बूंदें

06 अगस्त 2018   |  गौरीगन गुप्ता   (255 बार पढ़ा जा चुका है)

आसमां से धरती तक पदयात्रा करती हरित पर्ण पर मोती सी चमकती बूंद बूंद घट भरे बहती बूंदे सरिता बने काली ने संहार कर एक एक रक्त बूंद चूसा बापू ने रक्त बूंद बहाये बिना नयी क्रांति का आह्वान किया बरसती अमृत बूंदें टेसू पूनम की रोगी काया को निरोगी करे मन को लुभाती ओस की बूंदें क्षणभंगुर सम अस्तित्व का जीवन में एहसास कराती खुशी सुनकर दो बूँद ऑखो में झलक आए गमों का साया पडा ऑंसू बन लुढक गये। तरबतर पसीने की बूंदें मेहनतकश बयां करती माथे पर झलकी बूंदें अपराध बोध का आभास कराती मिठास के कण कण एकत्र कर रिश्तों की लडी तैयार करी एक पल, खारी छींट ने हमे अपने से परे टपका दिया

अगला लेख: उम्मीदों की मशाल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 अगस्त 2018
🌞 ~ आज का अपना पंचांग ~ 🌞⛅ दिनांक 02 अगस्त 2018⛅ दिन - गुरुवार ⛅ विक्रम संवत - 2075 (गुजरात. 2074)⛅ शक संवत -1940⛅ अयन - दक्षिणायन⛅ ऋतु - वर्षा⛅ मास - श्रावण⛅ गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास - आषाढ़⛅ पक्ष - कृष्ण ⛅ तिथि - पंचमी सुबह 11:32 तक तत्पश्चात षष्ठी⛅ नक्षत्र - उत्तर भाद्रपद दोपहर 01:13
02 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
ठहरे पानी में पत्थर उछाल दिया है । उसने यह बड़ा कमाल किया है ।वह तपाक से गले मिलता है आजकल । शायद कोई नया पाठ पढ़ रहा है आजकल । आँखों की भाषा भी कमाल है । एक गलती और सब बंटाधार है ।
23 जुलाई 2018
12 अगस्त 2018
कलम के सिपाही की विरासत को यूँ बदनाम ना करो, सिपाही हो कलम के तुम यूँ किसी के प्यादे ना बनो.ये दो लाइने कलम के सिपाही मुंशी प्रेमचंद को समर्पित है, और उन पत्रकारों , लेखकों, कवियों और शायरों को उनका धर
12 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
अपने अन्दर जलते हुए अपने अरमान देखे भड़के हुए शोलो की आग से हाथ सेकते हुए इन्सान देखे क्या सोचा था और क्या देखा हमने अपने लोगो को बदलते देखा काफी दिन हुए आईना देखे हुए
23 जुलाई 2018
02 अगस्त 2018
गु
क्षण-प्रतिक्षण,जिंदगी सीखने का नाम सबक जरूरी नहीं,गुरु ही सिखाएजिससे शिक्षा मिले वही गुरु कहलाये जीवंत पर्यन्त गुरुओं से रहता सरोकार हमेशा करना चाहिए जिनका आदर-सत्कार प्रथम पाठशाला की गुरु माँ बनी दूजी शाला के शिक्षक गुरु बने सामाजिकता का पाठ माँ ने सिखाया शैक्षणिक स्तर शिक्षक ने उच्च बनाया नैतिक श
02 अगस्त 2018
16 अगस्त 2018
सूर्य का सिंह में गोचरकल श्रावण शुक्ल सप्तमी यानी 17 अगस्तको 06:50 के लगभग सूर्यदेव अपने मित्र ग्रह चन्द्र की कर्क राशि से निकल कर अपनीस्वयं की राशि सिंह और मघा नक्षत्र में प्रस्थान कर जाएँगे, जहाँ तीन सितम्बर को बुध का प्रस्थान भी हो जाएगा |सिंह सूर्य की मूल त्रिकोण राशि भी
16 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x