डॉक्टर के पास नहीं जाना पड़ेगा अगर खाते रहेंगे ये चार सब्जियां

02 मार्च 2019   |  सतीश कालरा   (25 बार पढ़ा जा चुका है)

हम लोगो की जिंदगी में सब्जियों का बहुत महत्व है। सब्जियां हम हर रोज ही खाते हैं, सब्जियां न सिर्फ हमारे भोजन का स्वाद बढाती हैं, बल्कि सब्जियां स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभदायक भी होती हैं, हर सब्जी की अपनी एक अलग उपयोगिता होती है,पर इसके बावजूद कुछ सब्जियां हमारी स्वास्थ के लिए बहुत अच्छी होती हैं, जो शरीर को ताकत देती हैं । लेकिन ज्यादातर लोग इनके फायदों के बारे में नही जानते हैं, आज हम आपको ऐसी ही कुछ सब्जियों के बारे में बताने वाले हैं, जिन्हें काफी ताकतवर माना जाता है, और प्रतिदिन इनका सेवन करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है, और हमे जल्दी डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नही पड़ती है । अयिए अब सब्जियों के बारे में बात करते हैं ।


Third party image reference


1- करेला


करेले के लाभ में बहुत कम लोग जानते हैं, करेला स्वाद में भले ही कसैला और कड़वा कोटा हो लेकिन करेले का सेवन करने से शरीर को बहुत लाभ मिलते हैं, इसके सेवन से खून साफ होता है, और हार्ट अटैक की सम्भावना भी काफी कम हो जाती है, इसके साथ ही डायबिटीज के पेशेंट को भी इसका नित्य सेवन करना चाहिए । शुगर वालों के लिए यह रामबाण दवा है ।


Third party image reference


2- मूली


मूली हमारी हेल्थ के लिए किसी वरदान से कम नहीं है, मूली के लगातार सेवन से हमारी बॉडी को बहुत ज्यादा ताकत मिलती है, यदि हर दिन मूली का सेवन किया जाये तो कैंसर होने की सम्भावना काफी कम हो जाती है, मूली पेट के लिए भी बहुत उपयोगी है, यह यकृत को मजबूत कर पाचन शक्ति को बढ़ती है । इस लिए मूली को अपने भोजन में जरूर शामिल करें, आप चाहें तो सलाद के रूप में भी मूली का सेवन कर सकते हैं ।


3- बीन्स


बीन्स में भरपूर मात्रा में आयरन और कई तरह के विटामिन पाए जाते हैं, इनमें कैलशियम भरपूर मात्रा में होता है । यदि बीन्स का हर दिन सेवन किया जाये तो हमारी हड्डियाँ मजबूत बनती हैं, और इसके अलावा और भी कई ऐसी बीमारियाँ हैं जो बीन्स के सेवन से दूर हो जाती हैं और शरीर ताकतवर बनता हैं।


Third party image reference


4. गाजर


गाजर का उपयोग सब्जी के अलावा अनेक व्यंजन बनाने में किया जाता है । जैसे:- गाजर का मुरब्बा, गाजर का आचार, गाजर का हलवा, गाजर का जूस, गाजर का सलाद आदि, गाजर लाल, पीली, अनेक प्रकार की होती है । गाजर स्वस्थ के लिए बहुत लाभ दायक है । ये आंखो कि रोशनी के लिए अति उत्तम है । गाजर में विटामिन ए तथा बिटा कैरोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है । इस लिए यह आंखो की रोशनी को बचाए रखता है व रतौंधी रोग को कम करता है ।

यह भी पढ़े: प्याज के गुण, फायदे व प्याज के रस के लाभ (Benefit of Onion )

अगर नहीं जाना चाहते है डॉक्टर के पास तो इन सब्जियों का प्रयोग करते रहें। आशा करता हूं यह लेख आप को पसंद आया होगा, अगर अच्छा लगा हो तो इसे लाइक व शर जरूर करें ।

धन्यवाद


अगला लेख: जाड़े के दिनों में होंठ फटने लगें तो करें यह उपाय



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 मार्च 2019
Third party image referenceसर्दियों के दिनों में ठंड से बचने के लिए हर कोई प्रयास करता है । ठंड से बचाव के लिए लोग गर्म कपड़े और गर्म खाने का अधिक उपयोग करते है, लेकिन ठंड नही मिटती । लेकिन क्या आपने कभी ऐसी बूटी देखी है, जो आपको सर्दी में भी गर्मी का अहसास कराती हो । और साथ ही कई प्रकार के रोगों को
04 मार्च 2019
19 फरवरी 2019
भारत में चंदन को बहुत ही स्वच्छ व पवित्र माना जाता है, इसकी लकड़ी पीले रंग की और भारी होती है, जो वर्षों से अपनी खुशबू के लिए पहचानी जाती है । चन्दन के पेड़ बहत ही कीमती होते हैं और संसार में कीमत के मामले में यह दूसरे नंबर की महंगी लकड
19 फरवरी 2019
28 फरवरी 2019
विटामिन ए की मनुष्य के शरीर को बहुत आवश्यकता होती है । विटामिन ए को ही कैरोटीन कहा जाता है । शरीर में विटामिन ए की कमी होने से काफी हानि भी हो सकती है । अगर इसकी कमी हो ही जाये तो इसे पूरा करने के दो तरीके है एक खाने पीने की कुछ चीजे और दूसरा विटामिन ए की गोलियां और सप्लीमेंट आदि । शरीर को विटामिन ए
28 फरवरी 2019
24 फरवरी 2019
अक्सर ऐसा होता है, जब आप बेहद जल्दी कुछ गरमागरम खा-पी लेते हैं तो जीभ जल जाती है। ऐसे में व्यक्ति को तकलीफ तो काफी होती है, लेकिन समझ में नहीं आता कि क्या किया जाए। जीभ में जलन होने पर वहां पर दवाई लगाना संभव नहीं होता। ऐसे में काम आते हैं कुछ घरेलू उपाय। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ बेहद आसान उपायों
24 फरवरी 2019
06 मार्च 2019
Third party image referenceआजकल की भागदौड़ की जिंदगी में होंठो का काला पड़ना एक आम समस्या हो गई है, अच्छा सुंदर व्यक्ति भी होठ काले होने के कारण अपनी सुन्दरता को खो देता है । इस लेख में हम आपको होठों के काले होने से बचाव व इसके घरेलू नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं । जिससे आप लोग इनकी देखभाल कर
06 मार्च 2019
24 फरवरी 2019
तुलसी के बारे में आप जानते है । यह बुखार सर्दी, जुकाम, खाँसी मे प्रयोग की जाती है । तुलसी सर्वरोग निवारक, जीवनीय शक्तिवर्धक होती है । इसे वृंदा, वैष्णवी, विष्णु बल्लभा, श्री कृष्ण बल्लभा आदि नामो से जाना जाता है । इस औषधि की देवी की तरह पूजा की जाती है । ये सब जगह पाय
24 फरवरी 2019
24 फरवरी 2019
अधिकतर भारतीय घरों में लोग भोजन स्वाद के लिए करते हैं। अगर सब्जी का स्वाद अच्छा न हो तो लोग अचार का सेवन करते हैं। कभी-कभी अचार का सेवन करना ठीक है, लेकिन बहुत से लोग नियमित रूप से भोजन में अचार खाना पसंद करते हैं। ऐसे लोग भले ही खाने में स्वाद का लुत्फ उठाते हों लेकिन वास्तव में अपनी सेहत के साथ खि
24 फरवरी 2019
06 मार्च 2019
Third party image referenceतुलसी का पौधा पूर्व जन्म मे एक लड़की थी, जिस का नाम वृंदा था, राक्षस कुल में उसका जन्म हुआ था बचपन से ही भगवान विष्णु की भक्त थी । बड़े ही प्रेम से भगवान की सेवा, पूजा किया करती थी । जब वह बड़ी हुई तो उनका विवाह राक्षस कुल में दानव राज जलंधर से हो गया । जलंधर समुद्र से उत्
06 मार्च 2019
21 फरवरी 2019
आँमला उच्चकोटी का रसायन है। इसके बहुत से फायदे हैं, आँवले का उपयोग बुढ़ापा दूर रखने व जवानी बनाए रखने मे सहायक है । यह रक्त से विषैले व हानिकारक पदार्थो को निकालने मे सक्षम है । आंवलो के मौसम मे रोज सुबह व्यायाम या भ्रमण के पश्चात दो पके हुए पुष्ट आँवलों को चाबा कर खाये। अगर कछ आँवला ना खा सके तो आँ
21 फरवरी 2019
19 फरवरी 2019
सामान्यता गिलोय का क्वाथ बुखार एवं अनेक रोगों मे किया जाता है। गिलोय को अमृता, अर्थात कभी ना सूखने वाली बेल कहते है । अंग्रेजी मे इसे tinospora कहते है। गिलोय को अलग अलग भाषा मे गडूची, अमृवल्ली, गूलवेल, मधुपर्णी, कुन्डलिनी आदि नमो से जाना जाता है। गिलोय की बेल जिस पेड़ पर चढ़ती है उस पेड़ के गुण अपन
19 फरवरी 2019
28 फरवरी 2019
Third party image referenceआज कल की जीवन शैली की तेज गति एवं भागदौड़ वाली जिंदगी में सेहत का ध्यान रखना बहुत कठिन हो गया है । जिस कारण से आज हम युवावस्था में ही ब्लड प्रेशर, शुगर, दिल के रोग कोलेस्ट्रोल, गठिया मोटापा जैसे रोगों से ग्रसित होने लगे हैं जो कि पहले व्रद्धावस्था में होते थे, और इसकी सबसे
28 फरवरी 2019
04 मार्च 2019
Third party image referenceआजकल हर व्यक्ति आंखो की रोशनी को लेकर चिंतित है । आवश्यकता से अधिक दिमाग की मेहनत, तेज रोशनी वाली वस्तुओं को ज्यादा निकट से देखना, जरूरत से अधिक मोबाइल का प्रयोग और मस्तिष्क व स्नायु की कमजोरी से भी आंखों की रोशनी जल्दी कम हो जाती है । लेकिन प्रकृति में अपने आप से बहुत सी
04 मार्च 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x