जा चुका है)

जानिए भारत के मुख्य नगरों में दीपावली 2019 के लिए शुभ पूजन मुहूर्त..

27 अक्टूबर के दिन पूरा देश दीपावली का शुभ त्यौहार मनाएगा। हर कोई इसकी खरीदारी और तैयारी में लगा हुआ है लेकिन अगर इनमें सबसे अहम बात को जाना जाए तो पूजा सबसे अहम होती है। अगर दीपावली वाले दिन पूजा नहीं हो तो ये दिन मनाने का कोई मतलब नहीं होता है। यहां हम आपको दीपावली मनाने का तरीका और शुभ मुहूर्त के बारे में बताएंगे।


इस वर्ष 2019 में दीपावली पूजन में यह भी रखें विशेष ध्यान


1. देवी लक्ष्मी का पूजन प्रदोष काल (सूर्यास्त के बाद के तीन मुहूर्त) में किया जाना चाहिए। प्रदोष काल के दौरान स्थिर लग्न में पूजन करना सर्वोत्तम माना गया है। इस दौरान जब वृषभ, सिंह, वृश्चिक और कुंभ राशि लग्न में उदित हों तब माता लक्ष्मी का पूजन किया जाना चाहिए क्योंकि ये चारों राशि स्थिर स्वभाव की होती हैं। ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी ने बताया कि यदि स्थिर लग्न के समय पूजा की जाये तो माता लक्ष्मी अंश रूप में घर में ठहर जाती है। इस वर्ष सूर्योस्त के बाद तीन मूहूर्त दिवाली पूजन के लिए अति उत्तम है। जिनमें प्रदोष काल, वृषभ काल और सांयकाल मुहूर्त अति उत्तम है। अगर आप इस दिन स्थिर लग्न में पूजा करते हैं तो आपको दिवाली पूजन का अत्याधिक लाभ प्राप्त होगा। स्थिर लग्न वृषभ, सिंह, वृश्चिक और कुंभ को कहा जाता है। दिवाली के दिन मां काली की भी पूजा की जाती है। इसके लिए महानिशीथ काल का मुहूर्त सर्वाधिक उत्तम है। यह समय तांत्रिक पूजा और सिद्धि प्राप्ति के लिए विशेष माना जाता है।


👉🏻👉🏻👉🏻महानिशीथ काल के दौरान भी पूजन का महत्व है लेकिन यह समय तांत्रिक, पंडित और साधकों के लिए ज्यादा उपयुक्त होता है। इस काल में मां काली की पूजा का विधान है। इसके अलावा वे लोग भी इस समय में पूजन कर सकते हैं, जो महानिशिथ काल के बारे में समझ रखते हों।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

ऐसे समझें दिवाली का ज्योतिष महत्व...

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पंडित दयानन्द शास्त्री जी ने बताया कि सनातन धर्म यानि हिंदू-धर्म में हर त्यौहार का ज्योतिष महत्व होता है। माना जाता है कि विभिन्न पर्व और त्यौहारों पर ग्रहों की दिशा और विशेष योग मानव समुदाय के लिए शुभ फलदायी होते हैं। हिंदू-समाज में दिपावली का समय किसी भी कार्य के शुभारंभ और किसी वस्तु की खरीदी के लिए बेहद शुभ माना जाता है। इस विचार के पीछे ज्योतिष महत्व है। पंडित दयानन्द शास्त्री के विचार अनुसार दरअसल दीपावली के आसपास सूर्य और चंद्रमा तुला राशि में स्वाति नक्षत्र में स्थित होते हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य और चंद्रमा की यह स्थिति शुभ और उत्तम फल देने वाली होती है। तुला एक संतुलित भाव रखने वाली राशि है। यह राशि न्याय और अपक्षपात का प्रतिनिधित्व करती है। पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया कि तुला राशि के स्वामी शुक्र जो कि स्वयं सौहार्द, भाईचारे, आपसी सद्भाव और सम्मान के कारक हैं। शुक्र के इन गुणों की वजह से सूर्य और चंद्रमा दोनों का तुला राशि में स्थित होना एक सुखद व शुभ संयोग होता है।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

विक्रम संवत2076 (रविवार) 27 अक्टूबर 2019 को दीपावली का मुहूर्त अलग अलग जगह का इस प्रकार है ।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🙏🏻🙏🏻🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

जयपुर में यह रहेगा लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त --


लक्ष्मी पूजन का समय शाम 06 बजकर 40 मिनट से शुरू होकर रात 08 बजकर 13 मिनट तक रहेगा

🙏🏻🙏🏻🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

जयपुर में प्रदोष काल लक्ष्मी पूजन मुहूर्त--


प्रदोष काल की शुरूआत शाम 05 बजकर 36 मिनट से शुरू होकर रात 08 बजकर 13 मिनट तक रहेगा।

🙏🏻🙏🏻🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

जयपुर में वृषभ काल लक्ष्मी पूजन मुहूर्त --


वृषभ काल की शुरूआत शाम 06 बजकर 40 मिनट से शुरू होकर रात 08 बजकर 35 मिनट तक रहेगा

🙏🏻🙏🏻🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻


दीवाली

अमावस्या तिथि --


27 अक्टूबर को दोपहर 12 बजकर 23 मिनट से शुरू होकर 28 अक्टूबर को सुबह 09 बजकर 08 मिनट पर समाप्त हो जाएगा।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

उज्जैन में दीपावली 2019 के लिए लक्ष्मी पूजन का शुभ पूजन मुहूर्त यह रहेगा--

रविवार, 27 अक्टूबर को लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त -

✍🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

दीपावली शुभ चौघड़िया मुहूर्त--

अपराह्न मुहूर्त्त (शुभ)

13:28 से 14:52 तक ..

सायंकाल मुहूर्त्त (शुभ, अमृत, चल)--

17:40 से 22:29 तक

रात्रि मुहूर्त्त (लाभ)....

25:41:26 से 27:17:36 तक

उषाकाल मुहूर्त्त (शुभ)...

28:53:46 से 30:29:57 तक..

✍🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

रविवार, 27 अक्टूबर को लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त -

रात में 18:44 से 20:14 तक..

प्रदोष काल--

17:40 से 20:14 तक ..

वृषभ काल--

18:44 से 20:39 तक..

✍🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

दीपावली महानिशीथ काल मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त ---

23:39 से 24:30 तक ..

महानिशीथ काल--

23:39 से 24:30 तक ...

सिंह लग्न काल--

25:15:33 से 27:33:12 तक...

🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

भोपाल में वर्ष 2019 में दिपावली पर लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त...

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :18:44:04 से 20:14:27 तक

अवधि :1 घंटे 30 मिनट

प्रदोष काल :17:40:34 से 20:14:27 तक

वृषभ काल :18:44:04 से 20:39:54 तक

🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

भोपाल में दिवाली 2019 के महानिशीथ काल मुहूर्त...

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त : 23:39:37 से 24:30:54 तक

अवधि : 0 घंटे 51 मिनट

महानिशीथ काल : 23:39:37 से 24:30:54 तक

सिंह काल : 25:15:33 से 27:33:12 तक

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

कोलकाता में लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त यह रहेगा ---

वृश्चिक लग्न दिन के 7.15 से

धनु लग्न दिन के 9.30 से

मकर लग्न दिन के 11.36से

कुम्भ लग्न दोपहर 1.23 से

मीन लग्न दोपहर 2.56 से

मेष लग्न दोपहर 4.27 से

गोधूलि लग्न शाम के 4.47 से

वृषभ लग्न शाम के 6.08 से

मिथुन लग्न रात के 8.06 से

रात 10 . 29 बजे तक

सिंह लग्न रात के 12.35 से

कन्या लग्न रात के 02.46 से

तुला लग्न सवेरे के 05 .01 से

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

मुम्बई में यह रहेगा लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त ---

वृश्चिक लग्न दिन के 8.11 से

धनु लग्न दिन के 10.25 से

मकर लग्न दिन के 12.31से

कुम्भ लग्न दोपहर 02.21 से

मीन लग्न दोपहर 3.57 से

मेष लग्न दोपहर 5.32 से

गोधूलि लग्न शाम के 5.45 से

वृषभ लग्न शाम के 7.15 से

मिथुन लग्न रात के 9.15 से

रात 11.28 बजे तक

सिंह लग्न रात के 01.41 से

कन्या लग्न रात के 5.49 से

कर्क लग्न में दीपावली पूजा करने से बचना चाहिए।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

2019 Lakshmi Puja Timings on Diwali for Gwalior, Madhya Pradesh, India--

(ग्वालियर के लिए दीपावली 2019 हेतु शुभ पूजन मुहूर्त)


2019 Lakshmi Puja

LocationGwalior, India change...


☛ Diwali Lagna Puja Muhurat

iOS Shubh Diwali AppAndroid Shubh Diwali App

Install Shubh Diwali App to get Diwali Puja Muhurta, Puja Vidhi, Aarti, Chalisa and more at one place

Gwalior, India

Lakshmi Puja

27th

October 2019

Sunday ( रविवार)...

Pradosh Kaal MuhuratPradosh Kaal Muhurat

Lakshmi Puja on Sunday, October 27, 2019

Lakshmi Puja Muhurat - 06:42 PM to 08:12 PM

Duration - 01 Hour 30 Mins

Pradosh Kaal - 05:39 PM to 08:12 PM

Vrishabha Kaal - 06:42 PM to 08:39 PM

Amavasya Tithi Begins ---


12:23 PM on Oct 27, 2019

Amavasya Tithi Ends - 09:08 AM on Oct 28, 2019...

Panchang for Lakshmi PujaChoghadiya Muhurat on Lakshmi Puja...

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

MuhuratNishita Kaal Muhurat

Lakshmi Puja Muhurat --- 11:36 PM to 12:27 AM, Oct 28

Duration - 00 Hours 51 Mins

Mahanishita Kaal - 11:36 PM to 12:27 AM, Oct 28

Simha Kaal - 01:12 AM to 03:26 AM, Oct 28

Lakshmi Puja Muhurat without Sthir Lagna

Amavasya Tithi Begins --- 12:23 PM on Oct 27, 2019

Amavasya Tithi Ends - 09:08 AM on Oct 28, 2019

Panchang for Lakshmi PujaChoghadiya Muhurat on Lakshmi Puja

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

Choghadiya Puja-- MuhuratChoghadiya Puja Muhurat

Auspicious Choghadiya Muhurat for Diwali Lakshmi Puja

Afternoon Muhurat-- (Shubha) - 01:26 PM to 02:50 PM

Evening Muhurat-- (Shubha, Amrita, Chara) - 05:39 PM to 10:26 PM

Night Muhurat (Labha) - 01:37 AM to 03:12 AM, Oct 28

Early Morning Muhurat (Shubha) - 04:48 AM to 06:23 AM, Oct 28

Panchang for Lakshmi PujaChoghadiya Muhurat on Lakshmi Puja

Notes: All timings are represented in 12-hour notation in local time of Gwalior, India with DST adjustment (if applicable).

Hours which are past midnight are suffixed with next day date. In Panchang day starts and ends with sunrise.

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

दिल्ली में यह रहेगा लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त ---

वृश्चिक लग्न दिन के08.09 से

धनु लग्न दिन के10.28 से

मकर लग्न दिन के 12.32से

कुम्भ लग्न दोपहर 02.14 से

मीन लग्न दोपहर 03.42 से

मेष लग्न दोपहर 05.07 से

गोधूलि लग्न शामके05.25 से

वृषभ लग्न शाम के06.42 से

मिथुन लग्न रात के 08.38 से

रात 10.52 बजे तक

सिंह लग्न रात के 01.12 से

कन्या लग्न रात के 03.30 से

कर्क लग्न मिथुन समाप्त होता है जब से सिंह शुरू होता है वहां तक रहता है ।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻🌹🌹

बीकानेर में यह रहेगा लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त --

वृश्चिक लग्न दिन के 08.24से

धनु लग्न दिन के10.42 से

मकर लग्न दिन के12.46से

कुम्भ लग्न दोपहर 2.29 से

मीन लग्न दोपहर 3.57 से

मेष लग्न दोपहर 05.23से

गोधूलि लग्न शाम 05.42 से

वृषभ लग्न शाम के 06.59 से

मिथुन लग्न रात के 08.55 से

रात 11.09 बजे तक

सिंह लग्न रात के 01.29 से

कन्या लग्न रात के 03.46 से

व्यापार की वृषभ लग्न में ओर घर की सिंह लग्न में पूजा करने से लक्ष्मी जी का आगमन बहुत ज्यादा होता है ।

✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻✍🏻🌹🌹👉🏻👉🏻✍🏻✍🏻🌷🌷👉🏻👉🏻

जानिए दिपावली से पूर्व लक्ष्मी पूजन के कुछ उपाय जिनको करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। जैसे--

👉🏻👉🏻👉🏻

दीपावली के दिन एक बिना कटा या फटा पीपल का पत्ता तोड़कर घर में लेआएं और इस पत्ते पर 'ओम महालक्ष्म्यै नमः' लिखकर पूजा स्थल पर रख दें।

दिवाली की रात लक्ष्मी पूजन से पहले लौंग और इलायची का मिश्रण बना लें। फिर इसको सभी देवी-देवताओं को तिलक लगाएं। इस प्रयोग से आपको लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होगी।

👉🏻👉🏻👉🏻

दीपावली पर किन्नरों को मिठाइयां और पैसे देकर बदले में किन्नर से एक रूपये का सिक्का मांग कर अपनी तिजोरी में रख लें, गरीबी दूर करने के लिए यह उपाय बड़ा ही कारगर माना जाता है।

👉🏻👉🏻👉🏻

इस वर्ष दीपावली का पर्व रविवार के दिन है इसलिए हो सके तो सफेद रंग की वस्तुओं का दान करें।

👉🏻👉🏻👉🏻

बरगद के पत्ते पर हल्दी से स्वास्तिक बनाकर तिजोरी में रखें इससे आपकी तिजोरी में धन बढ़ता जाएगा.

👉🏻👉🏻👉🏻

दीपावली की रात अपने घर में श्रीयंत्र स्थापित करें और रात को कनकधारा स्त्रोत का पाठ करें. धन वृद्धि में यह उपाय बड़ा शुभ और सफल माना जाता है।

अगला लेख: जानिए कुछ ज्योतिष ज्योतिषीय उपाय/सुझाव-



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 अक्तूबर 2019
उज्जैन (मध्यप्रदेश) निवासी आदरणीय पंडित सूर्य नारायण व्यास वह मूर्धन्य विद्वान ज्योतिषी थे जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता का मुहूर्त 14 अगस्त की रात्रिकालीन अभिजीत (12 बजे ) या ये कहें की 15 अगस्त की सुबह 00 बजे का निकला था l स्वतंत्र भारत का जन्म 15 अगस्त 1947 को मध्यरात्रि दिल्ली में हुआ था और कुंडल
24 अक्तूबर 2019
24 अक्तूबर 2019
भारत में जितने भी बड़े-बड़े व्यापारी और सेलिब्रिटीज हैं उनके अपने पर्सनल पंडितजी होते हैं। जिनसे पूछकर ही वे अपने सारे शुभ काम करते हैं। ऐसा हर कोई करता है और धार्मिक गुरु पर उनका ये विश्वास ही उन्हें सच्ची सफलता प्रदान करता है। ज्योतिषीयों के बारे में बहुत सारी बातें होती हैं जिन्हें समझने के लिए ज
24 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x