चीन का भारतीय क्षेत्र पर अतिक्रमण

14 अगस्त 2018   |  Pratibha Bissht   (64 बार पढ़ा जा चुका है)

चीन का भारतीय क्षेत्र पर अतिक्रमण

नाथू ला, सिक्किम में भारत-चीन सीमा की स्थिति 28 अगस्त, 2017 को 73 दिन के डोक्कलम स्टैंडऑफ समाप्त होने के बाद अपेक्षाकृत शांत रही है। हालांकि, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी अब पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में चली गई है, जहां सैनिकों ने जुलाई में भारतीय पक्ष में लगभग 500 मीटर घुसपैठ की है और यहां तक ​​कि क्षेत्र में लगभग पांच तंबू भी लगाए हैं।

सूत्रों के मुताबिक , पीएलए के सैनिक मवेशियों के साथ खानाबदोशों के वेष में भारतीय सीमा में घुस गए | लेकिन भारतीय सेना ने उनके वापस जाने के लिए बैनर ड्रिल भी किया, लेकिन वे नहीं गए | दोनों सेनाओं के बीच ब्रिगेडियर स्तरीय र्ता हुई और उसके बाद कुछ सैनिक 3 टेंट के साथ वापस चले गए | हालाँकि, कुछ चीनी सैनिक और 2 टेंट्स अभी भी वही मौजूद है|
इस बीच, चीनी सेना ने लद्दाख प्रशासन के बारे में शिकायत की थी और कहा था कि वह नेरलोंग क्षेत्र में सड़क बनाने की कोशिश कर रहे है |
चीन ने इस घटना से इंकार कर दिया था और कहा था कि यह भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने वाले सैनिकों से अवगत नहीं थे | चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हू चुनींग ने कहा था कि देश सीमा पर शान्ति चाहता है और भारत को भी ऐसा ही करना चाहिए।

हालिया घुसपैठ के कुछ दिनों बाद यह कहा गया कि चीनी सैनिकों ने डोक्कलम में निर्माण गतिविधियों को फिर से शुरू कर दिया था और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने सीमा पर अपनी गतिविधियों को बढ़ा दिया था।
इसकी पुष्टि करते हुए सूत्रों ने समाचार 18 को बताया कि चीन वास्तव में अपनी परियोजनाओं को फिर से शुरू कर रहा है और एक बार फिर से इस क्षेत्र में सड़कों का निर्माण शुरू कर चुका है।


सूत्रों ने कहा कि चीनी सभी आवश्यक सामग्रियों साथ लेकर आये है - 10 से अधिक निर्माण वाहन, पांच अस्थायी शेड, 30 अन्य भारी वाहन और लगभग 9 0 तंबू । यह भी कहा गया है कि भारतीय उपग्रहों से इस काम को छुपाने के लिए भी कुछ तंबू लगाए गए हैं।

अगला लेख: गया : जहाँ गौतम बुद्ध को ज्ञान मिला



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 अगस्त 2018
भारत छोड़ो आन्दोलन, द्वितीय विश्वयुद्ध के समय ८ अगस्त १९४२ को आरम्भ किया गया था|
02 अगस्त 2018
31 जुलाई 2018
टीएनपीएससी ने आज आधिकारिक वेबसाइट पर ग्रुप 4 लिखित परिणाम और अंक जारी किए हैं। अब टीएनपीएससी समूह 4 परिणाम में
31 जुलाई 2018
31 जुलाई 2018
महिला परिधान निर्माता टीसीएनएस के शेयरों की शेयर बाजार में शुरुआत धमाकेदार नहीं रही, सोमवार को इसके शेयर 12 फीसदी तक गिर गए|इसका इश्यू प्राइस 716 रुपये था जबकि कंपनी के शेयर 665 रुपये पर बंद हुए।एनएसई पर शेयर अधिकतम 725 रूपए और 628 रुपये के
31 जुलाई 2018
30 जुलाई 2018
शिया बहुल ईरान को अलग-थलग करने के साथ ही उसकी अर्थव्यवस्था पर चोट करने के लिए अमेरिका द्वारा लगाये गये भारी-भरकम प्रतिबंधों का असर दिखने लगा है|अंगरेजी अखबार के मुताबिक आर्थिक संकट से जूझ रहे ईरान की करंसी ल
30 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x