PM मोदी ने इमरजेंसी पर कांग्रेस को जमके खींचा, पर फिर खुद गलत नारा लगा बैठे

26 जून 2018   |  रितिका चटर्जी   (116 बार पढ़ा जा चुका है)

PM मोदी ने इमरजेंसी पर कांग्रेस को जमके खींचा, पर फिर खुद गलत नारा लगा बैठे

26 जून 1975. इसी तारीख को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल का ऐलान किया था. 26 जून 2018. अब इसी तारीख को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) इमरजेंसी के खिलाफ देश भर में काला दिवस मना रही है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहां पीछे रहने वाले थे. मोदी मुंबई पहुंचे, जहां बीजेपी ने एक कार्यक्रम आयोजित किया था. नाम था – 1975 आपातकाल : लोकतंत्र की अनिवार्यता – विकास मंत्र – लोकतंत्र. कार्यक्रम में मोदी इमरजेंसी के खिलाफ जमकर बोले. कांग्रेस पर खूब बरसे. पढ़ें वो क्या बोले –

1. कोई ये समझने की गलती ना करे कि हम सिर्फ देश में आपातकाल लगाने वाली कांग्रेस सरकार की आलोचना करने के लिए काले दिन का स्मरण करते हैं. हम देश की वर्तमान और भावी पीढ़ी को जागरूक करना चाहते हैं. हम लोकतंत्र के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को बनाए रखने के लिए इसका स्मरण करते हैं.

2. देश ने कभी सोचा तक नहीं था कि सत्ता सुख के मोह में और परिवार भक्ति के पागलपन में, लोकतंत्र और संविधान की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले लोग हिन्दुस्तान को जेलखाना बना देंगे.



3. एक परिवार के लिए संविधान का किस प्रकार से साधन के रूप में उपयोग किया जा सकता है, शायद ही ऐसा उदाहरण कहीं मिल सकता है.

4. जब-जब कांग्रेस पार्टी को और खासकर एक परिवार को अपनी कुर्सी जाने का संकट महसूस हुआ है तो उन्होंने चिल्लाना शुरू किया है कि देश संकट से गुज़र रहा है, देश में भय का माहौल है और देश तबाह हो जाने वाला है और इसे सिर्फ हम ही बचा सकते हैं.

5. आपातकाल के समय नयायपालिका को भयभीत कर दिया गया था. जो लोकतंत्र के प्रति समर्पित थे, उनको मुसीबत झेलने के लिए मजबूर कर दिया गया था और जो लोग एक परिवार के पक्ष में थे उनकी पांचों उंगलियां घी में थीं.

6. जिस पार्टी के अन्दर लोकतंत्र ना हो, उनसे लोकतंत्र के प्रति प्रतिबद्धता की अपेक्षा नहीं की जा सकती है.

7. जिन्होंने देश के संविधान को कुचल डाला हो, देश के लोकतंत्र को कैदखाने में बंद कर दिया हो, वो आज भय फैला रहे हैं कि मोदी संविधान को खत्म कर देगा.

8. लोकतंत्र के प्रति आस्था को मजबूत करने के लिए हमें आपातकाल के इस काले दिन को भूलना नहीं चाहिए और भूलने देना भी नहीं चाहिए.



9. उस समय किशोर कुमार को कांग्रेस ने एक परफॉर्मेंस करने के लिए के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने मना कर दिया. उनका इतना ही गुनाह था और उसके बाद टीवी और रेडियो से उनकी छुट्टी कर दी गई. फिल्म ‘आंधी’ पर भी रोक लगा दी गई.

10. इस कार्यक्रम का उद्देश्य उन लोगों के प्रति आभार प्रकट करना है, जिन्होंने 1975 में आपातकाल के खिलाफ लड़ाई लड़ी और लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षित करने के बारे में सोचा.

भाषण देने में तो मोदी जी माहिर हैं हीं. सो यहां भी धाकड़ बोले. कार्यक्रम में उनके अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और प्रदेश भाजपा प्रमुख रावसाहेब दानवे भी मौजूद थे. कार्यकर्ता भी थे. सभी तालियां पीट रहे थे. मगर भाषण के अंत में पीएम ने एक चूक कर दी. वो बोले. हाथ उठाओ. नारा लगाओ –

लोकतंत्र अमर रहे…लोकतंत्र अमर रहे…

बस यही गलती है. अरे भइया अमर वो चीज होती है जो मर चुकी हो. जैसे गुजर चुके लोगों के लिए नारा लगाया जाता है. फलाने जी अमर रहें, ढिमाके जी अमर रहें. पर यहां तो मोदी जी ने लोकतंत्र को ही अमर करवा दिया. उसके बिना मरे ही. अरे इसी लोकतंत्र की वजह से ही तो वो पीएम बने हैं ना. खैर पीएम हैं, गलती हो जाती है. बेहतर होता वो नारा लगाते- लोकतंत्र जिंदाबाद…


Prime Minister Narendra Modi targeted Congress for the Dark Days of Emergency

https://www.thelallantop.com/news/prime-minister-narendra-modi-targeted-congress-for-the-dark-days-of-emergency/

PM मोदी ने इमरजेंसी पर कांग्रेस को जमके खींचा, पर फिर खुद गलत नारा लगा बैठे

अगला लेख: जनाब इतिहास के पन्नों में भी नहीं दिखेंगी आपको ये 22 आश्चर्यजनक और दुलर्भ तस्वीरें



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 जून 2018
बातों के ज़माने होते हैं. ज़माने की बातें होती हैं. आज के ज़माने की एक बात है. बेहद मज़ेदार. जिस इंसान से हदी है उसके चाहने वाले गच्च हो जाते हैं. वो फूले नहीं समाते हैं. जैसे ही उनके मुख पर ये शब्द आते हैं – ‘प्रधानमन्त्री मोदी ने आज तक एक भी छुट्टी नहीं ली’ उनके गाल ऐसे लाल
27 जून 2018
03 जुलाई 2018
साल की मोस्ट अवेटेड फिल्म 'संजू' सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. फिल्म कमाई के मामले में हर दिन नई ऊंचाइयों को छू रही है. फिल्म जहां ओपनिंग डे कमाई के मामले में साल की सबसे बड़ी फिल्म साबित हुई, वहीं रिलीज के तीसरे दिन ही फिल्म ने कमाई के मामले में 'बाहुबली-2' (हिंदी) को पी
03 जुलाई 2018
21 जून 2018
21 जून. बेनजीर भुट्टो का जन्मदिन. इस मौके पर हम आपको एक किस्सा सुनाते हैं. सीधे, बेनजीर की किताब से. किताब का नाम था- डॉटर ऑफ द ईस्ट. माने, पूरब की बेटी.1971 की हार के बाद पाकिस्तान सामूहिक शोक में था. उसका पूर्वी हिस्सा अलग होकर मुल्क बन चुका था. बांग्लादेश का बनना यूं ह
21 जून 2018
11 जून 2018
देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने खाताधारकों की मात्र एक गलती से जुर्माने के रूप में लगभग 39 करोड़ रुपये कमाये। स्टेट बैंक ने चेक पर हस्ताक्षर का मिलान ना होने पर ग्राहकों से पिछले 40 महीनों में 39 करोड़ रुपये जुर्माने के रूप में वसूल किये हैं। दैनिक भास्
11 जून 2018
18 जून 2018
भारतीय रेलवे जल्द ही पूरे देश में अपने रंग रूप को बदलने जा रही है। रेल मंत्रालय ने फैसला लिया है कि सभी ट्रेनों के डिब्बों को आकर्षक बनाने के लिए कलर शेड में रंगकर वर्ल्ड क्लास लुक दिया जाएगा।इस स्कीम के तरह सभी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के डिब्बों के कलर में बदलाव किया जा
18 जून 2018
06 जुलाई 2018
लोगों का दिल जीतने के लिए आप उन्हें कुछ स्वादिष्ट खिलाएं जिससे वो खुश हो जाएं – पांचवी सदी ईसा पूर्व में एथेंस के राजनीतिक और सामाजिक ताने-बाने पर यूनानी नाटककार एरिस्टोफ़ेनस की यह टिप्पणी भारत पर बिल्कुल फिट बैठती है। पिछली सरकार के अंतिम वर्षों के कार्यकाल से हताश जनता
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
लोगों का दिल जीतने के लिए आप उन्हें कुछ स्वादिष्ट खिलाएं जिससे वो खुश हो जाएं – पांचवी सदी ईसा पूर्व में एथेंस के राजनीतिक और सामाजिक ताने-बाने पर यूनानी नाटककार एरिस्टोफ़ेनस की यह टिप्पणी भारत पर बिल्कुल फिट बैठती है। पिछली सरकार के अंतिम वर्षों के कार्यकाल से हताश जनता
06 जुलाई 2018
22 जून 2018
ख़ूबसूरती को देखने का सबका अपना-अपना नज़रिया होता है, किसी को बाहरी सुंदरता पसंद आती है, तो किसी को अंदरूनी ख़ूबसूरती भाति है. किसी को बॉलीवुड अभिनेत्रियां सुन्दर लगती हैं, तो वहीं कई लोगों के लिए ये सिर्फ़ दिखावटी है. ख़ैर, ये तो अपनी-अपनी पसंद की बात है, पर आज हम आपको ऐसी श
22 जून 2018
18 जून 2018
दोस्तों दुनिया में मनोरंजन और कला की कमी नहीं है, आये दिन हमें कुछ ऐसी चीज़े दिखती हैं, जिसे देखकर ऐसा लगता है, जैसे की कितना सूंदर चीज़ बनाया है। ये दुनिया है ही ऐसी रंगबिरंगे रंगो से घिरी हुई। आये दिन हमें ऐसी तस्वीरें भी दिखती हैं। जो हमें सोचने पर मजबूर कर देती हैं की
18 जून 2018
23 जून 2018
जब कश्मीर का भारत में विलय हुआ था तब सरदार पटेल के विरोध के बाद भी धारा 370 को संविधान में जोड़ा गया।कश्मीर में आज भी बहुत से भारत के कानून पूर्ण रूप से लागु नहीं होते । धारा 370 भारतीय अखंडता के लिए एक नासूर की तरह है । जब तक इसे हटाया नहीं जाता तब तक कश्मीरी आतंकवाद से
23 जून 2018
25 जून 2018
नई दिल्‍ली: 1971 के आम चुनाव में 'गरीबी हटाओ' के नारे के साथ प्रचंड बहुमत (518 में से 352 सीटें) हासिल करने वाली इंदिरा गांधी ने जब उसी साल के अंत में पाकिस्‍तान को युद्ध में शिकस्‍त दी और बांग्‍लादेश दुनिया के नक्‍शे पर आया तो किसी दौर में 'गूंगी गुडि़या' कही जाने वाली इ
25 जून 2018
25 जून 2018
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुरू से ही वीआईपी कल्चर के विरोधी रहे हैं। उसकी झलक एक बार देखने को मिली। प्रधानमंत्री मोदी रविवार रात करीब नौ बजे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का हाल जानने बिना किसी सिक्योरिटी और प्रोटोकाल के एम्स पहुंच गए। प्रधानमंत्री मोदी ने बिना रूट के अप
25 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x