हिंदू कैलेंडर - 17 जुलाई, 2018

17 जुलाई 2018   |  सुधाकर सिंह   (39 बार पढ़ा जा चुका है)



मंगलवार, 17 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तिथी - शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 17 जुलाई को 9:05 बजे तक है। इसके बाद जुलाई में 7:28 बजे तक शुक्ल पक्ष सशती तीथी या चंद्रमा के मोम के चरण के छठे दिन 18. सभी समय भारत मानक समय पर आधारित है। शुभ - 17 जुलाई, 2018 को शुभ समय हिंदू कैलेंडर के अनुसार - पूरे दिन कोई अच्छा और शुभ समय नहीं है। नक्षत्र - पुरल फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र 17 जुलाई को दोपहर 2:44 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 1:50 बजे तक उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम है। भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान) में, पुराना फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र 17 जुलाई को 9:28 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 8:20 बजे तक उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम है। राशी या चंद्रमा साइन - सिमा राशी 17 जुलाई को सुबह 8:30 बजे तक। यह कन्या राशि 1 जुलाई को 1:08 बजे तक है। भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान) में, सिन्हा राशी 17 जुलाई को 3:07 बजे तक। इसके बाद यह कन्या राशी 7:56 तक है प्रधान मंत्री, 1 9 जुलाई को त्यौहार, व्रत और शुभ दिन - रामायण मसाम केरल में शुरू होता है आदी माह तमिलनाडु काली युग वर्ष में शुरू होता है - 5120 विक्रम संवंत 2075 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तिथी या पांचवें दिन अशदा महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान उत्तर भारत में - दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पी पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, उड़ीसा और जम्मू-कश्मीर। विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में वास्तविक ज्येष्ठ महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन। विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन महाराष्ट्र और गोवा में अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है। विक्रम सामंत 2074 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या गुजरात में अशदा महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है। तमिलनाडु में तमिल कैलेंडर में आदी मसाम का पहला दिन तमिलनाडु में आया। (विलांबी नामा वर्ष) केरल में मलयालम कैलेंडर में कार्किडाका मसाम का पहला दिन। (कोला वर्षाम 11 9 3) कैलेंडरों में आजार महीने का 32 वां दिन असम और बंगाल में आया। (बंगाली वर्ष 1425) 17 जुलाई, 2018 को खराब अवधि Rahukalam - 3:53 अपराह्न से 5:34 अपराह्न यामागंदम - 9:12 अपराह्न से 10:53 पूर्वाह्न Gulikai - 12:33 अपराह्न से 2:13 अपराह्न Durmuhurtham - 8:32 सुबह 9:26 बजे दुरमुहर्थम - 11:29 अपराह्न 17 जुलाई को 12:11 बजे 18 जुलाई को वर्ज्याम - 4:19 अपराह्न से 5:50 बजे पंचक (बुरा) - 17 जुलाई, 2018 को अच्छा समय नहीं मिला अभिजीत मुहूर्ता - 12:09 अपराह्न से 12:57 अपराह्न अमिर्ता कलाम - 3:32 पूर्वाह्न से 5:01 पूर्वाह्न सर्वर्थ सिद्धी योग - उपस्थित नहीं अमृता सिद्धी योग - मौजूद नहीं द्विपुष्कर योग - उपस्थित नहीं त्रिपुष्कर योग - योग नहीं - योग (बुरा) 17 जुलाई को दोपहर 2:04 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 11:34 बजे परिघा (बुरी) है। कराना-बावा (बुरा) सुबह 10:25 बजे तक 5:25 बजे तक। इसके बाद बालावा (अच्छा) 4:19 अपराह्न 17 जुलाई को। इसके बाद 18 जुलाई को 3:23 बजे तक कौलावा (अच्छा) है।

मंगलवार, 17 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तिथी - शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 17 जुलाई को 9:05 बजे तक है। इसके बाद जुलाई में 7:28 बजे तक शुक्ल पक्ष सशती तीथी या चंद्रमा के मोम के चरण के छठे दिन 18. सभी समय भारत मानक समय पर आधारित है। शुभ - 17 जुलाई, 2018 को शुभ समय हिंदू कैलेंडर के अनुसार - पूरे दिन कोई अच्छा और शुभ समय नहीं है। नक्षत्र - पुरल फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र 17 जुलाई को दोपहर 2:44 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 1:50 बजे तक उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम है। भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान) में, पुराना फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र 17 जुलाई को 9:28 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 8:20 बजे तक उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम है। राशी या चंद्रमा साइन - सिमा राशी 17 जुलाई को सुबह 8:30 बजे तक। यह कन्या राशि 1 जुलाई को 1:08 बजे तक है। भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान) में, सिन्हा राशी 17 जुलाई को 3:07 बजे तक। इसके बाद यह कन्या राशी 7:56 तक है प्रधान मंत्री, 1 9 जुलाई को त्यौहार, व्रत और शुभ दिन - रामायण मसाम केरल में शुरू होता है आदी माह तमिलनाडु काली युग वर्ष में शुरू होता है - 5120 विक्रम संवंत 2075 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तिथी या पांचवें दिन अशदा महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान उत्तर भारत में - दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पी पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, उड़ीसा और जम्मू-कश्मीर। विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में वास्तविक ज्येष्ठ महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन। विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन महाराष्ट्र और गोवा में अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है। विक्रम सामंत 2074 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या गुजरात में अशदा महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है। तमिलनाडु में तमिल कैलेंडर में आदी मसाम का पहला दिन तमिलनाडु में आया। (विलांबी नामा वर्ष) केरल में मलयालम कैलेंडर में कार्किडाका मसाम का पहला दिन। (कोला वर्षाम 11 9 3) कैलेंडरों में आजार महीने का 32 वां दिन असम और बंगाल में आया। (बंगाली वर्ष 1425) 17 जुलाई, 2018 को खराब अवधि Rahukalam - 3:53 अपराह्न से 5:34 अपराह्न यामागंदम - 9:12 अपराह्न से 10:53 पूर्वाह्न Gulikai - 12:33 अपराह्न से 2:13 अपराह्न Durmuhurtham - 8:32 सुबह 9:26 बजे दुरमुहर्थम - 11:29 अपराह्न 17 जुलाई को 12:11 बजे 18 जुलाई को वर्ज्याम - 4:19 अपराह्न से 5:50 बजे पंचक (बुरा) - 17 जुलाई, 2018 को अच्छा समय नहीं मिला अभिजीत मुहूर्ता - 12:09 अपराह्न से 12:57 अपराह्न अमिर्ता कलाम - 3:32 पूर्वाह्न से 5:01 पूर्वाह्न सर्वर्थ सिद्धी योग - उपस्थित नहीं अमृता सिद्धी योग - मौजूद नहीं द्विपुष्कर योग - उपस्थित नहीं त्रिपुष्कर योग - योग नहीं - योग (बुरा) 17 जुलाई को दोपहर 2:04 बजे तक। इसके बाद यह 18 जुलाई को 11:34 बजे परिघा (बुरी) है। कराना-बावा (बुरा) सुबह 10:25 बजे तक 5:25 बजे तक। इसके बाद बालावा (अच्छा) 4:19 अपराह्न 17 जुलाई को। इसके बाद 18 जुलाई को 3:23 बजे तक कौलावा (अच्छा) है।

मंगलवार, 17 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तिथी - शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह शुक्ल पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 17 जुलाई को 9:05 बजे तक है। इसके बाद जुलाई में 7:28 बजे तक शुक्ल पक्ष सशती तीथी या चंद्रमा के मोम के चरण के छठे दिन 18. सभी समय भारत मानक समय पर आधारित है।



शुभ - 17 जुलाई, 2018 को शुभ समय हिंदू कैलेंडर के अनुसार - पूरे दिन कोई अच्छा और शुभ समय नहीं है।



नक्षत्र - पुरा फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र 17 जुलाई को 17 जुलाई को। इसके बाद यह 18 जुलाई को 1:50 बजे तक उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम में है।



भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान), पुरल फाल्गुनी या पूरम नक्षत्र में 17 जुलाई को सुबह 9:28 बजे तक। इसके बाद 18 जुलाई को उत्तरा फाल्गुनी या उथिरम नक्षत्रम 8:20 बजे तक है।



राशी या चंद्रमा संकेत - सिन्हा राशी 17 जुलाई को शाम 8:30 बजे तक। इसके बाद यह 20 जुलाई को कन्या राशी 1:08 बजे तक है।



भारत के पश्चिमी हिस्सों (महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा और दक्षिण राजस्थान) में, सिन्हा राशी 17 जुलाई को 3:07 बजे तक। इसके बाद 1 9 जुलाई को 7:56 बजे तक कन्या राशी है।



त्यौहार, व्रत और शुभ दिन - रामायण मसाम केरल में शुरू होता है आदी माह तमिलनाडु में शुरू होता है



काली युगा वर्ष - 5120



Vikram Samvant 2075 – Ashada Shukla Paksha Panchami Tithi or the fifth day during the waxing phase of moon in Ashada month in North India - Delhi, Rajasthan, Uttar Pradesh, Bihar, Jharkhand, Madhya Pradesh, Haryana, Punjab, Himachal Pradesh, Uttarakhand, Chhattisgarh, Orissa and Jammu and Kashmir.



विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में वास्तविक ज्येष्ठ महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन।



विलाबी नाम संवतसर / शालीवाहन साका 1 9 40 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या पांचवें दिन महाराष्ट्र और गोवा में अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है।



विक्रम सामंत 2074 - अशदा शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या गुजरात में अशदा महीने में चंद्रमा के मोम चरण के दौरान पांचवां दिन। (यह आशद शुक्ला पक्ष पंचमी तीथी या आधे महीने में चंद्रमा के मोम के चरण के दौरान पांचवें दिन 17:19 बजे तक 4:19 बजे तक है। फिर आशिद शुक्ला पक्ष सती तीथी या छठे दिन अशदा महीने में चंद्रमा के चरम चरण के दौरान 18 जुलाई को दोपहर 2:36 बजे तक)। यह समय केवल भारत के पश्चिमी हिस्सों में लागू है।



तमिलनाडु में तमिल कैलेंडर में आदी मसाम का पहला दिन तमिलनाडु में आया। (विलांबी नामा वर्ष)

केरल में मलयालम कैलेंडर में कार्किडाका मसाम का पहला दिन (कोला वर्षाम 11 9 3)

कैलेंडरों में आजार महीने का 32 वां दिन असम और बंगाल में आया। (बंगाली वर्ष 1425)



17 जुलाई, 2018 को खराब अवधि

Rahukalam – 3:53 PM to 5:34 PM

यामागंदम - 9:12 अपराह्न से 10:53 बजे

गुलिकाई - 12:33 अपराह्न 2:13 अपराह्न

Durmuhurtham - 8:32 पूर्वाह्न से 9:26 पूर्वाह्न

Durmuhurtham - 11:29 अपराह्न 17 जुलाई को 12:11 बजे 18 जुलाई को

वरज्याम - 4:19 बजे से शाम 5:50 बजे



Panchak (bad) – not present



17 जुलाई, 2018 को अच्छा समय

अभिजीत मुहूर्ता - 12:09 अपराह्न 12:57 अपराह्न

अमिर्ता कलाम - 3:32 पूर्वाह्न से 5:01 पूर्वाह्न

Sarvartha Siddhi Yog – not present

अमृता सिद्धी योग - उपस्थित नहीं है

Dwipushkar Yog – not present

त्रिपुष्कर योग - उपस्थित नहीं है



योग - विविधता (बुरा) 17 जुलाई को दोपहर 2:04 बजे तक। इसके बाद 18 जुलाई को 11:34 बजे तक परिघा (खराब) है।



कराना - बावा (बुरा) 5 जुलाई को 5:25 बजे तक। इसके बाद यह 17 जुलाई को 4:19 बजे तक बालाव (अच्छा) है। इसके बाद 18 जुलाई को 3:23 बजे तक कौलाव (अच्छा) है।

साझा करें लिंक प्राप्त करें फेसबुक ट्विटर Pinterest Google+ ईमेल अन्य ऐप्स लेबल दैनिक हिंदू कैलेंडर

साझा करें फेसबुक ट्विटर Pinterest Google+ ईमेल अन्य ऐप्स लिंक प्राप्त करें

साझा करें फेसबुक ट्विटर Pinterest Google+ ईमेल अन्य ऐप्स लिंक प्राप्त करें

साझा करें फेसबुक ट्विटर Pinterest Google+ ईमेल अन्य ऐप्स लिंक प्राप्त करें

लिंक फेसबुक ट्विटर Pinterest Google+ ईमेल अन्य ऐप्स प्राप्त करें

लेबल दैनिक हिंदू कैलेंडर

अगला लेख: Sri Dnyaneshwar Palkhi Prasthan from Alandi to Pandharpur - Alandi Sant Jnaneshwar Palkhi Prasthan Today



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 जुलाई 2018
पुरी जगन्नाथ रथ यात्रा के दौरान हर साल तीन नए लकड़ी के रथ बनाए जाते हैं। रथ बनाने के लिए पसंदीदा पेड़ फासी, कदंबा, धारुआ, देवदारु, सिमिली, आसाना, महालिमा, मोई, कालाचुआ, पालहुआ इत्यादि हैं। दसपल्ला और नायागढ़ वन विभाजन और खुर्दा वन विभाजन रथ बनाने के लिए आवश्यक पेड़ प्रदान करता है। आदर्श वृक्ष और पूज
04 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हि
शनिवार, 7 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तीथी - कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के अंधेरे चरण और अंधेरे चरण के दौरान नौवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह 7 जुलाई को शाम 7:26 बजे तक चंद्रमा के पंख या अंधेरे चरण के दौरान कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या नौवां दिन है। इसके बाद यह
06 जुलाई 2018
07 जुलाई 2018
देहरा और आलंदी से महाराष्ट्र के पंढरपुर में प्रसिद्ध विठोबा मंदिर में वार्षिक पंढरपुर यात्रा (वारी) हजारों लोगों और तीर्थयात्रियों को वारारिस के रूप में जाना जाता है। आशिदी एकादाशी पर पांडारपुर यात्रा 2018 की तारीख 23 जुलाई को है। 2018 के अनुसूची के अनुसार, देहु से तुकाराम महाराज पालखी की शुरूआत 5 ज
07 जुलाई 2018
03 जुलाई 2018
भगवान बाहरी इंद्रियों के लिए जाना नहीं जा सकता है। अनंत, निरपेक्ष, पकड़ा नहीं जा सकता है। फिर भी यह हमें बढ़ाता है, हम इसके अस्तित्व का अनुमान नहीं लगा सकते हैं। वह मौजूद है। यह क्या है जो बाहरी आंखों से नहीं देखा जा सकता है? आंख खुद ही यह अन्य सभी चीजें देख सकता है, लेकिन खुद ही यह दर्पण नहीं कर सक
03 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हि
शनिवार, 7 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तीथी - कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के अंधेरे चरण और अंधेरे चरण के दौरान नौवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह 7 जुलाई को शाम 7:26 बजे तक चंद्रमा के पंख या अंधेरे चरण के दौरान कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या नौवां दिन है। इसके बाद यह
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
एक भक्त अरुणा स्तम्भा को देखता है जब भक्त बादा डांडा पर श्रीमंदिर (पुरी जगन्नाथ मंदिर) तक पहुंचता है। यह लंबा सूर्य खंभा है और मंदिर के पूर्वी प्रवेश द्वार के पास स्थित है। अरुणा स्तम्भा ऊंचाई 34 फीट है। खंभे ऊंचाई में 33 फीट 8 इंच (10.2616 मीटर) मापता है। खंभे का व्यास 2 फीट है। सोलह पक्षीय बहुभुज
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
एक भक्त अरुणा स्तम्भा को देखता है जब भक्त बादा डांडा पर श्रीमंदिर (पुरी जगन्नाथ मंदिर) तक पहुंचता है। यह लंबा सूर्य खंभा है और मंदिर के पूर्वी प्रवेश द्वार के पास स्थित है। अरुणा स्तम्भा ऊंचाई 34 फीट है। खंभे ऊंचाई में 33 फीट 8 इंच (10.2616 मीटर) मापता है। खंभे का व्यास 2 फीट है। सोलह पक्षीय बहुभुज
06 जुलाई 2018
07 जुलाई 2018
शब्द 'माया' का उपयोग ऋग्वेद में जादुई पर सीमाओं को इंगित करने के लिए किया जाता है: 'इंद्र मायाभ्य pururupa iyate'; इंद्र, माया की मदद से, विभिन्न रूपों को मानता है। ' (ऋग्वेद, 6.47.18) उपनिषद में शब्द एक दार्शनिक महत्व प्राप्त करता है। श्वेताश्वर उपनिषद ने घोषणा की: 'जानें कि प्रकृति, प्रकृति, निश्च
07 जुलाई 2018
04 जुलाई 2018
हि
बुधवार, 4 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तीथी - कृष्णा पक्ष सशती तीथी या छठे दिन चंद्रमा के हिंदू कैलेंडर और पंचांग के घाव या अंधेरे चरण के दौरान छठे दिन। यह कृष्णा पक्ष सती तीथी या छठे दिन चंद्रमा के अंधेरे चरण के दौरान 4 जुलाई को शाम 7:22 बजे तक है। इसके बाद यह कृष्णा पक्ष सप्तमी तीथी या सातवें
04 जुलाई 2018
03 जुलाई 2018
1
अवसाद आज एक व्यापक समस्या है और वृद्धि पर है। अवसाद से निपटने के लिए हिंदू धर्म में 10 सरल युक्तियां दी गई हैं। हिंदू धर्म के अनुसार, चंद्रमा (चंद्र - हिंदू चंद्रमा भगवान) और अवसाद और मनोदशा के बीच सीधा संबंध है। सोमवार को शिव को प्रार्थनाएं दें। चंद्र हमेशा शिव के लिए ऋणी हैं और इसलिए शिव के भक्त च
03 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
गोइबोबो के संस्थापक सदस्य और सीटीओ विकल्प साहनी, गोइबोबो की यात्रा के शुरुआती दिनों के बारे में आपकीस्टोरी से बात करते हैं और जहां मेकमैट्रीप के विलय के बाद स्टार्टअप का नेतृत्व किया जाता है।यह वर्ष 2007 था। वह समय जब फ्लिपकार्ट और ओला वास्तव में स्टार्टअप थे। यह भारत की पहली इंटरनेट कंपनियों की आयु
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हिंदुओं के बीच व्यापक विश्वास है कि हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने से जीवन में विभिन्न समस्याओं को हल करने में मदद मिलेगी। हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने के लाभ यहां: मंगलवार को हनुमान को सर्वश्रेष्ठ पीपल लीफ माला की पेशकश कैसे करें। 9, 11 या 18 पीपल पत्तियों का उपयोग करके एक माला बनाओ
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हि
Tithi in Hindu Calendar on Friday, July 6, 2018 – Krishna Paksha Ashtami Tithi or the eighth day during the waning or dark phase of moon in Hindu calendar and Panchang in most regions. It is Krishna Paksha Ashtami Tithi or the eighth day during the waning or dark phase of moon till 7:55 PM on July 6
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हि
शनिवार, 7 जुलाई, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तीथी - कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के अंधेरे चरण और अंधेरे चरण के दौरान नौवें दिन और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग। यह 7 जुलाई को शाम 7:26 बजे तक चंद्रमा के पंख या अंधेरे चरण के दौरान कृष्णा पक्ष नवमी तीथी या नौवां दिन है। इसके बाद यह
06 जुलाई 2018
03 जुलाई 2018
1
अवसाद आज एक व्यापक समस्या है और वृद्धि पर है। अवसाद से निपटने के लिए हिंदू धर्म में 10 सरल युक्तियां दी गई हैं। हिंदू धर्म के अनुसार, चंद्रमा (चंद्र - हिंदू चंद्रमा भगवान) और अवसाद और मनोदशा के बीच सीधा संबंध है। सोमवार को शिव को प्रार्थनाएं दें। चंद्र हमेशा शिव के लिए ऋणी हैं और इसलिए शिव के भक्त च
03 जुलाई 2018
07 जुलाई 2018
देहरा और आलंदी से महाराष्ट्र के पंढरपुर में प्रसिद्ध विठोबा मंदिर में वार्षिक पंढरपुर यात्रा (वारी) हजारों लोगों और तीर्थयात्रियों को वारारिस के रूप में जाना जाता है। आशिदी एकादाशी पर पांडारपुर यात्रा 2018 की तारीख 23 जुलाई को है। 2018 के अनुसूची के अनुसार, देहु से तुकाराम महाराज पालखी की शुरूआत 5 ज
07 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हिंदुओं के बीच व्यापक विश्वास है कि हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने से जीवन में विभिन्न समस्याओं को हल करने में मदद मिलेगी। हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने के लाभ यहां: मंगलवार को हनुमान को सर्वश्रेष्ठ पीपल लीफ माला की पेशकश कैसे करें। 9, 11 या 18 पीपल पत्तियों का उपयोग करके एक माला बनाओ
06 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
हिंदुओं के बीच व्यापक विश्वास है कि हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने से जीवन में विभिन्न समस्याओं को हल करने में मदद मिलेगी। हनुमान को पीपल लीफ माला की पेशकश करने के लाभ यहां: मंगलवार को हनुमान को सर्वश्रेष्ठ पीपल लीफ माला की पेशकश कैसे करें। 9, 11 या 18 पीपल पत्तियों का उपयोग करके एक माला बनाओ
06 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x