विजेथुआ धाम

05 मार्च 2020   |  Ramakant Mishra   (302 बार पढ़ा जा चुका है)

  • Vijethuwa dham

जय श्री बजरंग बली, हनुमानजी🙏🙏_बिजेथुआ_धाम_🙏🙏


सुलतानपुर जिले की कादीपुर तहसील में सूरापुर बाजार के दक्षिण लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर बिजेथुआ नामक स्थान पर स्थित हनुमान जी का वह मंदिर, जिसके बारे में कहा जाता है कि यहीं महाबीर बजरंगबली श्री हनुमानजी ने कालनेमि का वध किया था।


रामायण की कथा अनुसार जब राम-रावण युद्ध में लक्ष्मण जी को शक्ति लगी और वह मूर्छित हो गए तो वैद्यराज सुषेण के कहने पर हनुमान संजीवनी बूटी लाने के लिए हिमालय की तरफ चले।


Vijethuwa dham

हनुमान संजीवनी बूटी न ला पाएं, इसके लिए रावण ने अपने एक मायावी राक्षस कालनेमि को भेजा, ताकि वह मार्ग में ही हनुमान जी का वध कर दे।




कालनेमि मायावी था और उसने एक साधु का वेश धारण कर रास्ते में राम-राम का जाप करना शुरू कर दिया। थके-हारे हनुमान जी राम-राम सुन कर वहीं रुक गए।


कालनेमि ने उन्हें अपनी रामभक्ति का विश्वास दिलाया और उन्हें अपने आश्रम में कुछ समय विश्राम कर फिर रामकाज के लिए आगे बढ़ने को कहा। हनुमान जी मान गए। हनुमान जी काफी थके हुए थे, सो उन्होंने स्नान करने की इच्छा जताई।


मांगा जल तेहि दीन्ह कमंडल। कह कपि नहिअघाउँ थोरे जल।

सर मज्जन करि आतुर आवहु।दिच्छा देउँ ग्यान जेहि पावहुँ।।


बिजेथुआ में आज भी वह कुंड है, जिसके बारे में कहा जाता है कि इसी में हनुमान जी ने स्नान किया था। जब हनुमान जी इस कुंड में स्नान कर रहे थे तो कहते हैं कि कालनेमि मगरमच्छ का रूप धारण कर इस कुंड में घुस आया और हनुमान जी को खा जाना चाहा।


Vijethuwa dham


हनुमान जी से उसका भीषण युद्ध हुआ और हनुमान जी ने यहीं इसी कुंड में उसका वध कर दिया।


सर पैठत कपि पद गहा, मकरी तब अकुलान।

मारी सो धरि दिव्य तनु, चली गगन चढि जान।।



कालनेमि के वध के बाद हनुमान जी सीधे संजीवनी लेने हिमालय की ओर निकल गए। बिजेथुआ महावीरन मंदिर महावीर हनुमान की रामभक्ति और वीरता का प्रतीक तो है ही, साथ ही कालनेमि के विश्वासघात का प्रतीक भी है।


हर मंगलवार को यहां विराट मेला लगता है,

जहां दूर-दूर से श्रद्धालु हनुमान जी के दर्शन को आते हैं।


कैसे पहुंचें

सुलतानपुर जिला मुख्यालय से कादीपुर के लिए बस या टैक्सी से जा सकते हैं। करीब पैंतालीस मिनट का रास्ता है। इसके बाद कादीपुर से हर समय बिजेथुआ के लिए टैक्सी-ऑटो मिलते हैं।

#जय_कुशभवनपुर

#जय_सुलतानपुर

अगला लेख: Chandrashekhar "ajad"



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x