विनोद खन्ना नहीं रहे

27 अप्रैल 2017   |  आशीष श्रीवास्‍तव   (244 बार पढ़ा जा चुका है)

मशहूर बॉलीवुड एक्टर विनोद खन्ना का 70 साल की आयु में निधन हो गया है. वह कैंसर से पीड़ित थे. गुरुवार को मुंबई के अस्पताल में उन्होंने जीवन को अलविदा कह दिया.

Indien Bollywood Schauspieler Vinod Khanna (Getty Images/AFP/STRDEL)

बॉलीवुड एक्टर और पंजाब के गुरदासपुर से सांसद विनोद खन्ना का इलाज कई दिनों से मुंबई के सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में चल रहा था. बीच में उनकी कुछ तस्वीरें भी सामने आईं, जिसमें वह बेहद कमजोर दिखाई पड़ रहे थे. इसके बाद उनके परिवार ने कहा कि वह इलाज से बेहतर हो रहे हैं. लेकिन गुरुवार को रूपहले पर्दे का यह गबरू अभिनेता दुनिया को अलविदा कह गया.

अपने फिल्मी करियर के दौरान विनोद खन्ना ने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. 1968 में "मन का मीत" फिल्म से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखने वाले विनोद खन्ना करीब पांच दशकों तक बॉलीवुड में सक्रिय रहे. शुरुआत में विलेन की भूमिका निभाने वाले विनोद बाद में मुख्यधारा के मजबूत कद काठी वाले हीरो बन गए.

Indien Bollywood Schauspieler Vinod Khanna (AFP/Getty Images)

गुरदासपुर से बीजेपी के सांसद भी थे विनोद खन्ना

1980 के दशक में जब उनका करियर शिखर पर था, तभी उन्होंने सबको हैरान करते हुए अचानक फिल्म इंडस्ट्री छोड़ दी. वह ओशो के नाम से मशहूर आध्यात्मिक गुरु रजनीश के आश्रम में चले गए. पांच साल वहां रहने के बाद वह फिल्म इंडस्ट्री में लौटे लेकिन फिर उन्होंने बहुत ज्यादा काम नहीं किया. इसी दौरान विनोद खन्ना ने राजनीति में कदम रखा और पंजाब के गुरुदासपुर से वह कई बार बीजेपी के सांसद चुने गए.

रुपहले पर्दे पर वापसी करते हुए विनोद खन्ना ने सलमान खान के साथ दंबग में काम किया और 2015 में शाह रूखखान के साथ दिलवाले में. बीच बीच में फिल्मों में आकर गुम हो जाने वाले विनोद खन्ना इस बार पूरी तरह अंजान दुनिया में चले गए हैं, ऐसी दुनिया जहां से वह वापस नहीं लौटेंगे.

विनोद खन्ना ने कई हिट फिल्मों में काम किया है वे न सिर्फ एक्टर के रोले में हिट थे बल्कि खलनायक के किरदार में भी खूब हिट थे। विनोद खन्ना ने 'मन का मीत 'मेरे अपने', 'कुर्बानी', 'पूरब और पश्चिम', 'रेशमा और शेरा', 'हाथ की सफाई', 'हेरा फेरी', 'मुकद्दर का सिकंदर' जैसी कई शानदार और हिट फिल्में की हैं।

कहा जाता है कि विनोद खन्ना जब स्टारडम की ऊंचाई पर थे तो आध्यात्मिक गुरु और दार्शनिक ओशो उनको चमक धमक की दुनिया से दूर आध्यात्म की दुनिया में ले गए।ओशो ने नामचीन बॉलीवुड स्टार विनोद खन्ना की सिर्फ जिंदगी ही नहीं बदली बल्कि उनके सुपर स्टार का तमगा भी छीन लिया। विनोद खन्ना को जानने वाले बताते हैं कि अगर विनोद खन्ना आचार्य रजनीश के चक्कर में न पड़ते तो शायद बॉलीवुड का इतिहास कुछ और ही होता।

एक समय था जब फैमिली को वक्त देने के लिए विनोद संडे को काम नहीं करते थे। ऐसा करने वाले वो शशि कपूर के बाद दूसरे एक्टर थे, लेकिन ओशो से प्रभावित होकर उन्होंने अपना पारिवारिक जीवन तबाह कर लिया था।

कुछ लोगों का मानना है कि अगर विनोद खन्ना फिल्म इंड्रस्टी में लगातार काम करते रहते तो शायद अमिताभ बच्चन इतनी आसानी से सुपर स्टार नहीं बन पाते। 70-80 के दशक में विनोद खन्ना का जादू दर्शकों के सर चढ़ कर बोल रहा था।

अगला लेख: निर्भया उर्फ़ ज्योति



रेणु
28 अप्रैल 2017

बहुत दुखद है विनोद खन्ना जी का निधन -- पर अपनी के जतए वो हमेशा हम्मरे बीच रहेंगे - अलविदा विनोद खन्ना जी --

जी बिलकुल

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 अप्रैल 2017
अमिताभ लिखते हैं कि उनकी पर्सनिलिटी में सहज आकर्षण था, वे लोगों को मोह लेते थे, उनकी हंसी, उनकी मुस्कान, उनकी बेफिक्री...मत पूछिए, उन्हें कुछ भी डिस्टर्ब नहीं कर सकता था। अमिताभ बच्चन ने विनोद खन्ना के साथ अपने 48 साल के संबंधों को याद कियाअमिताभ बच्चन ने अभिनेता विनोद खन्ना के साथ 48 साल के अपने सफ
28 अप्रैल 2017
04 मई 2017
अगर आपका घूमने का मन है, लेकिन जेब में पैसे कम हैं तो परेशान होने की ज़रुरत नहीं है. आज हम आपको भारत की ऐसी जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां घूमने के लिए आपको अपनी जेब पर ज्यादा बोझ नहीं डालना होगा... 1. ऋषिकेश: उत्तराखंड का ऋषिकेश हिमालय की तलहटी में मौजूद हैं. यहा
04 मई 2017
14 अप्रैल 2017
सड़क पर गाड़ी चलाते समय नियमों का पालन न करना काफी मंहगा पड़ सकता है। सरकार ने मोटर व्‍हीकल संशोधन बिल को मंजूरी दे दी है। जिसके बाद मनचलों, शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों, बिना हेलमेट दोपहिया वाहन चलाने वालों और यातायात नियम का पालन न करने वालों पर शिकंजा कसा जाएगा। जानें नए कानून में हुए क्‍या-क्‍या ब
14 अप्रैल 2017
14 अप्रैल 2017
MOAB (फोटोःReuters)अमेरिका ने गुरुवार देर रात अब तक का सबसे बड़ा नॉन-न्यूक्लियर बम अफगानिस्तान में गिरा दिया. MOAB नाम के इस बम को ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स’ कहा जाता है. ये बम ISIS के आतंकियों पर गिराने का दावा किया है, लेकिन अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इससे आतंकियों को कितना नुकसान हुआ है. शुरुआती जानका
14 अप्रैल 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x