अमेरिका ने अफगानिस्तान पर गिराया सारे बमों का बाप, जानें 5 बातें

14 अप्रैल 2017   |  प्रियंका शर्मा   (250 बार पढ़ा जा चुका है)

MOAB (फोटोःReuters)

अमेरिका ने गुरुवार देर रात अब तक का सबसे बड़ा नॉन-न्यूक्लियर बम अफगानिस्तान में गिरा दिया. MOAB नाम के इस बम को ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स’ कहा जाता है. ये बम ISIS के आतंकियों पर गिराने का दावा किया है, लेकिन अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इससे आतंकियों को कितना नुकसान हुआ है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक, इस हमले में केरल से गए 22 ISIS लड़ाके संभवत: मार दिए गए हैं. इस बम को पहली बार फील्ड पर इस्तेमाल किया गया है और डॉनल्ड ट्रंप इसे आतंक से निपटने की नई विदेश नीति बता रहे हैं.

MOAB और कल हुए हमले के बारे में मोटा-माटी जानकारी ये रहीः

1. कहां इस्तेमाल हुआ ?

ये बम अफगानिस्तान में नंगरहर प्रांत के अछिन में एक टनल कॉम्प्लेक्स पर गिराया गया. टनल कॉम्प्लेक्स का मतलब उन गुफाओं से है जिनमें अफगान आतंकी अमेरिकी एयर फोर्स से बचने के लिए छुपते हैं. फिलहाल ये नहीं मालूम नहीं चला है कि हमले में कितने आतंकी मारे गए हैं. लेकिन बेकसूरों पर होने वाले संभावित असर को देखते हुए दुनिया में कई तरफ से इसकी आलोचना हो रही है.

MOAB के पहले टेस्ट में धुंआ 10,000 फीट तक उठा था. (फोटोः Reuters)

2. ये बम था कौन सा?

बम का पूरा नाम ‘GBU43/B Massive Ordnance Air Blast (MOAB)’ है. जब ये बनाया गया था तब MOAB से कुछ लोगों ने ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स’ गढ़ लिया और फिर यही इसका ‘निक नेम’ पड़ गया. ये दुनिया का सबसे बड़ा कनवेंशनल बम है. कनवेंशनल माने जिसमें न्यूक्लियर एक्सप्लोज़िव इस्तेमाल न किया गया हो. इस बम में 8 टन से ज़्यादा मिलिट्री ग्रेड बारूद होता है.

3. दूसरों से कैसे अलग है?

इस बम की सबसे नायाब चीज़ इसका आकार ही है. वजन होता है करीब 10 टन. बम गिराने के लिए उसे एक कार्गो प्लेन में ले जाते हैं. जिस इलाके पर बम गिराना होता है, वहां जाकर प्लेन के कार्गो होल्ड का दरवाज़ा खोल दिया जाता है और फिर ये बम फिसल कर नीचे गिर जाता है. ये बम ज़मीन से कुछ ऊपर हवा में फटता है. इससे हवा में एक शॉक वेव बनती है जो काफी दूर तक जाकर नुकसान पहुंचा सकती है. कम से कम डेढ़ किलोमीटर के रेडियस में इसका जबरदस्त असर रहता है.

जॉर्ज बुश (फोटोःReuters)

4. बुश ने बनाया, ट्रंप ने चलाया

MOAB जॉर्ज बुश के समय में शुरू हुआ था. इस प्रोग्राम की कीमत 2100 करोड़ से ज़्यादा थी. एक MOAB बम की लागत 110 करोड़ पड़ती है. 2003 में इसका पहला टेस्ट फ्लोरिडा में हुआ था. डिस्कवरी और नेश्नल ज्यॉग्रफी जैसे चैनलों ने MOAB प्रोग्राम भी बनाए हैं. फिलहाल ये साफ नहीं है कि ट्रंप ने इसके इसके इस्तेमाल की इजाजत दी कि नहीं. ट्रंप ने बस इतना कहा कि मैंने अपनी फौज को अथॉरिटी दी है. ट्रंप ने MOAB के इस्तेमाल को एक ‘कामयाब मिशन’ बताया.

5. इस्तेमाल की ज़रूरत क्यों पड़ी ?

अफगानिस्तान का पूरा इलाका वहां की सरकार के काबू में नहीं है. इसके लिए आतंकी गुटों से लगातार लड़ाई चल रही है. नंगरहर में भी लड़ाई चल रही है. अफगान फौज को अछिन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था क्योंकि यहां ISIS के आतंकी गुफांओं की आड़ लेकर हमला कर रहे थे. इसलिए अफगान फौज पीछे हटी और अमेरिका से हवाई हमला करने को कहा गया. अफगानिस्तान की अपनी मुकम्मल एयरफोर्स नहीं है. इसलिए हवाई हमले के लिए वो अमेरिकी मदद पर आश्रित रहते हैं.

MOAB के पहले टेस्ट की फुटेज यहां देखेंः

लोग नाखुश भी हैं

अमेरिकी सेना और अफगान सरकार दोनों का कहना है कि हमला अफगान सेना के कहने पर हुआ और अफगान सरकार को भरोसे में लेकर हुआ. लेकिन अफगानिस्तान में कई लोग इस बात से नाखुश हैं. उनका कहना है कि अमेरिका अफगानिस्तान को अपने हथियारों के लिए ट्रायल ग्राउंड की तरह इस्तेमाल कर रहा है. सबसे आगे रहे अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई.

अमेरिका के पास हथियारों की कभी कोई कमी नहीं रही. नए हथियार बनाने में भी वो सबसे आगे रहा है. लेकिन उसका इस्तेमाल उसने हमेशा ऐसे दुश्मनों के खिलाफ किया है जो कहीं उसकी टक्कर के नहीं थे. पहला एटम बम जापान पर तब गिराया गया जब वो लड़ाई लगभग हार गया था. अब दुनिया का सबसे बड़ा बम अफगानिस्तान में गुफा में छिपकर बैठे आतंकियों पर गिराया गया है. अमेरिका के लिहाज़ से ये एक कामयाब कदम है. उसने बिना परमाणु बम इस्तेमाल किए एक बहुत बड़े इलाके में नुकसान पहुंचाने का तरीका खोज लिया है. लेकिन बमबारी से खोखले हो चुके एक देश में एक नए और बड़े बम का इस्तेमाल विवादित ही रहेगा.

साभार

http://www.thelallantop.com/news/american-forces-drop-worlds-biggest-conventional-bomb-moab-on-isis-targets-in-afganistan/

अगला लेख: SBI के ग्राहकों पर बढ़ेगा बोझ, कई सेवाओं के नियम बदले, जान लें ये 10 बड़ी बातें


शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 अप्रैल 2017
योगी मुख्यमंत्री क्या बने कि उनके गेरुआ वस्त्र और खासकर योगी कट कुर्ता कि यूपी से बिहार तक डिमांड बढ़ गई हैं. बीजेपी के समर्थक से लेकर योगी के हिंदू वाहनी के कार्यकर्ता में गेरुआ कुर्ता कि होड़ मची हुई है. योगी जब विधानसभा पहुंचे तो उनके बगल में बैठे सुरेश खन्ना उन्ही के रंग में रगे लिबाज में दिखाई
05 अप्रैल 2017
14 अप्रैल 2017
आज महिलाएं हर मामले में पुरुषों को कड़ी टक्कर दे रही हैं। ऐसा शायद की कोई कार्यक्षेत्र बचा हो जहां महिलाओं ने अपनी मौजूदगी का अहसास नहीं कराया हो। भारत में भले ही पुरुष प्रधान संस्कृति रही हो, लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि देश में महिलाओं को पूजा तक
14 अप्रैल 2017
04 अप्रैल 2017
भारतीय स्टेट बैंक संबंधित छह बैंकों से विलय के बाद दुनिया के 50 सबसे बड़े बैंकों में शामिल हो गया है. हालांकि आम आदमी की जेब पर इससे बोझ बढ़ने जा रहा है. विलय के बाद एसबीआई ने कई सुविधाओं के लिए लगने वाले शुल्क में वृद्धि कर दी है. विलय के बाद छह बैंकों के ग्राहकों को भी ये बढ़ी हुई कीमत चुकानी होगी.जा
04 अप्रैल 2017
12 अप्रैल 2017
पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट में मौत की सजा पाने वाले पूर्व भारतीय नौसैनिक कुलभूषण जाधव के केस में एक रोचक बात सामने आई है. मार्च 2016 में जिस पाकिस्तानी टीम ने कुलभूषण को अरेस्ट किया था, उसके एक सदस्य मुहम्मद हबीब जाहिर के इंडियन कस्टडी में होने का संदेह है. हबीब पाकिस्तानी सेना का रिटायर हो चुका ले
12 अप्रैल 2017
01 अप्रैल 2017
गोवंश सुरक्षा मजबूत करने के लिए गुजरात की विधानसभा में गोरक्षा सुधार बिल पेश किया गया, जो पास हो गया. बिल राज्य के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने सदन में रखा था, जिसे विपक्ष की गैर-हाजिरी में पास किया गया. इस नए बिल के आधार पर पुलिस को पहले से आठ अधिकार ज्यादा मिलेंगे. पहले अगर कोई गोवंश के मांस साथ
01 अप्रैल 2017
09 अप्रैल 2017
सुविचार
09 अप्रैल 2017
25 अप्रैल 2017
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी भाषण देते हैं तो श्रोता उनके साथ जुड़ जाते हैं। भले ही लोग उनसे सहमति रखते हों या न रखते हों लेकिन इस बात में कोई दोराय नहीं है कि उनकी भाषण शैली कुछ खास है। मौजूदा दौर में पक्ष-विपक्ष का शायद ही कोई ऐसा नेता होगा, जो यह दावा कर सके कि लोगों को अपनी भाषण शैली से बांधे
25 अप्रैल 2017
29 अप्रैल 2017
मंदिर-मस्जिद को लेकर जो सियासत भारत में होती है उसकी एक झलक आप हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी देख सकते हैं। इन सभी मामलों में पाकिस्तान बिल्कुल भारत की तरह ही है। चाहे बात भ्रष्टाचार की हो या महिलाओं की सुरक्षा की, ये सभी मुद्दे पाकिस्तान में भी उसी तरह से उठते हैं जैसे भारत में। इस बार पाकिस्तान
29 अप्रैल 2017
31 मार्च 2017
आखिरकार वो तारीख आ ही गई, जिसका किसी जियो यूजर को इंतजार नहीं था. 31 मार्च को जियो की फ्री डेटा और कॉलिंग सर्विस खत्म हो रही है. 1 अप्रैल से यूजर्स को इसके लिए पैसे चुकाने पड़ेंगे. जियो की पेड सर्विस की अनाउंसमेंट मुकेश अंबानी ने फरवरी में ही कर दी थी, जिसके मुताबिक जियो यूजर्स 1 से 31 मार्च के बीच
31 मार्च 2017
01 अप्रैल 2017
समस्‍या का समाधान हम खोजते नहीं हैं। असफलता का कारण भी कहां खोजते हैं... आगे असफलता से निराशा कयों (Asaphalataa se niraashaa k‍yon) - YouTube
01 अप्रैल 2017
11 अप्रैल 2017
नमस्कार दोस्तों,दोस्तों अगर आप ऑनलाइन विडियो देखने और download करने के शोकिन हैं |तो आज की ये जानकारी आपके लिएँ हैं |आज में आपको YouTube Go एप क्या हैं ?तथा इसके बारे में पूरी जानकारी शेयर करूँगा |दोस्तों अगर आप यूट्यूब के दीवाने है और इसका बहुत उपयोग करते हैं |और इस पर विडियो देखने में आपका ज्यादा.
11 अप्रैल 2017
13 अप्रैल 2017
इस वीडियो में यह बताने का प्रयास किया गया है कि हम क्‍यों भयभीत होते हैं। आगे.. भयभीत क्‍यों होते हैं (bhayabheet k‍yon hote hain) - YouTube
13 अप्रैल 2017
16 अप्रैल 2017
उन्‍नति किसकी होती है (Un‍nati kisakee hotee hai)इस वीडियो में यह बताने का प्रयास किया गया है कि उन्‍नति किसकी होती है उन्‍नति किसकी होती है (Un‍nati kisakee hotee hai) - YouTube
16 अप्रैल 2017
13 अप्रैल 2017
भारत में सबसे शक्तिशाली इंसान कौन है?इसका जवाब देना तब तक मुश्किल है, जब तक कि ताकत का मतलब ना पता हो. क्योंकि हर कोई अपने आप में ताकतवर ही होता है. इंडिया टुडे ने 2017 की अपनी पावर लिस्ट (The High & Mighty Power List 2017) जारी की है. इसके मुताबिक ताकत का मतलब है संभावना. जैसे कि पेट्रोकेमिकल का बि
13 अप्रैल 2017
03 अप्रैल 2017
लक्ष्‍य प्राप्ति हेतु श्रद्धा, विश्‍वास व प्रेम के साथ-साथ कर्म आवश्‍यक है। आगे... लक्ष्‍य कब अपना होता है (LakSh‍y kab apanaa hotaa hai) - YouTube
03 अप्रैल 2017

शब्दनगरी से जुड़िये आज ही

सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
लोकप्रिय प्रश्न
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x